Posted inकथा-कहानी

छींक का पेड़-21 श्रेष्ठ बालमन की कहानियां गुजरात

Story of Tree: सर्दियों की सुबह थी। सूरजदादा आसमान से फूल जैसी कोमल धूप की वर्षा कर रहे थे। रुत्वी घर के बाहर बरामदे में बैठी थी। उसकी टीचर ने एक बार कहा था कि “सूरजदादा की कोमल धूप बहुत अच्छी होती है। उससे विटामिन डी मिलती है और हड्डियाँ मजबूत बनती है। उस दिन […]