googlenews
Story for Kids in Hindi - Grehlakshmi

Story for Kids in Hindi read online and download free pdf, best moral stories in hindi, top 10 moral stories in hindi, read online hindi story, Story for Kids in Hindi

Story for Kids in Hindi ( Moral stories in Hindi)

1. साधु की पुत्री ( Story for Kids in Hindi )

साधु की पुत्री  ( Story for Kids in Hindi )
Story for Kids in Hindi – sadhu ki putri

गंगा नदी के किनारे एक साधु रहते थे। वे न केवल विद्वान थे बल्कि उनके पास जादुई शक्तियाँ भी थीं। एक दिन वे ध्यान में मग्न थे, तभी बाज की चोंच से एक चुहिया छूट कर उनके हाथों में आ गिरी। उसकी छोटी-सी पूँछ व काली चमकीली आँखें थीं।

उन्हें वह बहुत अच्छी लगी पर घर ले जाने से पहले उन्होंने जादुई मंत्रों के प्रयोग से उसे एक लड़की में बदल दिया।

वे उस लड़की को घर ले जाकर पत्नी से बोले- “तुम हमेशा से संतान चाहती थीं न, तो लो आज से यही हमारी पुत्री है, इसे पूरी देखभाल व स्नेह से पालो।

साधु की पत्नी भी अपनी पुत्री को देख प्रसन्न हो उठी। वह उसे राजकुमारी की तरह पालने लगी। साल बीतते गए, नन्ही लड़की एक सुंदर युवती बन गई। जब वह अठारह वर्ष की हुई, तो साधु व उसकी पत्नी उसके लिए वर तलाशने लगे। read more

Story for Kids in Hindi ( Top 10 Moral stories in Hindi)

2. चार मित्र व शिकारी ( Story for Kids in Hindi )

2. चार मित्र व शिकारी ( Story for Kids in Hindi )
Story for Kids in Hindi – 4 mitra va shikari

बहुत समय पहले की बात है। जंगल में चार मित्र रहते थे। उन चारों का स्वभाव काफी अलग थाए किंतु वे पक्के दोस्त थे और किसी एक की मुश्किल में सभी मिलकर मदद करते थे। वे चार मित्र थे- चूहा, कौआ, हिरण व कछुआ।

एक दिन चूहाए कौआ व हिरण पेड़ के नीचे गप्पें मार रहे थे। अचानक चीखने की आवाज सुनाई दी। यह तो उनके मित्र कछुए की आवाज थी। वह शिकारी के जाल में फँस गया था। हिरण ने कहा- ‘अरे! अब हम क्या करेंगे।

चूहे ने कहा- ष्चिंता मत करोए मेरे पास एक योजना है।ष् सारे दोस्तों ने मिल कर सब तय कर लिया। हिरण शिकारी के रास्ते की ओर भागा और उसके देखते ही देखते यूँ गिर गया मानो मर चुका हो। इसी दौरान कौआ वहाँ पहुँचा और हिरण का माँस नोंचने का दिखावा करने लगा। read more

Story for Kids in Hindi ( Best Moral Stories hindi)

3. कौओं की चिंता ( Hindi mortal Story )

3. कौओं की चिंता ( Hindi mortal Story )
Story for Kids in Hindi – kauon ki chinta

बहुत समय पहले की बात हैए छोटे से गाँव के बाहरए बरगद का विशाल पेड़ था। पेड़ पर नर व मादा कौआए अपने बच्चों के साथ रहते थे। कुछ दिन बाद वहाँ एक साँप खोखल में घर बना कर रहने लगा।

जब कौए भोजन की तलाश में निकल जाते, तो साँप उनके घोंसले में से अंडों से निकले छोटे-छोटे बच्चे खा लेता। ऐसा दो बार हुआ। कौओं को बहुत दुख हुआ। मादा कौए ने कहा- हमें यह जगह छोड़ देनी चाहिए क्योंकि जब तक यह साँप यहाँ रहेगा, हमारे बच्चों को जीवित नहीं रहने देगा।

नर कौए को भी बहुत बुरा लग रहा था, पर उसे साँप से लड़ने का कोई उपाय नहीं दिख रहा था। आखिर में उन्होंने अपने बुद्धिमान मित्र गीदड़ की सलाह लेने की सोची।

वे गीदड़ के पास गए और सारी परेशानी बताई। गीदड़ बोलाष्चिंता करके साँप से छुटकारा नहीं मिल सकता। शत्रु को खत्म करने के लिए अपना दिमाग लगाओ।ष् चतुर गीदड़ ने पल-भर सोचा और फिर उनके शत्रु को खत्म करने की शानदार योजना बता दी। read more

4. चतुर खरगोश (Hindi mortal Story)

4. चतुर खरगोश (Hindi mortal Story)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 12

एक दिन सभी जानवर उसके पास एक सुझाव लेकर गए। उनमें से सबसे चालाक लोमड़ी ने प्यार से कहा- महाराज! आप हमारे राजा हैं। हम आपके सेवक हैं। हमारा एक सुझाव है। आप बूढ़े और कमजोर हो रहे हैंए तो आप घर पर क्यों नहीं रहते।

हम वादा करते हैं कि एक जानवर रोज़ आपका भोजन बनने के लिए पहुंच जाएगा। अब आपको और शिकार नहीं करना पड़ेगा। हम भी चैन से रहेंगे। read more…

5. बूढ़ा गिद्ध (Moral stories in Hindi)

5. बूढ़ा गिद्ध (Moral stories in Hindi)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 13

गंगा नदी के किनारे एक बहुत बड़ा पेड़ था। इस पेड़ पर बहुत से पक्षी रहा करते थे। एक दिन एक बूढ़ा गिद्ध वहाँ आया और पक्षियों से बोला कि “क्या वह इस वृक्ष के खोल में रह सकता है।” सभी पक्षियों ने बूढ़े गिद्ध की आयु को देखते हुए, उसे वहाँ रहने की इजाजत दे दी। वे अपने हिस्से के भोजन में से भी कुछ भोजन उसे खाने को दे देते read more

6. नादान गधा (Moral stories in Hindi for Kids)

6. नादान गधा (Moral stories in Hindi for Kids)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 14

किसी गाँव में एक धोबी रहता था। उसने घर की रखवाली के लिए एक कुत्ता और रोज़ के काम के लिए गधा रखा हुआ था। वह गधे की पीठ पर काफी बोझ लादा करता।

एक रात धोबी घर में चैन की नींद सो रहा थाए तभी एक चोर आ पहुँचा। धोबी का गधा और कुत्ता आँगन में बंधे थेए उन्होंने चोर को अंदर आते देखाए पर कुत्ते ने मालिक को चौकन्ना नहीं किया। गधे ने उससे कहा- ष्मित्र! यह तुम्हारा फर्ज बनता है कि तुम मालिक को चोर के आने की खबर दो। तुम उसे उठाते क्यों नहीं read more

7. पक्षी व मूर्ख बंदर (Story for Kids in Hindi)

7. पक्षी व मूर्ख बंदर (Story for Kids in Hindi)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 15

एक नदी के किनारे विशाल वृक्ष था। इसकी शाखाओं पर अनेक पक्षी घोंसले बना कर रहते थे। वृक्ष की घनी शाखाएँ उन्हें वर्षा की बूंदों व सूरज की धूप से सुरक्षित रखती थीं।

एक दिन आकाश में बादल छा गए व देखते ही देखते जोरों से वर्षा होने लगी। पक्षी घोंसलों में जा छिपे। पेड़ के आस-पास खेल रहे कुछ बंदर पानी से भीग गए और पेड़ के नीचे बैठे सब ठंड से काँपने लगे। read more

8. बेवकुफ गधा (Story for Kids in Hindi)

8. बेवकुफ गधा (Story for Kids in Hindi)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 16

बहुत समय पहले की बात हैए किसी शहर में एक धोबी रहता था। वह काफी स्वार्थी और निर्दयी था। उसके पास एक गधा थाए जो एक स्थान से दूसरे स्थान तक कपड़े लाद कर ले जाता था। गधा दिन-रात कड़ी मेहनत करता पर मालिक उसे कभी भर-पेट खाना नहीं देता था। नतीजतन गधा दिन ब दिन कमजोर होता गया।

अब धोबी को चिंता होने लगीए पर वह गधे की खुराक पर पैसे खर्च नहीं करना चाहता था। उसने गधे को खाना खिलाने का नया तरीका खोज लिया। वह कहीं से चीते की खाल ले आया और उसे गधे के आस-पास लपेटकर उसे पड़ोसियों के खेत में चरने के लिए छोड़ दिया। read more…

9. लोभी गीदड़ ( best hindi moral story)

9. लोभी गीदड़ ( best hindi moral story)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 17

बहुत समय पहले की बात है, किसी जंगल में एक शिकारी रहता था। वह अपने परिवार के साथ मज़े से जी रहा था। एक दिन वह हिरण के शिकार के लिए घर से निकला।

जल्द ही उसे एक हिरण दिखा और उसने उसे मार गिराया। उसने हिरण को कंधों पर उठाया और खुशी-खुशी घर की तरफ चल दिया।

वापसी पर उसे एक विशाल जंगली भैंसा दिखा। उसने झट से हिरण को कंधे से उतारा व भैंसे पर तीर चला दिया। read more…

10. शरारती बंदर (child story in hindi)

10. शरारती बंदर (child story in hindi)
Story for Kids in Hindi - बच्चो की श्रेष्ठ हिंदी कहानियां 18

एक बार किसी मंदिर में निर्माण कार्य हो रहा था। पास ही दो बढ़ई काम कर रहे थे। वे आरी से लकड़ी का बड़ा 4 लट्ठा चीरने की कोशिश कर रहे थे।

दोपहर को खाने का समय हआ, तो वे अधुरा काम छोड़ कर खाना खाने के लिए उठ गए, पर उन्होंने जाने से पहले लट्ठे के चीरे में एक लंबी कील फँसा दी ताकि वापस आकर उसे चीरने में मुश्किल न हो।

मंदिर के बरामदे के साथ वाली दीवार पर बंदरों का एक दल रहता था। ज्यों ही बढ़ई वहाँ से हटे, वहाँ कुछ बंदर आ पहुँचे और लट्ठों पर उछल-उछल कर खेलने लगे।

उनमें से एक बंदर काफी नटखट और धृष्ट था। उसका ध्यान लठे से निकली लंबी कील पर पड़ा। वह एक भी क्षण सोचे बिना लकड़ी के लठे पर बैठ गया और कील निकालने लगा। उसने पूरा जोर लगा कर कील तो खींच ली, पर उसकी पूँछ लट्ठे के दोनों हिस्सों में फंस गई। वह दर्द से चिल्लाया और अपनी पूँछ निकालने की भरपूर कोशिश करने लगा पर जितना ज्यादा निकालने की कोशिश करता, उतना ही तेज दर्द होता। read more

hindi story for kids pdf” “short hindi story for kids” “short story in hindi” “moral stories in hindi” “funny story for kids in hindi” “stories in hindi” “top 10 moral stories in hindi” “long story for kids in hindi”

Leave a comment