Posted inकथा-कहानी

इस्तकबाल

Hindi Story: सभी लोग चले गए, मैं चिता और अपने जीवन के अंत को देखने के लिए वहीं रुक गई। फिर अचानक भयंकर तूफान से न जाने कब चिता में से एक बड़ी लकड़ी का टुकड़ा उछल कर मुझ पर आ गिरा और उसने मुझे भी जला दिया। अमित का दिया हुआ आखिरी जख्म समझकर […]