health Risks
त्यौहारों के दौरान होने वाले स्वास्थ्य रिस्क और इनसे आप कैसे बच सकते हैं?

हेल्थ रिस्क (Health Risk) यानी त्योहारों के दौरान ऐसी कोई घटना घट जाए जिसकी वजह से आपका स्वास्थ्य गड़बड़ हो जाए । जी हां हम बात कर रहे हैं त्योहारों के समय घटने वाली कुछ घटनाओं की। दरअसल इन दिनों लोगों में उत्साह देखते ही बनता है। लेकिन कई बार  इस उत्साह और जोश की वजह से लोग जाने अनजाने बहुत सी गलतियां भी कर बैठते हैं। जो कि किसी दुर्घटना का कारण बन जाती हैं। ऐसे में आपकी हेल्थ रिस्क में आ जाती है। 

देखा जाए तो सभी भारतीय त्योहारों के दौरान उत्साह और जोश का माहौल होता है। सब लोग बहुत खुश होते हैं। इस स्थिति में मेहमान घर आते हैं या हम भी किसी के घर या बाजार आदि जाते हैं। लेकिन इन सब वजह से हमारा डेली रूटीन बिगड़ जाता है। यही नहीं इसके अलावा भी हमें कुछ स्वास्थ्य समस्या होने का रिस्क बढ़ जाता है। 

अगले कुछ दिनों में ही त्यौहारों का सीजन भारत में शुरू हो जाने वाला है। बहुत से त्यौहार जैसे दशहरा, दिवाली, भाई दूज आदि आने वाले हैं। त्योहार इस बार अकेले नहीं बल्कि कोविड 19 भी साथ है। हालांकि अब केस कम होने लगे हैं लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि आप लापरवाही बरतेंगे। आपको घर पर और बाहर भी अपना और अपने परिवार की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखना चाहिए।

एक्सीडेंट का रिस्क 

एक स्थान से दूसरे स्थान पर आने जाने में एक्सीडेंट का रिस्क

त्योहारों में हम जब एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते हैं, तो अधिक ट्रैफिक के कारण एक्सीडेंट होने का खतरा बढ़ जाता है। बच्चों को यह खतरा सबसे अधिक रहता है। इसलिए बच्चों को सड़क पर अकेले न जाने दें।

डिहाइड्रेशन का रिस्क  

डिहाइड्रेशन का रिस्क

त्योहारों में मेहमानों के इकट्ठा होने से हम उनके साथ एंजॉय करने में लगे रहते हैं । बाहर भी निकलते हैं तो पानी आदि नहीं पीते हैं। याद रखिए कि सूर्य अभी भी बहुत तेज है। गर्मी अभी कम नहीं हुई है इसलिए आप खुद को अच्छे तरीके से हाइड्रेट रखें।

कोविड फैलने का हेल्थ रिस्क 

कोविड फैलने का हेल्थ रिस्क

अगर आप बाजार में सामान आदि खरीदने जाती हैं और नियमों का पालन नहीं करते हैं तो आपको कोविड होने का रिस्क भी बढ़ सकता है। इसलिए आपको भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए और अपने घर पर भी अधिक लोगों को नहीं बुलाना चाहिए।

ओवर इटिंग का रिस्क 

ओवर ईटिंग करने का हेल्थ रिस्क

त्योहारों पर घर में मिठाइयों और स्नैक्स की तो कोई कमी नहीं रहती है। घर में भरपूर मात्रा में सामान होता है इसलिए हम अपनी डाइटिंग और हेल्दी आदतों को कुछ दिनों के लिए छोड़कर ओवर इटिंग कर लेते हैं। जिसके कारण आपका मोटापा और शुगर लेवल आदि बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है।

जलन और चोट आदि का हेल्थ रिस्क 

जलन और चोट आदि का हेल्थ रिस्क

आगे दिवाली और दशहरा जैसे त्यौहार आ रहे हैं जिसमें बच्चों द्वारा बम, पटाकों का प्रयोग किया जायेगा और हो सकता है कुछ खतरनाक फायर क्रैकर्स का प्रयोग करते समय उनकी आंख या स्किन पर किसी तरह की चोट लग जाए और वह जल जाएं।

ऐसे बरते सावधानी

अगर कहीं जा रहे हैं तो फर्स्ट एड किट साथ रखें

अगर आप अपने रिश्तेदारों के घर जा रहे हैं तो आवश्यक दवाइयां और पट्टी आदि का सामान अपने साथ रखें ताकि आप इमरजेंसी आदि में इसका प्रयोग कर सकें।

अपने आप को हाइड्रेटेड रखें

अपने आप को हाइड्रेटेड रखें

अगर आप बाहर निकल रहे हैं तो दो तीन पानी की बॉटल साथ रखें और साथ में ही अधिक धूप में सन स्क्रीन का प्रयोग करना भी बिल्कुल न भूलें।

बच्चों को बम पटाखों से दूर रखें

बच्चों को बम पटाखों का प्रयोग न करने दें

अपने बच्चों को बड़े और हानिकारक बम पटाकों आदि से दूर रखें। अगर वह चाहें तो फुलझड़ी आदि का प्रयोग कर सकते हैं और ऐसा करते समय भी आप उनके साथ रहें ताकि वह सुरक्षित रहें।

कोविड नियमों का पालन करें

कोविड नियमों का पालन करें

आपको सभी कोविड सुरक्षा नियमों जैसे भीड़ से दूरी बनाना, मास्क लगाना और समय समय पर अपने हाथ सैनिटाइज करना का पालन जरूर करना चाहिए।

त्यौहारों पर आपको और अधिक जागरूक बन जाना चाहिए और अपनी व अपने परिवार की सेहत का पूरा ख्याल रखना चाहिए।

Leave a comment