googlenews
Fatigue Solution
Get Rid of Fatigue

Fatigue Solution: नींद पूरी लेने के बावजूद कई लोग दिन भर थकान महसूस करते हैं। थकावट या कमजोरी के कारण ऐसे लोग आलस या सुस्ती का अनुभव करते हैं। कोई काम करने, बाहर जाने की भी हिम्मत नहीं होती। अगर करते भी हैं तो उन्हें बहुत जल्दी थक जाते हैं। इसका असर उनकी रोजमर्रा की जिंदगी पर भी पड़ने लगते हैं। काम करने का मन नहीं करता, कंसंट्रेशन कम होने लगता है।

जल्दी थकान के क्या कारण हो सकते है

दिल्ली की मणिपाल अस्पताल की जनरल फिजीशियन डॉ चारू गोयल सचदेव का मानना है कि हमें दिन भर कई कारणों से थकान महसूस होती है–
आरामपरस्त जीवनशैली के कारण आलस या सुस्ती का बने रहना
दिनचर्या नियमित न होना यानी ठीक समय पर सोने और जागने में कमी होना
सही समय पर पौष्टिक और संतुलित आहार का सेवन न करना
शरीर में पानी की कमी होना
कैफीन का अधिक सेवन करना
शरीर का मेटाबॉलिज्म गड़बड़ाना यानी खाना पचाने की पाचन क्रिया ज्यादा सक्रिय होने से मांसपेशियों में थकावट से कमजोरी आना
शरीर में आयरन और विटामिन बी 12 की कमी से एनीमिया या खून में हीमोग्लोबिन की कमी होना
थायरॉयड हार्मोन की कमी होना
महिलाओं में मासिकधर्म चक्र में गड़बड़ होना
थायरॉयड, डायबिटीजए टीबीए लिवरए किडनी जैसी गंभीर बीमारियों का संकेत भी हो सकता है
डिप्रेशनए एंगजाइटी जैसी मानसिक समस्याएं होना

Fatigue Solution
Causes of Tiredness

क्या करना चाहिए

जरूरी है कि थकावट ज्यादा महसूस होने या इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और यथाशीघ्र डॉक्टर को कंसल्ट करना चाहिए।

थकावट का इलाज क्या है

सबसे पहले ये जानना जरूरी होता है कि थकान के पीछे क्या कारण हैं। इसके लिए डॉक्टर कई तरह के ब्लड टेस्ट कराते हैं जैसे- हीमोग्लोबिन, थायरॉयड फंक्शन टेस्ट, लिवर ओर किडनी फंक्शन टेस्ट, ब्लड शूगर , विटामिन डी और बी 12 लेवल का टेस्ट, चेस्ट एक्स-रे ।

हीमोग्लोबिन कम होना या शरीर में विटामिन और आयरन की कमी होने पर मरीज को इनके सप्लीमेंट दिए जाते हैं। थायरॉयड हार्मोन की गड़बड़ी, डायबिटीज की समस्या दूर करने के लिए मेडिसिन दी जाती है।

Fatigue Solution
Take care of some things in your daily routine so that you feel fresh and get tired

कैसे रखें अपना ध्यान

  1. अपनी दिनचर्या में कुछ चीजों का ध्यान रखें ताकि आप फ्रेश फील करें और थकान दूर हों.
  2. समय पर खाना खाए, खासकर ब्रेकफास्ट अवायड न करें। दिन भर तीन टाइम भरपेट भोजन न करके 5-6 बार अल्प और पौषक तत्वों से भरपूर आहार लेना बेहतर है।
  3. अपने आहार का पूरा ध्यान रखें। जंक या फास्ट फूड की बजाय पौषक तत्वों से भरपूर आहार लें।
  4. अपने खाने मे रेनबो डाइट शामिल करें। आहार में मौसमी फल-सब्जियां ज्यादा से ज्यादा लें। खाने में शूगर, रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट या ऑयली खाद्य पदार्थों के बजाय कैल्शियम (डेरी खाद्य पदार्थ, अंडा , मछली) और आयरनयुक्त (पालक, चुकुंदर, सरसों, अनारद्ए) प्रोटीन रिच (दालें, सोयाबीन, अंडा, मीट) आहार का सेवन करें। ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें। खाने में शूगर या कार्बोहाइड्रेट ज्यादा लेने से नींद ज्यादा आती है। जबकि प्रोटीन रिच डाइट लेने से ब्लड में शूगर धीरे-धीरे रिलीज होता है और आप ज्यादा एक्टिव रहते हैं।
  5. चायए कॉफी, एल्कोहल, सिगरेट से परहेज रखना बेहतर है। क्यांेकि लगातार काम करने की स्थिति में दिमाग थक जाता है और फ्रेश फील करने के लिए चाय-कॉफी पीना एनर्जेटिक तो फील कराती है, लेकिन ज्यादा कैफीन का सेवन सुस्ती की तरफ ले जाता है।
  6. काम और आराम में संतुलन बनाएं। लगातार एक जैसा काम करते रहने से थकान के साथ बोरियत भी महसूस होती है। इससे बचने के लिए कोई भी काम लगातार न करें। टुकड़ों में बांट लें और बीच-बीच में छोटे-छोटे ब्रेक लेकर खुद को फ्रेश करें।
  7. स्क्रीन टाइम कम करें। इसके बजाय शारीरिक-मानसिक थकावट दूर करने के लिए हल्का संगीत सुनें। संगीत आपको पॉजीटिव उर्जा देगा और मूड को बेहतर बना देगा जिससे आप तरोताजा महसूस करेंगे ओर नया काम करने के लिए सक्रिय हो सकेंगे।
  8. अपने को फिट रखने के लिए सुबह या दिन में कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज, वॉक, योगा जरूर करें। सुबह की ताजी हवा सुस्ती दूर करने में मददगार होगी। वैज्ञानिक मानते हैं कि बहुत ज्यादा थकान रहने वाले लोगों को एक्सरसाइज करने से थकान का लेवल कम हो जाता है।
  9. कुछ समय मेंटल रिलेक्सेशन के लिए जरूर निकालें। प्रकृति के साथ कुछ समय बिताएं, बच्चों के साथ समय बिताए
  10. 7-8 घंटे की भरपूर नींद लेनी चाहिए। भरपूर नींद लेने से ब्रेन कई काम करता है जैसे- हार्मोन्स बनाता है जो आपके मेटाबॉलिज्म और एनर्जी लेवल को रेगुलेट करते हैं जिससे थकावट कम होती है। अगर आप गहरी नींद लेते हैं तभी आपको समुचित एनर्जी, मेटाबॉलिज्म, मेमोरी रेस्ट मिलता है।

Leave a comment