Relationship

हर रिश्ते का अपना एक सच होता है और एक सीमा भी होती है लेकिन यह भी उतना ही बड़ा सच है कि हर रिश्ते से हमें कुछ ना कुछ सीखने को मिलता है।कुछ दिनों पहले टीवी के सुपरस्टार सिद्धार्थ शुक्ला की मृत्यु ने सबको चौंका दिया! उनके जाने के बाद न सिर्फ इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री बल्कि उनके फैंस, फैमिली और दोस्त भी सदमे में हैं। सिद्धार्थ के जाने के बाद अक्सर जिसका नाम लिया जाता है वह है बिग बॉस 13 की उनकी साथी  शहनाज गिल। शहनाज गिल और सिद्धार्थ शुक्ला के बीच के बॉन्ड ने लोगों को कई तरह के फ्रेंडशिप गोल दिए हैं। इस शो को बहुत ज्यादा टीआरपी मिली और आज तक शहनाज और सिद्धार्थ की दोस्ती, उनके बीच के जुड़ाव और बंधन को याद किया जाता है। शो में सिद्धार्थ विजेता रहे लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि शहनाज को भी उतनी ही ज्यादा प्रसिद्धि मिली। आप इस आर्टिकल में हम यह जानेंगे कि सिद्धार्थ शुक्ला और शहनाज गिल के रिश्ते से हम क्या सीख सकते हैं।  

एक दूसरे का बचाव 

एक सच्चा और अच्छा दोस्त वह होता है, जो हर मुसीबत हर परेशानी, हर सुख और दुख में आपके साथ हो और यह साथ सिद्धार्थ और शहनाज की दोस्ती में उनका बचाव करते हुए दिखे हैं। वह हमेशा शहनाज के साथ रहे हैं और एक अभिभावक की तरह उनका ख्याल रखा है। उनके बीच दोस्ती और समर्पण की यह भावना इतनी जबरदस्त रही है कि उसे देख कर आज के लोगों को जलन हो जाए। यही वजह रही कि एक बार उन्होंने ट्वीट में यह लिखा कि मैं जब दोस्ती करता हूं तो महंगे सस्ते की फिक्र नहीं करता। तो अब आपको यह सोचने की जरूरत है जब आपके साथ कुछ विपरीत हो रहा हो तो आपके कितने दोस्त आपके साथ खड़े रहेंगे। 

सपोर्ट सिस्टम 

शहनाज़ हमेशा इस बात को लेकर के बहुत मुखर रही हैं कि इंग्लिश बोलने में उन्हें थोड़ी समस्या होती है। एक बार एक ब्रांड के विज्ञापन में उन्हें इंग्लिश में कुछ लाइंस बोलने की जो उन्होंने बोला भी और सिद्धार्थ ने हंसकर मुस्कुरा कर उनको बढ़ावा दिया। यहां सिद्धार्थ और शहनाज की दोस्ती से हमें यह सीखने को मिलता है कि आप अपने दोस्त का मजाक उड़ाने की बजाय उसे प्रोत्साहित करें ताकि वह अपनी जिंदगी में और ज्यादा अच्छा कर पाए। अन्य लोगों के सामने उसके उसकी कोशिश को पहचानें, प्यार दें और उसका उत्साह बढ़ाएं। साथ ही उसके अंदर आत्मविश्वास लेकर आएं। यही एक सच्ची दोस्ती और एक गहरा जुड़ाव है। 

किसी भी समय उसका हाथ आपके साथ

आप अपने फोन को देखिए, अपनी याददाश्त को खंगालिये और याद कीजिए कि बिना हिचक के आप किसी भी समय कितने लोगों को फोन कर सकती हैं। भले ही आपको कई लोगों ने कहा हो कि आप मुझे कभी भी फोन कर लेना लेकिन आप भी यह सच जानती हैं कि यह सिर्फ शब्द है सच्चाई नहीं। शहनाज को सिद्धार्थ मिले और उनकी खोज खत्म हुई। बिग बॉस 13 के एक वीडियो में सिद्धार्थ शहनाज़ से यह बोलते हुए देखे गए कि वह उन्हें कभी भी फोन कर सकती हैं। उन्होंने कहा था तुम्हारी लाइफ में जब भी तुम्हें कोई प्रॉब्लम आए तो मुझे फोन कर सकती हो, भले ही तुम 70 साल की हो जाओ और अगर मैं तब तक जिंदा रहूं तो तुम मुझे कॉल कर सकती हो। यह लाइन इस समय सुनने में बड़ी दुखदाई लग रही है लेकिन सच है। 

इगो की लाइफ में कोई जगह नहीं

ऐसा नहीं है कि सिद्धार्थ और शहनाज लड़ते नहीं थे। शो पर अक्सर दोनों को लड़ते हुए देखा गया है लेकिन यह भी उतना ही बड़ा सच है कि झगड़े के कुछ पल बाद ही दोनों आपस में मिल जाते थे और अपनी दोस्ती को खराब नहीं होने देते थे। आज के लोगों में इगो कूट- कूट कर भरा हुआ है, जो उनके रिश्ते को खराब करता है। लेकिन सिद्धार्थ और शहनाज दोनों इस मामले में बहुत ही मजबूत रहे हैं। यह उनकी दोस्ती का एक ऐसा पक्ष है, जिसे हम सबको सीखने, समझने और अपनाने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें –

जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना

टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने के कुछ प्राकृतिक तरीके

 

Leave a comment