जब शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाए
जब शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाए

अगर आपके शरीर में इस यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो आप को एक प्रकार का गठिया हो सकता है जिसे गाउट कहा जाता है। यूरिक एसिड जोड़ों में क्रिस्टल के रूप में इकठ्ठा होने लगता है जिससे आपके पैरों में अलग-अलग भागों में अधिक सूजन और गंभीरता देखने को मिल सकती है।

अगर आप अपने लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करते हैं और हेल्दी रहने की कोशिश करते हैं तो आपको uric acid treatment करने के लिए किसी तरह की दवाइयों की भी आवश्यकता नहीं होगी।

प्यूरीन युक्त चीजों को कहें न

प्यूरिन ब्रेक डाउन हो कर यूरिक एसिड का रूप ले लेता है। कुछ खाद्य पदार्थों में ये प्राकृतिक रूप से मौजूद होता है। आपको ट्राउट, टूना जैसी मछलियों का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप अधिक शराब पीते हैं तो उसका सेवन भी बंद कर दें। शुगर से युक्त चीजें अधिक न खाएं। इसकी बजाए ऐसी चीजें खाएं जिनमें प्यूरिन की मात्रा कम होती है जैसे लो फैट डेयरी प्रोडक्टस, अधिकतर फल और सब्जियां।

शरीर का वजन बनाएं रखें

अधिक मोटापे से भी गाउट होने का रिस्क बढ़ता है। इससे आपके शरीर में इस एसिड का लेवल भी बढ़ता है। मोटापे से व्यक्ति का मेटाबॉलिक सिंड्रोम होने का रिस्क बढ़ता है, जिससे बीपी हाई और कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियां होने की संभावना होती है। अगर आपको यह सब स्थितियां होंगी तो आपके शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ने का रिस्क और अधिक बढ़ जायेगा इसलिए अपने वजन को जरूर संतुलित रखने की कोशिश करें।

इंसुलिन लेवल संतुलित करें

अगर आपको डायबिटीज है तो आपके शरीर में इंसुलिन लेवल अधिक होगा। इंसुलिन के अधिक होने के कारण शरीर में इसका लेवल भी बढ़ना शुरू हो जाता है। अगर आपकी ब्लड शुगर हर समय हाई रहती है तो आपको इसे नियंत्रित करना चाहिए नहीं तो आपको डायबिटीज के साथ साथ गाउट होने का भी खतरा बढ़ सकता है।

अधिक पानी पिएं

अगर आप अपने आप को हाइड्रेटेड रखेंगे तो इससे आपके शरीर को इस से राहत मिल सकती है। आप जितना अधिक पानी पिएंगे, आपकी किडनी उतनी तेजी से इस को शरीर से बाहर निकालने में सफल होगी। अगर आप समय समय पर पानी पीना भूल जाते हैं तो आप अपने फोन में अलार्म लगाकर रखें ताकि आप हर घंटे में पानी पी सकें।

अल्कोहल का सेवन बंद कर दें

अगर आप शराब पीते हैं तो इससे आपका शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है। शरीर के डिहाइड्रेट हो जाने के कारण भी यूरिक एसिड लेवल बढ़ सकता है। इससे आपकी किडनी वेस्ट पदार्थों को बाहर भी नहीं निकाल पाती है। कुछ प्रकार की अल्कोहल ड्रिंक्स में प्यूरिन का लेवल भी अधिक होता है जिससे आपके शरीर में इसका लेवल बढ़ सकता है।

फाइबर शामिल करें 

अगर आप अधिक फाइबर खाना शुरू कर देते हैं तो इससे भी आपके शरीर को यूरिक एसिड से निजात मिलने में मदद मिलती है। फाइबर से इन्सुलिन लेवल संतुलित होने में भी मदद मिलती है। इसलिए आप ओट्स, नट्स, जौ जैसी चीजों को और होल ग्रेन को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

आप अगर इसे कम करना चाहते हैं तो कॉफी का सेवन भी कर सकते है। इसके साथ ही आपको दवाइयां भी समय से लेनी होंगी और स्ट्रेस भी कम करनी चाहिए ताकि आपके शरीर पर यूरिक एसिड का अधिक प्रभाव न पड़ सके।

Leave a comment