Moringa Side Effects
Moringa Side Effects

Moringa For Blood Sugar: मोरिंगा की पत्तियां में ब्लड शुगर को कम करने वाले इंसुलिन जैसे गुण होते हैं। इसे आप अपनी डेली रुटीन में शामिल कर सकते हैं। इसके अंदर फाइबर होता है। मधुमेह से पीड़ित लोग इसे डाइट में शामिल करके अपने ब्लड शुगर लेवल में सुधार ला सकते हैं। इसे भले ही डाइट में शामिल किया जा सकता है, लेकिन इसके साथ ही आपको एक्सरसाइज और अपने लाइफस्टाइल में भी बदलाव करना चाहिए।

कई पौधों में प्राकृतिक यौगिक और पोषक तत्व होते हैं, जो आपके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं। उनमें से मोरिंगा की पत्तियां भी एक हैं, जिन्हें ड्रमस्टिक की पत्तियां भी कहा जाता है। 

एनिमल टेस्ट में पाया गया कि ये प्रीडायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज में ये पत्ते काफी असरदार हैं। हालांकि इसमें अभी मानव परीक्षण की आवश्यकता है। 

मोरिंगा और ब्लड शुगर

ऐसा माना जाता है कि मोरिंगा मांसपेशियों और लीवर द्वारा इंसुलिन उत्पादन, संवेदनशीलता और ग्लूकोज अवशोषण को बढ़ाता है और छोटी आंतों द्वारा अवशोषित ग्लूकोज की मात्रा को कम करता है।

यह एक मिथक है कि मोरिंगा एक इंसुलिन पौधा है। आपको बता दें कि इंसुलिन का उत्पादन पौधों द्वारा नहीं किया जा सकता है। यह केवल जानवरों और मनुष्यों के शरीर में ही उत्पादित किया जा सकता है। अब तक ऐसी कोई रिसर्च नहीं हुई है, जिससे ये पता चले कि  पौधों मे इंसुलिन होता है। 

कैसे करें सेवन

मोरिंगा की पत्तियों का सेवन कच्चा ही करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसे पकाने से इसके सभी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इससे इसके अंदर का फाइबर भी कम हो जाता है। जिसकी वजह से इसे पचा पाना भी मुश्किल हो जाता है। 

यह भी देखें-5 लग्जरी घरों के मालिक हैं अक्षय कुमार, विदेशों में भी है करोड़ों प्रॉपटी: Akshay Kumar House

मोरिंगा की पत्तियों के फायदे

ये पत्तियां अपने औषधीय गुणों के लिए जानी जाती है। इसकी एक कप पत्तियां, जो लगभग 20 ग्राम होती हैं, उनमें प्रोटीन, विटामिन ए, बी, सी और ई, फोलेट, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन और मैग्नीशियम सहित खनिज होते हैं।