हर कोई हेल्दी लाइफ जीना चाहता है  लेकिन हमारी जिंदगी कितने पलों की है, इस बात का अंदाज़ा लगाना तो बेहद मुश्किल है। लेकिन कुछ खास तरीकों से हम अपने फिटनेास लेवल का पता आसानी से लगा सकते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि रोजाना अगर आप कुछ ऐक्टिविटीज आसानी से कर पाते हैं, तो इसका मतलब है कि आप हेल्दी हैं। आइए जानते है वो खास एक्टिविटिज़ं

आयरन की कमी

रेड ब्लड सेल्स को शरीर के विभिन्न हिस्सों में पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए आयरन की आवश्यकता होती है। आयरन के लेवल में गिरावट से एनीमिया हो सकता है। यह एक ऐसी स्थिति है जो हेल्दी रेड ब्लड सेल्स की संख्या को कम कर देती है जिससे सेल्स और टिशूओं को ऑक्सीजन की आपूर्ति अवरुद्ध हो जाती है।

टेस्ट अपने नाखूनोंए त्वचा और मसूड़ों की जांच करें।

नतीजा आपके शरीर में आयरन की कमी होने पर अक्सर यह अंग हल्के या पीले रंग के दिखाई देते हैं। अगर आपको ऐसा कुछ भी दिखाई देता है तो डॉक्टर से परामर्श लें और ब्लड टेस्ट से आयरन लेवल की पुष्टि करें।

आंखों की देखभाल

एक तिनके जितनी छोटी कोई भी चीज आपकी आंखों के लिए परेशानी का कारण बन सकती है जिससे आपके आसण्पास की चीजों को सामान्य रूप से देखना मुश्किल हो जाता है। इसलिए जरूरी है कि उनके स्वास्थ्य पर नजर रखी जाए। अगर आपको बहुत ज्यादा सिरदर्द हो रहा हैए तो आपको जल्द से जल्द यह टेस्ट करना चाहिए। 

टेस्ट कार से लगभग 10 फीट की दूरी पर खड़ी हों और लाइसेंस प्लेट को पढ़ने का प्रयास करें। 

नतीजा अगर आप अपनी आंखों पर दबाव डाले बिना सभी संख्याएं और अक्षर पढ़ सकती हैंए तो आपको चिंता करने की कोई बात नहीं है। लेकिनए अगर आपको बिना तनाव के प्लेट या उसके कुछ हिस्सों को पढ़ना मुश्किल लगता है, तो आंखों के टेस्ट के लिए अपने नजदीकी नेत्र रोग विशेषज्ञ के पास जाना सबसे अच्छा रहता है।

कमरे में दूर बैठकर दायीं आंख बंद करके दरवाजे या खिड़की की पूरी फ्रेम को 30 सेकंड तक देखना है। इसके बाद बायीं आंख बंद करके खिड़की और दरवाजे की फ्रेम को 30 सेकंड तक देखना है। अगर दोनों आंखों की दृष्टि में कोई अंतर आता हैए धुंधलाए अस्पष्ट दिखाई देता है तो यह आंखों की डॉक्टरी जांच का समय है।

हेयर पुल टेक्नीक

आपकी सेहत कैसी है इसका पता बालों से भी पता चलता है। अगर आपका हेयरफॉल ज्यादा हो रहा है तो इसका मतलब है कि आपका हॉर्मोन लेवल गड़बड़ा रहा है। इस टेस्ट के लिए दो.तीन बालों को पकड़ें और उन्हें हल्का सा पुल करें। अगर इस प्रेशर से बाल टूट जाते हैं तो आपको एक बार डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए।

पैर के अंगूठे को छुएं

फर्श पर बैठ जाएं, पैर सीधे करें और अपने पैर का अंगूठा छूने की कोशिश करें। अगर आप ऐसा नहीं कर पा रहे इसका मतलब है कि आपको कार्डियोवस्कुलर प्रॉब्लम होने का रिस्क है।

वॉटर रिटेंशन

शरीर में वॉटर रिटेंशन को किसी हिस्से में पानी के जमा होने कारण सूजन के रूप में देखा जाता है। यह आमतौर पर टखनों और पैरों में देखा जाता है। वॉटर रिटेंशन एक गंभीर स्वास्थ्य स्थिति का संकेत हो सकता हैए इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि लक्षणों को नजरअंदाज न करें।आप एक साधारण प्रेस टेस्ट के माध्यम से जान सकती हैं कि आपके शरीर में वॉटर रिटेंशन है या नहीं। रोशनी वाली जगह पर बैठें और अपने अंगूठे का उपयोग करके अपने पैरों पर फ्लैश को 3 या 4 हिस्से में दबाएं। कुछ दबाव डालना सुनिश्चित करें। अंगूठा हटाएं। नतीजा अपनी तर्जनी के साथ उन हिस्से को महसूस करें जहां आपका अंगूठा रखा गया था। यदि आप उन हिस्से में एक छोटा सा अवसाद महसूस करते हैंए तो यह वॉटर रिटेंशन का संकेत है।

वॉक टेस्ट

अगर आप 500 किलोमीटर  की दूरी 6 मिनट में पूरी कर पाते हैं तो आप फिट हैं। लेकिन अगर आप 6 मिनट में 200 मीटर पर भी न चल पाएं तो आप अनफिट हैं।

फ्लेक्सिबिलटी टेस्ट

सीधे लेट जाइए अब अपने पैरों को ऊपर उठाए। अगर आप अपने पैरों को 90 डिग्री के कोण पर उठा पाते हैं तो आपके शरीर का लचीलापन काफी है।

वरटिकल जम्प टेस्ट

जम्प करने पर आप कितनी ऊंचाई पर पहुंच पाते हैं इससे आपके फिटनेस का अंदाजा लगाया जा सकता है। पुरुषों के लिए 28 इंच और महिलाओं के लिए 24 इंच का जम्प बहुत अच्छा माना जाता है। 

थायराइड की जांच के लिए

अपना एक हाथ सामने की ओर फैलाएं। हथेली को नीचे की ओर करें। इस पर एक कागज का टुकड़ा रखें। अगर कागज हिलता है या कांपता हुआ नजर आता है तो यह थायराइड से जुड़ी समस्या के लक्षण हो सकते हैं। हाथों का कांपना आमताैर पर दिखाई नहीं देता हैए लेकिन जब इस पर कागज रख दिया जाता है तो आसानी से हाथ का कंपन नोटिस किया जा सकता है। यह भी ध्यान रखें कि थोड़ा कंपन सामान्य हैए इसका कारण अस्थमा की दवाए चिंता या लो ब्लड शुगर भी हो सकता है।

साइटिका के लिए

अगर पीठ में लंबे समय से दर्द है और पेनकिलर से दर्द दूर नहीं हो रहा है तो यह टेस्ट कीजिए। एक कुर्सी पर सीधे बैठकर एक पैर काे 90 डिग्री ऊपर उठाइए। ऐसा करने पर अगर घुटनों, हिप या पैर में दर्द होता है तो यह साइटिक नर्व की समस्या हो सकती है।

हार्ट की सेहत के लिए

यूरोपीय साइंटिफिक सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी के अनुसार अगर आप एक मिनट में 4 मंजिला सीढ़ियां चढ़ जाते हैं तो हार्ट स्वस्थ है। अगर डेढ़ मिनट या उससे ज्यादा समय लगता है तो डॉक्टरी सलाह की जरूरत है।

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

यह भी पढ़े

गोटू कोला के पत्तों में मौजूद हैं कई लाभकारी गुण