googlenews
drink water
drink plenty of water to stay fit

Water For Health: जीवन में पानी की महत्वपूर्ण भमिका है। त्योहारो के समय हमार् बदलतेखानपान के बुरे प्रभावों को रोकने व फिट रखने में पानी बेहद कारगर है। शरीर की प्रत्येक जीवित कोशिका को जीवित रहने व काम करने के लिए पानी की जरूरत होती है। पानी में कई औषधीयगुण पाए गए हैं। आयुर्वेद में पानी को शारीरिक संतुलन और सामंजस्य बनाए रखने के लिए मुख्य तत्व माना गया है। चीन की परंपरागत दवाओं में पानी को जीवन और मृत्यु का घटक माना गयाहै। इस बारे में मुंबई के एसवीटी कॉलेज ऑफ होम साइंस के आहार एवं पोषण विभाग के प्रोफेसर डॉ. जगमीत मदान का कहना है कि पानीको लेकर यह सिर्फ सदियों पुरानी मान्यता नहीं है, हाइड्रेटेड रहना, खुद को स्वस्थ रखने की दिशा में पहला कदम है। यह शारीरिक और मनोवैज्ञानिक, दोनों स्तरों पर जादुई तरीके से काम करता  है।आजकल के एयर कंडीशन युक्त इंडोर माहौल में बदलती जीवनशैली के चलते प्रत्येक व्यक्ति को एक दिन में 12 गिलास पानी पीने का प्रयास करना चाहिए। यह अधिक जरूरी है कि आप सुरक्षित हाइड्रेशन को अपनी प्राथमिकता बनाएं? पानी आपको फिट रखने के साथ आपके सौंदर्य को भी निखारता है।

तेज मस्तिष्क के लिए


वास्तव में पानी आपके मस्तिष्क को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है। वर्ष 2012 में लंदन में आयोजित ब्रिटिश साइकोलॉजिकल सोसायटी के वार्षिक सम्मेलन में प्रस्तुत अध्ययन साबित करता है कि जो छात्र परीक्षा के दौरान हाइड्रेट रहने से छात्रों की सोच बेहतर होती है, चिंता पर अकश लगता ह और शांत रहन म यह उनकी मदद करता है।

त्वचा को निखारता है


त्योहारों में सुंदर नजर आने के लिए पानी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। हममें से ज्यादातर लोग त्वचा को अंग नहीं मानते हैं मगर यह हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है। दूसरी सभी कोशिकाओं की तरह त्वचा की कोशिकाओंको भी मुलायम और स्वस्थ बने रहने के लिए निरंतर और पर्याप्त हाइड्रेशन की जरूरत होती है। जब हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिलता, तब त्वचा शुष्क और परतदार हो जाती है। डिहाइड्रेटेड त्वचा जल्दी बूढ़ी हो जाती है और इसमें झुर्रियां पड़ जाती हैं। सही मात्रा में हाइड्रेट रहने से त्वचा ढीली नहीं होती है क्योंकि यह त्वचा कोशिकाओं के बीच की खाली जगह को भर देता है और इसे लटकने और झुर्रियों से बचाता है।

तनाव को कम करता है


समुद्र्री तट छुट्टियां बिताने के लिए लोकप्रिय स्थान क्यों माने जाते हैं? सागर जैसे पानी के विशाल भंडार के पास होने के कारण ये हमारे मन को शांति प्रदान करते हैं और हमारे दिमाग को सकून देते हैं। आखिरकार, मस्तिष्क के 85 प्रतिशत ऊतक पानी ही तो हैं। मगर इसका एक ठोसकारण और भी है, टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने कॉलेज के एथीलीटों पर मामूली डिहाइड्रेशन के प्रभावों का अध्ययन किया है और अवसाद, चिंता, उलझन, तनाव, गुस्सा थकान के पाया है कि जो एथलीट एक्सरसाइज करने के बाद पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड नहीं होते थे, उनमें लक्षण पाए गए जबकि पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ लेने वाले छात्रों में ये समस्याएं नहीं पाई गईं।शरीर में तरल पदार्थों की असंतुलित मात्रा का मूड पर तात्कालिक नकारात्मक प्रभाव देखा गया।

हदय रोग की आशंका घटाता है

जब शरीर में तरल पदार्थों की कमी होती है तो रक्त का वॉल्यूम घट जाता है। दिल को कम वॉल्यूम वाले रक्त को पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है इसलिए यह सुनिश्चित करें कि शरीर की प्रत्येक कोशिका को पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचे। इस तनाव के कारण व्यक्ति के लिए रोजमर्रा के कार्य जैसे सीढिय़ां चढऩा और व्यायाम करना काफी मुश्किल हो जाता है। जब हम पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहते हैं तो दिल आराम से अपना काम करता है और शारीरिक कार्यकलापकरने ज्यादा आसान हो जाते हैं।