sudha

टीवी और फिल्म जगत की मशहूर अभिनेत्री व डांसर सुधा चंद्रन एक बार फिर सुर्खियों में छाई हुई हैं। सुधा इस बार सुर्खियों में अपनी किसी नए सीरियल या डांस को लेकर नहीं ​बल्कि अपने कृत्रिम पैर को लेकर चर्चा में है। एक्सीडेंट में अपनी पैर गंवाने वाले सुधा ने कृत्रिम पैर लगा रखे हैं। उनका एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ अधिकारी उनसे प्रोस्थेटिक्स लिंब निकालकर चेकिंग करवाने के लिए कहते हैं। हालांकि एयरपोर्ट ​अधिकारियों ने उनसे माफी मांगी ली है।

सुधा चंद्रन ने इंस्टाग्राम पर एयरपोर्ट वाकया का वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा कि, ‘इस वीडियो में सुधा पीएम मोदी से अपील करती है कि सीनियर सिटीजन के लिए एक ऐसा कार्ड जारी करें जिससे कि उन्हें हवाई यात्रा के दौरान चेक इन और चेक आउट करते समय किसी भी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े।

दरअसल एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मी संपूर्ण जांच के बाद ही किसी व्यक्ति को आगे जाने का मौका मिलता है। सुधा बताती हैं कि जब भी मैं हवाई यात्रा के लिए जाती हूं तो मुझे एयरपोर्ट पर हमेशा अपने पैर को लेकर दिक्कत होती है। चेक इन के दौरान सुरक्षाकर्मी उनके आर्टिफिशियल लिंब को उतारने और उसे चेक करने के लिए कहते हैं जो काफी परेशानी भरा होता है।

मशहूर भरतनाट्यम डांसर एवं अभिनेत्री सुधा चंद्रन ने अपने जीवन से जुड़ी एक बेहद ही प्रेरणादायी कहानी साझा की है। एक हादसे में अपने पैर गंवाने के बाद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और नृत्य करना शुरू कर दिया। सुधा बताती हैं कि उन्हें डांस का ऐसा जुनून था कि उन्होंने तीन साल की उम्र में ही डांस क्लास लेनी शुरू कर दी थी।

मेरी ज़िंदगी में डांस के अलावा कुछ भी नहीं था। मैं स्कूल के बाद डांस सीखने जाती थी और साढ़े नौ बजे रात को घर लौटती थी। एक्सीडेंट में अपने पैर गंवाने के बाद मुझे लगा कि मेरा डांस खत्म हो गया लेकिन मैंने हिम्मत की और कृत्रिम पैरों के साथ स्टेज पर पहली बार डांस किया तो दर्शकों ने मेरा खूब मनोबल बढ़ाया। उन्होंने अपने जीवन पर बनी फिल्म ‘मयूरी’ में भी काम किया जिसे राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया।

Leave a comment