googlenews
अर्जुन कपूर
 
 
 
निर्देशक- आर. बाल्की
 
कलाकार- करीना कपूर, अर्जुन कपूर, रंजीत कपूर, स्वरूप संपत
 
अवधि- 2 घंटा 6 मिनट

 

 

 

 

 

निर्देशन- इस फिल्म के ट्रेलर को देखकर ये फिल्म जितनी आकर्षक और फास्ट लग रही थी, ये फिल्म वैसी नहीं है। फिल्म के फर्स्ट हाफ में कहानी तो तेजी से बढ़ती है, लेकिन आप फिल्म से जुड़ नहीं सकेंगे। फिल्म की एंडिंग के सीन्स भी लम्बे लगते हैं। हालांकि फिल्म से जुड़ी जो बात सबसे ज्यादा खलती है वो है करीना व अर्जुन के गैरजरूरी किसिंग सीन्स। 

फिल्म की सबसे बड़ी खासियत ये है कि फिल्म में ऐसे कई सीन्स हैं जिनसे एक गृहणी रिलेट कर सकती है। कह सकते हैं की फिल्म में कांसेप्ट तो जरूर था लेकिन उस कांसेप्ट को बतौर कहानी अच्छी तरह नहीं बनाया जा सका। आर. बाल्कि की इस फिल्म से हर वो इंसान जुड़ेगा जिसे होममेकर होने का तजुर्बा है या जो खुद एक घर संभालता हो। 

 

कहानी-  फिल्म की कहानी किया (करीना कपूर) और कबीर (अर्जुन कपूर) के शादीशुदा लाइफ और उनकी आपसी केमिस्ट्ररी पर आधारित है। किया एक ऐम्बिशियस लड़की है और कबीर ऐम्बिशन और कॉम्पिटीशन के चक्कर में फंसकर रोबोट जैसा नहीं बनना चाहता है। कबीर एक हाउस हस्बेंड बनकर घर चलाता है और किया को सफल होने में मदद करता है। उसकी यही क्वालिटी उसे फेमस करती है और इनके रिलेशन में बदलाव आता है। 

 

कलाकार- करीना कपूर ने काफी समय बाद पर्दे पर ऐसा काम किया है। उनकी ऐक्टिंग बेहतरीन है। अर्जुन कपूर ठीक-ठाक हैं। रंजीत कपूर और स्वरूप संपत अपने किरदार के अनुरूप अच्छी ऐक्टिंग की है। 

 

म्यूजिक- फिल्म के गाने अच्छे हैं। ‘हाई हील्स’ और ‘मोस्ट वॉन्टेड मुन्डा’  पहले से ही सॉन्ग लवर्स के बीच हिट हो चुका है।

 

फाइनल डिसिज़न- फिल्म से मिलने वाला मेसेज अच्छा है, एक बार जरूर देखें।