Viral: त्योहारों के सीजन में मिठाइयों में या डेयरी पदार्थों में मिलावट होने की खबरें आए दिन आती रहती हैं, जिसकी बड़ी वजह मांग का बढ़ना है। दिवाली और भाईदूज के मौके पर ऐसा शायद ही कोई परिवार होगा जो मिठाई नहीं खरीदता होगा। इस मांग को कम लागत में पूरा करने के लिए दुकानदार मिठाइयों या खोया, दूध, घी आदि में मिलावट करते हैं यह पता होने के बावजूद कि यह लोगों की सेहत से सरासर खिलवाड़ है।

दिवाली से बस कुछ ही दिन पहले दिल्ली सरकार के खाद्य सुरक्षा विभाग ने सरप्राइज चेकिंग में की गई छापामारी में 700 किलो बदबूदार और खराब खोया बरामद किया गया है। यह बेकार खोया कश्मीरी गेट के हीरामंडी ऑक्शन एरिया, मोरी गेट  और चांदनी चौक के संजय मार्किट, बाघ दीवार से पकड़ा गया है।

इसमें कोई दोराय नहीं कि ये खोया बाजार में मिठाई में डलकर आता तो कितने ही लोगों को बीमार करता। उसपर से इसे खरीदने में जेब तो खाली होती ही उससे कई ज्यादा लम्बा बिल अस्पताल का बन जाता। इसलिए यह आवश्यक है कि आप जब भी मिठाई खरीदें तो अच्छे से देख कर लें।

मिठाई खरीदते समय दें इन बातों पर दें ध्यान

  1. जब आप किसी मिठाई को, जैसे गुलाबजामुन और रसगुल्ले, को पैकेट बंद लें तो उसकी पैकैजिंग को ठीक से देखें कि वह पूरी तरह सील बंद है या नहीं।
  2. मिठाइयों में अक्सर चांदी के नाम पर एल्युमीनियम का वर्क लगा दिया जाता है। इसकी पहचान करने के लिए वर्क को अंगूठे में लगाकर मसलें। अगर वर्क टुकड़ों में फैल जाए तो वह नकली है.
  3. बूंदी के लड्डू का रंग अगर सूर्ख संतरी हो तो वह नकली हो सकता है। इसी तरह अलग-अलग खाद्य पदार्थों को जांचने के तरीके आप इंटरनेट से आसानी से देख सकते हैं।
  4. मिठाइयों में जो दूध डलता है उसमें पानी के अलावा भी कई चीजों की मिलावट होती है। दूध में चाक, यूरिया, साबुन और केमिकल वाली सफेदी भी हो सकती है। इससे बचने के लिए मिठाइयां हमेशा अपने भरोसे के दुकानदार से लें या उस दुकान से जो अपनी शुद्धता के लिए मशहूर हो।    
  5. दिवाली के समय मिलावटी मिठाइयों से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसे सूंघ कर देखें कि उसमें से किसी तरह की बदबू तो नहीं आ रही है, अगर आ रही हो तो उसे ना खरीदें।

Leave a comment