googlenews
कोलेजन- त्वचा को जवां बनाएं रखने के लिए जरूरी: Collagen for Skin Benefits
Collagen for Skin Benefits

Collagen for Skin Benefits: बढ़ती उम्र में वक्त के साथ त्वचा में बदलाव आना बहुत स्वाभाविक है। त्वचा से ग्लो, लचीलापन, चमक खो-सी जाती है और चेहरे  पर झुर्रियां आ जाती हैं। यह मूलतः   कोलेजन प्रोटीन की कमी के कारण होता है। हमारी त्वचा का 70 प्रतिशत भाग कोलेजन प्रोटीन होता है। यह त्वचा के सेल्स में कसावट लाने वाला प्रोटीन है जिसकी वजह से हमारी त्वचा पर सालों तक झुर्रियां नहीं आती और सालों तक हम अपनी त्वचा को जवान रहती है। त्वचा की चमक देखकर हमारी उम्र का पता नही चल पाता। कोलेजन त्वचा को लचीला, स्वस्थ और चमकदार बनाता है।  
Chicnutrix Beauty Collagen

लेकिन यह प्रोटीन हमारी उम्र के साथ कम होता जाता है। 22-25 साल तक आते-आते त्वचा में यह प्रोटीन का निर्माण कम हो जाता है और धीरे-धीरे नष्ट होने लगता है। जिसकी वजह से कोलेजन हमारी त्वचा की नमी खोने लगती है और कसावट कम हो जाती है। त्वचा पर बढ़ती उम्र के प्रभाव दिखने लगते हैं यानी रुखापन आना, झुर्रियां, बारीक लाइनें, ओपन पोर्स दिखना, स्किन का ग्लो कम होने लगती हैं। कई बार चेहरे की त्वचा लटकने लगती है जिसे ठीक करना संभव नहीं हो पाता।

क्यों होती है कोलेजन की कमी- 

त्वचा में कोलेजन कई कारणो से कम होता है-

सन एक्सपोजर– हमारी त्वचा की नाॅर्मल कार्यक्षमता को प्रभावित कर कोलेजन को नष्ट करने में सहायक है। झुर्रियों, फाइन लाइनों, सनबर्न, टेैंनिंग और यहां तक कि केंसर की वजह भी होता है।
गलत खानपान– हम जो खाते हैं वो हमारे शरीर ही नहीं, त्वचा को तो प्रभावित करता है। पौष्टिक और असंतुलित आहार- जंक फूड, फास्ट फूड, प्रोसेस्ड फूड,जरूरत से ज्यादा चीनी, आॅयली फूड का सेवन कोलेजन को नुकसान पहुंचाते हैं जिससे हमारी त्वचा पर बढ़ती उम्र का असर देखने को मिलता है।

गलत जीवनशैली- हमारी जीवनशैली काफी खराब हो गई है जिसका असर हमारी त्वचा पर भी पड़ता है। स्मोकिंग, एल्कोहल या दूसरे नशीले पदार्थ और वातावरण में मौजूद प्रदूषण कोलेजन नष्ट करता है जिसकी वजह से त्वचा पर बुढ़ापे का असर देखा जा सकता है।

कैसे बूस्ट करें कोलेजन- 

हालांकि बाजार में तरह-तरह की एंटी-रिंकल क्रीम या माॅश्चराइजर मिलते हैं, लेकिन सटीक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं कि इनसे कोलेजन की आपूर्ति होती हैं। दूसरे की देखादेखी या बाजार में मिलने वाले ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लग जाता है। लेकिन अक्सर उनसे ज्यादा फायदा नहीं मिलता। अगर आप बढ़ती उम्र के हैं, तो उन्हें कोलेजन युक्त खाद्य पदार्थ और कोलेजन सप्लीमेंट जरूर लेने चाहिए। भारत का पहला एंटी एजिंग Chicnutrix Beauty Collagen – 30 Gel Shots आपकी स्किन को काफी फायदा पहुंचाता है।

अपनी त्वचा को जवां बनाए रखने के लिए हम कोलेजन को दो तरीके से बूस्ट कर सकते हैं-
पौष्टिक तत्वों और एंटी आॅक्सीडेंट से भरपूर आहार– त्वचा रोग विशेषज्ञ कोलेजन को बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा संतुलित, प्रोटीन और एंटी आॅक्सीडेंट युक्त आहार का सेवन करने पर बल देते हैं। जिसके माध्यम से व्यक्ति त्वचा में मौजूद कोलेजन की क्षति को रोक सकते हैं और त्वचा पर बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम कर सकते हैं। मांसाहारी पदार्थों में कोलेजन उचित मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा दूध और दूध से बने पदार्थ भी लाभदायक हैं।

 विटामिन सी और डी का सेवन कोलेजन के निर्माण में सहायक है। विटामिन सी बहुत पाॅवरफुल एंटी आॅक्सीडेंट है जो शरीर में बनने वाले फ्री-रेडिकल्स को नियंत्रित करता है जिससे त्वचा मे मौजूद कोलेजन को बूस्ट करने में मदद मिलती है। विटामिन सी के लिए आहार में रोजाना संतरा, मौसमी, आंवला, कीवी, स्ट्राबेरी,नींबू जैसे मौसमी रसेदार खट्टे फलों का सेवन करना चाहिए। पीली-लाल-ओरेंज रंग की फल-सब्जियों में (गाजर संतरा, पपीता, चुकुंदर, शकरकंदी, बेल पेपर) मिलने वाला विटामिन ए मे मौजूद केरोटीन कोलेजन को बढाता है।  

Chicnutrix Collagen Builder – Plant Based

Collagen for Skin Benefits
CHIC NUTRIX Beauty Collagen

आहार में मिनरल्स की मात्रा भी कोलेजन के निर्माण में सहायक है। मैगनीशियम की मात्रा बढ़ानी चाहिए। इसमें ऐसे हीलिंग गुण होते हैं जो त्वचा में मौजूद कोलेजन प्रोटीन को रिपेयर करने और त्वचा को हेल्दी बनाने में मदद करता है। मैगनीशियम अनानास, केला, एवोकेडो, ड्राई फ्रूट्स, सीड्स, डार्क चाॅकलेट में मिलता है। हेल्दी त्वचा के लिए नियमित रूप् से अपनी डाइट में काॅपर तत्व से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन भी मददगार है। काॅपर त्वचा में आॅक्सीजन का सर्कुलेशन बनाए रखता है और त्वचा में कोलेजन को नष्ट होेने से बचाता है। मशरूम, पालक, मेथी, ड्राई फ्रूट्स में काफी मात्रा में मिलता है। आयरन से खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाता है जिससे त्वचा हेल्दी होती है। मेथी, पालक,ब्रोकली,  ड्राई फ्रूट्स में काफी मिलता है।त्वचा में मौजूद टाॅक्सिन को दूर करने में सल्फर मदद करता  है। यह लहसून में काफी मात्रा में मिलता है। जिंक भी कोलेजन को हेल्दी रखने में मदद करता है। Chicnutrix Vegan Collagen Builder – Plant Basedये टेबलेट आपकी उम्र चेहरे पर दिखने नहीं देती।

सूरज की यूवी ए-बी किरणें हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाती है। विशेषज्ञों का मानना है कि हमारी त्वचा पर जितना डैमेज होता है, उसका 18 प्रतिशत सन एक्पोजर की वजह से होता है। जरूरी है कि ब्राॅड स्पेक्ट्रम एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन अपनी त्वचा पर लगाएं। विटामिन डी की आपूर्ति के लिए धूप सेंकनी हो तो सुबह 10 बजे से पहले और शाम 5 बजे के बाद कम से कम 20 मिनट सेंकें।  

लें कोलेजन सप्लीमेंट- अनुसंधानों से साबित हुआ है कि कोलेजन पेप्साइड सप्लीमेंट लेने से झुरियां कम होती हैं, त्वचा में लचीलापन आता है, हाइड्रेट रखता है और ग्लोइंग बनाता है। यानी इन सप्लीमेंट के सेवन से स्किन हेल्थ अच्छी होती है। हाइड्रोलिक एसिड युक्त सप्लीमेंट ज्यादा अच्छे होते हैं। जरूरी है कि डाॅक्टर की सलाह लें और बेस्ट सप्लीमेंट चुनें। ये सप्लीमेंट ज्यादातर मांसाहारी खाद्य पदार्थों खासकर इनकी स्किन में होता है। जिन्हें आमतौर पर खाया नहीं जाता, लेकिन मांसाहारी पदार्थों की स्किन को सुखाकर कोलेजन पाउडर बनाए जाते हैं। आप कोलेजन पाउडर को पानी के साथ ले सकते हैं।

आमतौर पर कोलेजन सप्लीमेंट के साइड इफेक्ट नहीं होते, लेकिन अगर आपको किसी मांसाहारी पदार्थ से एलर्जी है, तो उसकी स्किन से बना कोलेजन नुकसान पहंुचा सकता है। कोलेजन का टेस्ट जरूर कुछ खराब लग सकता है, लेकिन कैप्स्यूल य अर्टिफिशियली फ्लेवर वाले कोलेजन ले सकते हैं।
(डाॅ विक्रम सूद, सीनियर डर्मेटोलाॅजिस्ट, स्किन क्लीनिक, जालंधर)
 

Leave a comment