पार्टनर के साथ मजबूत रिश्ता और जीवन में तालमेल एक सबसे खूबसूरत और प्यारा एहसास हो सकता है। रिश्ते में सब कुछ अच्छा होने के बावजूद कभी.कभी कपल्स के बीच कुछ बातों को लेकर इनसिक्योरिटी बढ़ने लगती है। हांलाकि इनसिक्योर होना हमेशा गलत नहीं होता है लेकिन जरूरत से ज्यादा असुरक्षा की भावना रिश्ते को खराब करने लगती है। बात बात पर माफी और खुद पर शंकाओं के साथ जिन लोगों के पास आत्मविश्वास और प्यार नहीं है वे ज़िंदगी भर असुरक्षा की भावना के साथ संघर्ष करते रहते हैं। ऐसे लोगों का व्यवहार उनके आसपास के लोगों के लिए कई बार झेलना मुश्किल हो जाता है। ऐसे व्यक्ति के साथ रिश्ते में होना न केवल आप दोनों के बीच के बंधन को खराब करेगा बल्कि मानसिक रूप से भी आपको थका भी देगा। अगर आपके पार्टनर के स्वभाव में भी ये आदतें शुमार है, तो आपको इन बातों पर ध्यान देना बेहद जरूरी है।

 

खुद के बारे में सोचना

आप अपने पार्टनर को अहंकारी भी पाएंगे। वे भले ही अपने आप को नापसंद करें फिर भी अपने बारे में ज्यादा से ज्यादा बात करना पसंद करते हैं। दो लोगों के बीच बातचीत में, वे हमेशा इस बात की ओर फोकस करने की कोशिश करेंगे कि उनका जीवन कितना कठिन है। उन्हें केवल अपने बारे में सोचना और बात करना पसंद है। अगर आपका पार्टनर भी ऐसा करता है तो आज ही सचेत हो जाएं।

 

नकारात्मक सोच

अगर आपका पार्टनर दूसरों पर ध्यान केंद्रित कर उनके बारे में नकारात्मक बातें करता है। या फिर आपका पार्टनर अपनी किसी बात को नापसंद करता है तो वह इसका इल्जाम दूसरों पर लगाकर उनकी बुराई करता है। यह नकारात्मक लक्षण उन लोगों के लिए वास्तव में टॉक्सिक हो सकता है जो उनके साथ हैं।

 

ईर्ष्या की भावना

इनसेक्योर लोगों की एक बहुत ध्यान देने योग्य बात यह है कि वे बहुत आसानी से दूसरों से ईर्ष्या करने लगते हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनका साथी कितना कहता रहे कि वो उनसे प्यार करता हैं। इनसेक्योर लोग हमेशा ईर्ष्या करने का कारण तलाशते रहेंगे। इन स्थितियों के बढ़ने पर आपके रिश्ते में धोखे की आशंका भी बढ़ सकती है।

 

पार्टनर की तुलना दूसरों से करना

सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई दूसरों की तस्वीरें दिखाकर पति को परेशान बिल्कुल न करें। कभी भी अपने पार्टनर से जरूरत से ज्यादा उम्मीद न रखें। कोई भी व्यक्ति सिर्फ तस्वीरे  देखकर दूसरों की खुशहाल जिंदगी का अंदाजा नहीं लगा सकता।

 

रूठ जाना

अक्सर यह देखा जाता है कि लड़कियां रिलेशनशिप में रहते हुए अपने पार्टनर से छोटी.छोटी बातों पर झगड़ा करके उनसे बात करना बंद कर देती हैं। कभी.कभी आपकी ये ट्रिक काम कर सकती हैं लेकिन इस ट्रिक को अपनी आदत में शुमार करना आपके रिश्ते के लिए खतरा पैदा कर सकता है। संभल जाइए।

 

सम्मान न देना

कोई भी रिश्ता लंबे समय तक तभी चल सकता है जब उसमें प्यार के साथ सम्मान भी मौजूद हो। अपने रिश्ते में पति.पत्नी एक.दूसरे को सम्मान दें, एक दूसरे की भावनाओं की कद्र करते हुए पार्टनर की बातों को एहमियत दें।

 

दूसरों के साथ बातें शेयर करना

यदि आपका साथी दूसरों के साथ अपनी हर एक बात को शेयर कर रहा है, तो यह भी उनके मन की दशा को व्यक्त करने के लिए काफी है। एक गंभीर और मजबूत रिश्ते के लिए एक सीमा तय होती है। साथ ही, कुछ पल ऐसे भी होते हैं जिन्हें दूसरों के साथ कभी साझा नहीं किया जा सकता है।

 

आपको कभी अकेला ना छोड़ना

क्या आपका पार्टनर हमेशा आपके साथ रहता है, क्या उसे आपको अकेले छोड़ने में डर लगता है। अगर हां तो निश्चित रूप से ये इनसिक्योरिटी के संकेत हैं। उनके मन में ऐसे विचार हो सकते हैं कि लोगों से मिलने.जुलने के चक्कर में आप उन पर कम ध्यान देने लगेंगेण् आपको खोने के डर से वो आपको अकेला नहीं छोड़ते हैं। अगर ऐसा है तो आपको उन्हें ये महसूस कराने की जरूरत है कि आपके जीवन में उनकी जगह कोई नहीं ले सकता और वो आपके लिए बहुत खास हैं।

 

आपके प्लान के बारे में हमेशा पूछना

इनसिक्योरिटी की सबसे बड़ी निशानी यही है कि आपका पार्टनर आपके बारे में सबकुछ जानने की कोशिश करता है जैसे कि आप क्या करने वाले हैं। कहां जाने वाले हैं और किसी के साथ जा रहे हैं या अकेले, पार्टनर के मन से असुरक्षा की भावना निकालने के लिए उनके पूछने से पहले ही आप अपने पूरे दिन के प्लान के बारे में उन्हें बता दें।

 

बातचीत में बार.बार एक्स को लाना

अगर आपका पार्टनर बातचीत में बार.बार अपने एक्स का जिक्र करता है तो निश्चित रूप से उसमें असुरक्षा की भावना है। आपके पार्टनर को लगता है कि एक्स का जिक्र कर वो आपका ज्यादा अटेंशन पा सकेंगे। अपने पार्टनर को खुद पर भरोसा दिलाएं और समझाएं कि उन्हें अपने एक्स का जिक्र करने की जरूरत नहीं।

 

सभी महिलाएं चाहती हैं कि उनके पति उनके मायके वालों के साथ अच्छे संबंध बनाएं। जरूरत पड़ने पर उनको सपोर्ट करें। आपके परिवार को अपना परिवार मानें। अगर आपको अपने पति में ये सब खूबियां देखने को मिलतीz हैं तो समझ लीजिये आपका और आपके पति का प्यार कमजोर नहीं है। किसी भी रिश्ते में विश्वास होना बहुत जरूरी है। एक रिलेशनशिप में दोनों पार्टनर्स को एक दूसरे पर विश्वास होना चाहिए। अगर आपके पार्टनर आप पर शक करते हैं या हर छोटी.छोटी बात पर पोजेसिव हो जाते हैं तो आपको अपने फैसले पर एक बार फिर से विचार करना चाहिए। किसी भी रिश्ते में विश्वास की कमी से रिश्ता खत्म होने तक की कगार पर आ सकता है।

 

रिलेशनशिप टिप्स कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। रिलेशनशिप से जुड़े टिप्स आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें  जब रिश्ता न हो स्वीकार