googlenews
Roka Ceremony
Roka Ceremony

Roka Ceremony: जब भी हम भारतीय शादियों की बात करते हैं, तो हमारे सामने बारात, नाच, गाना, खाना-पीना और मौज मस्ती का माहौल आ जाता है। दरअसल भारतीय शादियों में कई ऐसे रीति रिवाज और आयोजन किए जाते हैं, जिनकी वजह से उस शादी में भाग लेने वाले लोगों के मन में ढेर सारी उमंगें और उत्साह होता है। शादी की समारोह को दो हिस्से में बांटा जाता है।

पहला शादी के पहले वाले समारोह और दूसरा शादी के बाद वाले समारोह। शादी के पहले वाला समारोह हो या शादी के बाद वाले, सबका अपना महत्व है। आज इस आर्टिकल में हम शादी के पहले होने वाले समारोह “रोका” के बारे में जानेंगे। 

रोका क्या होता है 

Roka

शादी का पहला कदम रोका समारोह होता है, जो भारतीय शादियों का एक अहम हिस्सा बन गया है। लड़के और लड़की की शादी फिक्स हो जाने के बाद दोनों की फैमिली एक दूसरे को पैसे, मिठाइयां, गिफ्ट आदि देते हैं। रोका का मतलब है कि दोनों की शादी एक-दूसरे के साथ फिक्स हो गई है।

अमूमन यह समारोह छोटे पैमाने पर होता है। हालांकि आजकल लोग इसे बड़े पैमाने पर भी सेलिब्रेट करने लगे हैं। बड़े पैमाने पर रोका समारोह का आयोजन किया जाता है, तो लड़के और लड़की दोनों के परिवार वाले अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को आमंत्रित करते हैं। दोनों परिवार एक जगह पर इकट्ठा होते हैं और पंडित वहां एक पूजा भी करवाते हैं। 

रोका करने का स्थान 

Place of Roka Ceremony

रोका करने का स्थान इस पर निर्भर करता है कि उसमें कितने लोग शामिल होने वाले हैं। यदि यह एक छोटा आयोजन होता है, तो अमूमन लड़की के घर पर रोका का समारोह कर दिया जाता है। यदि दोनों परिवारों ने मिलकर निश्चय किया होता है कि रोका बड़े पैमाने पर होगा, तो इसके लिए कोई बैंक्वेट हॉल या होटल की बुकिंग की जाती है।

रोका की ड्रेस

Both boy and girl wear ethnic dress

अपनी रोका सेरिमनी पर अमूमन लड़के और लड़की दोनों एथनिक ड्रेस पहनते हैं। लड़की इस समय साड़ी, लहंगा या सलवार सूट जैसी कोई भी ट्रेडिशनल ड्रेस पहनती है। वहीं, लड़का इस समय कुर्ता पजामा या सूट पहनता है। इस मौके पर आमंत्रित मेहमान भी एथनिक कपड़े ही पहनते हैं।  

क्या होता है रोका में 

The ceremony of Roka is celebrated very simply

रोका का समारोह बहुत ही सादगी से मनाया जाता है। इसमें लड़का अपने परिवार, दोस्तों और कुछ रिश्तेदारों के साथ लड़की के घर पर पहुंचता है। लड़का और लड़की दोनों को साथ में बैठा दिया जाता है और सबसे पहला रिवाज तिलक सेरिमनी है। तिलक सेरिमनी के तहत लड़का और लड़की के ललाट पर रोली और अक्षत से तिलक किया जाता है।

पहले लड़के वाले लड़की को उपहार, ड्राई फ्रूट, फल, कपड़े, मिठाइयां और कैश देते हैं। लड़के की मां अपनी होने वाली बहू को खूबसूरत लाल दुपट्टा पहनाती है और उसे ज्वेलरी, कैश आदि देकर अपना आशीर्वाद भी देती है। इसी तरह लड़की के परिवार वाले लड़के को गिफ्ट, मिठाइयां, कपड़े और कैश देते हुए उसे आशीर्वाद देते हैं। इसके बाद रोका सेरिमनी पर मौजूद सभी बड़े लोग लड़के और लड़की दोनों को अपना आशीर्वाद देते हैं। 

Leave a comment