गॉसिप करने के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान जानिए 4 सही तरीके
गॉसिप करने के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान जानिए 4 सही तरीके

गॉसिप यानी गपशप। जो अक्सर जब दो या दो से ज्यादा लोग किसी ग्रुप में बैठते हैं तो करते हैं जोकि बहुत आम बात है। हम गॉसिप क्यों करते हैं, इसका क्या सही तरीका हो, क्या आपने पहले कभी इस बारे में सोचा है?

अगर कोई व्यक्ति ये कहे कि वो गॉसिप नहीं करता तो इस पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल होता है। कोई भी ऐसा नहीं है, जो इसे किये बिना रह पाता हो। आप जब भी अपने दोस्तों या कलिग के साथ होते हैं तो सबके बीच में कुछ ना कुछ तो गपशप होती ही है। जिसे अनदेखा भी नहीं किया जा सकता। 

गॉसिप कह लिया जाए या गपशप करना कह लीजिये, इसे करने के लिए किसी विषय कि जरूरत नहीं होती। लेकिन आप इसे किस तरह से करते हैं, और क्यों करते हैं, इसके बारे में शायद ही किसी को पता हो। तो आज इस लेख में इसी के बारे में जानने की कोशिश करेंगे।

क्यों करते हैं गॉसिप?

क्यों करते हैं हम गॉसिप

क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर हम गॉसिप क्यों करते हैं? तो बता दें कि इसको करने के लिए ना तो दिल की जरूरत होती है, और ना ही दिमाग की। गॉसिप में आप या तो किसी दूसरे इंसान की बात करते हैं, या फिर अपने में कोई टॉपिक निकालकर उसे आगे बढाते हुए बातचीत करती हैं।

इसमें कभी कभी हमारा व्यवहार ऐसा हो जाता है, जो बातों ही बातों में दूसरों को काफी हद तक प्रभावित कर सकता है। कुछ शोध की मानें तो, इससे हमारी पर्सनालिटी भी काफी प्रभावित होती है। ये या तो सकारात्मक प्रभाव डालता है या तो नकारात्मक प्रभाव।

आप कब होती हैं गलत?

आप कब होती हैं गलत

गॉसिप या तो निगेटिव असर डालती है या फिर पॉजिटिव। अगर इससे हमारे व्यवहार में निगेटिव असर पड़ रहा है तो, हम दूसरों से सिर्फ निगेटिव बात ही करती रहेंगी और दूसरों की निगेटिविटी को ही पकड़ेंगी। आप गलत रस्ते पर तब जाने लगती हैं जब, इसके जरिये आप अफवाहें फैलाने लगती हैं। फिर किसी गलत सूचना को एक दूसरे से साझा करने लगती हैं। इस तरह की आदत आपको बेहद बुरी महिला बना देती है।

इसके फायदे भी हैं

इसके फायदे भी हैं

इसको करने के फायदे भी हो सकते हैं, ये एक सिक्के के दूसरे पहलू की तरह ही है। गॉसिप करना किसी मनोरंजन से कम नहीं है। इससे जुड़े लाभ भी आपको देखने को मिल सकते हैं। आप उन लोगों की पहचान आसानी से कर सकती हैं, जिनपर आपको भरोसा है। इससे आपको दूसरों की कमियों का पता चलता है। अगर आप अपने ग्रुप में पॉजिटिव स्टोरी और उससे जुडी क्षमताओं के बारे में जानकारी को साझा करती हैं, तो जानकारी भी आपकी ही बढ़ती है। 

क्या आपको पता है सही तरीका

अपने पर्सनल फायदे के लिए कभी गॉसिप ना करें

इसको करने का सही तरीका भी होता है, इस बारे में शायद ही आपने कभी सोचा होगा। अगर इसका सही तरीका आपको आ गया तो आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिलेगा। लेकिन इसकी ट्रिक क्या है ये जानना भी तो जरूरी है। तो चलिए फिर जानते हैं इसकी ट्रिक जो आपको और हमको फॉलो करनी चाहिए।

  • आपका ग्रुप जब भी निगेटिव गॉसिप करे, तो आपको उसमें शामिल नहीं होना है। साथ ही उन्हें बताएं कि निगेटिव गॉसिप करना बिलकुल ठीक नहीं है।
  • आप जब भी करें, तो किसी कि भी पर्सनल इन्फोर्मेशन को साझा न करें।
  • आप जब भी दूसरों से बात करें, पॉजिटिव बात करें। आप दूसरों की सफलता के बारे में बात करें, ताकि सामने वाले को खुद पर गर्व हो।
  • आप इस बात का फैसला करें कि आप जिस तरह की भी जानकारी को सुनते हैं, उसे कैसे आगे बढ़ाते हैं। आप उस जानकारी को पॉजिटिव तरीके से आगे साझा करेंगे तो दूसरों को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।
  • अगर कोई आपके करीबी के बारे में गॉसिप कर रहा है तो, आपको उस विषय में उससे बात करें। आप ध्यान रखें कि, इस जानकारी को उस व्यक्ति से साझा ना करें।
  • अपने पर्सनल फायदे के लिए कभी गॉसिप ना करें।
  • आप जो भी सुनते हैं, उसे बढ़ा-चढ़ाकर कभी किसी के सामने पेश ना करें। आप वही बातें साझा करें, तो वास्तव में साझा करने लायक हो।
  • गॉसिप करने का तरीका यही सही होता है कि आप निगेटिविटी से दूर रहें। आप उन विचारों से दूर रहें जो दूसरों और आपको परेशानी में डाल सकते हैं, क्योंकि गॉसिप हमेशा मनोरंजक ही होनी चाहिए।

Leave a comment