googlenews
किसी भी बड़ी समस्या के आने पर घबराएं नहीं , डटकर सामना करें-शिवानी अग्रवाल
Life Motivational Speech by Shivani Agarwal

Life Motivation: मोटीवेशनल स्पीकर शिवानी अग्रवाल ने दिल्ली के गुलमोहर पार्क में आरडब्लूए की ओर से आयोजित कार्यक्रम में चेतन और अवचेतन मन के प्रभाव के बारे में बात की । उनको सुनने के लिए काफी लोग मौजूद थे। शिवानी ने सत्र के शुरूआत में सबका धन्यवाद देते हुए वहां मौजूद लोगों को थोड़ी देर के लिए आंख बंद करके मेडीटेशन करने के लिए कहा।
उन्होंने लोगों को बताया कि पाॅजिटीव रहकर आप अपने दिमाग को कंट्रोल कर सकते हैं। नेगटिव विचार कभी अपने मन में न आने दें । सकरात्मक रहकर अपने दिमाग को दुरस्त रखें। उन्होंने बताया कि मनुष्य कैसे चेतन और अवचेतन मन की शक्तियों का उपयोग करके अपने जीवन को खुशियों से भर सकता है।

शिवानी का कहना है कि किसी मनुष्य को लाचार वाली स्थिति में अपने आपको नहीं आने देना चाहिए। हमेशा हिम्म्त रखिये और आगे बढ़ते रहिए। उन्हेांने कहा कि सकरात्मक रहकर आप चमत्कारों को पा सकेंगे। ये चमत्कार आपकी लाइफ बदल सकते हैं। दूसरों के साथ क्या होता है इस इतर आप अपनी अपने पर ध्यान दें। आपके साथ क्या अच्छा हो रहा है इसके बारे में सोचें।

मनुष्य किसी को धोखा दे सकता है लेकिन अपने आपको कभी भी नहीं दे सकता है। उसका मन रूपी दर्पण उसके अपने सभी अच्छे -बुरे कर्मों को दिखाता है। आपने कितनी बार सुना होगा कि चेतन मन और अवचेतन मन । लेकिन इन दोनों के बारे में सही से शायद नहीं जानते होंगे। चेतन मन वो होता है जिसमें हम जागृत रहते हैं और अपने सभी दैनिक क्रियाकलाप करते हैं और अवचेतन मन वह होता है, जिसमें हम सपने देखते हैं । जैसा कि शिवानी ने भी कहा है कि अवचेतन मन चेतन से ज्यादा प्रभावशाली होता है।

हमारा अवचेतन मन चेतन मन से ज्यादा चीजें याद रखता है और चीजों को संग्रहीत करता है। यह मन हमें आने वाले खतरों के बारे में पहले से बता देता है। इस मन के माध्यम से व्यक्ति दूसरे के विचारों को बदल सकता है और उसे स्वस्थ् भी कर सकता है। इसलिए ध्यान रखें कि आप ऐसे लोगों के साथ रहें कि जो हमेशा सकरात्मक रहते हैं, सकारात्मक विचार आपके अवचेतन मन में भी संग्रहीत हो जाते हैं। व्यायाम और मेडीटेशन करें। प्रकृति के साथ समय बिताएं । जीपीएसडब्लूयू के अध्यक्ष अतुल बल भी मौजूद थे।

Leave a comment