अगर आपने 50 साल की उम्र क्रॉस कर ली है तो अब आपको अपने पहले वाले लाइफस्टाइल को थोड़ा बदलने की जरूरत है। इस उम्र में आपको एनर्जी कम महसूस होगी और बीमारियां या थकान अधिक। आप हर छोटी से छोटी चीज से प्रभावित हो सकते हैं। मान लीजिए आप पहले शराब पीते थे और अब भी इस आदत को जारी रखते हैं तो आपका शरीर अब इस चीज से अधिक प्रभावित होगा और आपको ज्यादा साइड इफेक्ट्स देखने को मिलेंगे। इस उम्र से आपका बुढ़ापा चालू होने लगता है इसलिए आपको स्वस्थ रहने के लिए थोड़े अधिक प्रयास करने होंगे और अपनी पुरानी आदतों में भी बदलाव लाना होगा ताकि आप कम बीमार पड़े और अच्छी सेहत के साथ अपनी आगे की जिंदगी जी सकें। अगर हेल्दी लाइफ जीना चाहते हैं तो शुरुआत करें इन आदतों से।

धूम्रपान न करें: धूम्रपान कम उम्र के लोगों को भी नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह मृत्यु और बीमारियां का नंबर वन कारण बनती जा रही है। अगर आपकी उम्र 50 या उससे ऊपर है और आप अब भी अपनी धूम्रपान करने वाली आदत को नहीं छोड़ पा रहे हैं तो किसी प्रोफेशनल की मदद लें।

अपने शरीर को एक्टिव रखें: अगर आप रिटायर हो गए हैं या सारा कार्य भार आपके बच्चों ने संभाल लिया है तो आपको केवल आराम करने की ही नहीं बल्कि अपने शरीर को एक्टिव रखने की भी जरूरत है। अगर आप कोई एक्सरसाइज नहीं करना चाहते हैं तो कुछ देर के लिए केवल वॉकिंग या अपने घर में बच्चों के साथ खेल सकते हैं और घर के कुछ कामों में हाथ भी बंटा सकते हैं।

अपनी हड्डी और जोड़ों को मजबूत बनाएं रखें: 50 की उम्र के बाद आपकी हड्डियां और जोड़ कमजोर पड़ने लगते हैं और आपको इनमें दर्द महसूस करने को मिलता है लेकिन अगर आप ऐसा होने से बचाना चाहते हैं तो अपने शरीर को विटामिन डी और कैल्शियम की अच्छी डोज दे। अपनी डाइट में दूध और हरी सब्जियां शामिल करे और रोजाना कुछ समय सूर्य की रोशनी में भी बितायें।

अपने आप को अंदर से खुश रखें: आपका इस उम्र में हेल्दी रहने के लिए सबसे जरूरी होता है खुद को अंदर से खुश रखना। इसके लिए सभी तरह की स्ट्रेस को त्याग दें और खुद को खुश करने के लिए घूमें, फिरें, मुस्कुराएं, अपनी मन पसंदीदा गतिविधियां करें जो आपने आज तक नहीं की है उन चीजों को ट्राई करें।

अधिक पैसे बचाएं और खर्च कम करें: इस उम्र तक आपने जितनी कमाई करी होगी उसमें से बुढ़ापे के लिए कुछ तो बचाया होगा ही, उस फंड का बड़ी सावधानी से प्रयोग करें। आगे आगे आपकी कमाने की क्षमता कम होती जायेगी इसलिए आपको अपने शरीर का ख्याल रखने के लिए या अचानक कभी भी किसी इमरजेंसी में पैसों की जरूरत पड़ सकती है इसलिए आपको ऐसी स्थितियों के लिए पैसा जमा करके रखना चाहिए।

एनुअल एक्सिनेशन करवाएं: इस उम्र में बीमारियों से बचने का बेस्ट तरीका होता है उन्हें उनकी अर्ली स्टेज में ही पकड़ लेना। अगर आप अपना सालाना चेक अप करवाते रहते हैं तो आपको अपनी सेहत के बारे में एक आइडिया मिल जाता है की आपको अब कौन सी चीजें करनी चाहिए और किन चीजों को अवॉयड करना चाहिए। इसलिए हमेशा ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल आदि जैसे टेस्ट करवाते रहें।

निष्कर्ष

इन सभी टिप्स को अपनाने के साथ यह याद रखें की उम्र बढ़ना एक प्राकृतिक चीज है और यह सबके साथ होना है। अपनी उम्र बढ़ने के साथ अपने कॉन्फिडेंस में कमी न आने दे। अपनी नई इमेज को पहले खुद स्वीकार करें और अब खुद का और अपने पार्टनर का और भी अच्छे से ख्याल रखें क्योंकि अगर आप ही अपना साथ नहीं देंगे तो कोई दूसरा भी नहीं देने वाला है। इसलिए खुद ही अपने सबसे बड़े मित्र बनिए। अपनी असली कीमत जानिए और सेल्फ केयर कीजिए।

यह भी पढ़ें– अगर पीरियड क्रैंप्स से छुटकारा पाना चाहती हैं तो अपनाएं यह टिप्स