googlenews
a bath on your period

हम उस देश का हिस्सा है जहां आज भी पीरियड्स के बारे में कोई भी खुलकर बात नहीं करना चाहता। हमारे समाज में इसे अपवित्र माना जाता है। बात जब पीरियड्स की आती है तो लोगों के बीच कई तरह के मिथ भी हैं। ये मिथ कोई आज के  नहीं है, बल्कि दादी और नानी के जमाने से सुनते चले आ रहे हैं। यही वो मिथ हैं जिन्होंने आज हमारे मन में अलग अलग धारणाएँ बना दी हैं। जिन्हें हम पूरी तरह से गलत करार भी देंगे तो सही होगा। अक्सर महिलाओं को उनके पीरियड्स के समय कई तरह की हिदायतें दी जाती हैं, उन हिदायतों में से एक है पीरियड्स के दौरान नहीं नहाने की। आज का हमारा ये खास लेख इसी विषय पर आधारित है, जहां आज हम इस मिथ को भी हमेशा के लिए खत्म कर देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं।

a bath on your period
  1. पीरियड्स में नहाना क्यों अच्छा?- ऐसी कई महिलाएं हैं जिन्हें पीरियड्स के दौरान नहाना बेहद पसंद होता है। नहाने से मूड फ्रेश तो होता ही है साथ में टेंशन का स्तर भी काफी कम हो जाता है। क्योंकि पीरियड्स के टेंशन भरे भी हो सकते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए नहाना काफी अच्छा और बेहतर विकल्प है।

  1. पीरियड्स में नहाने के कई फायदे– जो लोग ये कहते हैं कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं को नहाना नहीं चाहिए, तो अब उन्हें झूठा साबित करने का वक्त आ गया है। पीरियड में अगर आप नहाती हैं, तो आपको कई तरह के फायदे मिलेंगे, और वो फायदे क्या हैं आइये जानते हैं।

  • पेट में ऐंठन से राहत– पीरियड्स के दौरान पेट में ऐंठन की समस्या आम है। अगर इस सिचुएशन में आप हल्के गुनगुने पानी से नहाती हैं तो आपको काफी राहत मिलेगी। अगर आप पानी में थोड़ा सा नामक मिलाकर नहाएंगी तो मांसपेशियों के दर्द से भी राहत मिलेगी।

  • हाइजिन भी रहना जरूरी– पीरियड्स के दौरान साफ़ सफाई का खास ख्याल रखना चाहिए। हर रोज नहाना हाइजिन रहने का सबसे बढ़िया तरीका है। 

  • बदबू से मिलेगी राहत– कई महिलाओं के पीरियड्स बदबू भरे होते हैं। ऐसे में अगर हर रोज नहाएंगी तो इस समस्या से भी राहत मिलेगी।

  • आराम भी जरूरी– अगर आप पीरियड्स के दौरान नहाती हैं, तो आप इसके आराम को महसूस भी करती होंगी। आप नहाने के पानी में अरोमा ऑयल या लैवेंडर ऑयल की कुछ बूंदे मिलाइए। आपको काफी आराम महसूस होगा।

    a bath on your period
  1. ये सलाह भी जरूरी– पीरियड्स के दौरान नहाना पूरी तरह से सुरक्षित है। हालंकि आपको इस बात की सलाह खुद जानकार और डॉक्टर भी देंगे। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। इससे ना सिर्फ आप अपना शरीर साफ़ रख सकेंगी बल्कि किसी भी तरस के संक्रमण से भी अपना बचाव कर सकेंगी।

  2. ये जानकारी भी जरूरी-शायद ही कोई ऐसी महिला हो जिसे पीरियड्स से जुड़ी बेसिक नॉलेज के बारे में जानकारी ना हो। लेकिन कुछ जानकारियाँ ऐसी भी हैं, जिनके बारे में शायद ही आपको मालूम हो। तो चलिए जान लेते हैं, इन जानकारियों के बारे में भी।

  • नहाने के बाद जरुर बदलें पैड– नहाना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी आपके लिए संक्रमण को दूर रखना है। आप नहाते समय प्यूबिक एरिया को अच्छे से साफ़ करें। और एक लीकफ्री पैंटी का इस्तेमाल करें।

  • टैम्पोन है अच्छा विकल्प– गर्म पानी ब्लीडिंग को बढ़ा सकता है। ऐसे में टेम्पोन एक अच्छा विकल्प है। आप जितनी देर नहा रही हैं उसे इस्तेमाल करें। और फिर बाद में इसे हटा भी सकती हैं।

  • ना दिखाएं आक्रामकता– ज्यादातर महिलाएं पीरियड्स के दौरान अपने प्यूबिक एरिया को काफी आक्रामक तरीके से साफ़ करती हैं। ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए। बता दें योनि का पीएच लेवल काफी नाजुक होता है। इसलिए आपको उस जगह पर साबुन और स्क्रबिंग का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

  1. क्या कहते हैं जानकार?- महिलाओं की योनि काफी नाजुक होती है। जहां संक्रमण फैलने का खतरा भी सबसे ज्यादा होता है। जानकारों की मानें तो पीरियड्स के दौरान योनि को साफ़ रखना बेहद जरूरी है। आप चाहें तो इसके लिए डॉक्टर से सलाह भी ले सकती हैं। ऐसे में योनि को हमेशा गुनगुने पानी से ही साफ़ करें। साथ ही हमेशा साफ़ पैंटी और कॉटन के पैड का ही इस्तेमाल करें।

तो ये था पीरियड्स से जुड़ा ऐसा मिथ, जो गलत है। अगर आप भी अपने पीरियड्स के दौरान नहीं नहाती तो नहाना शुरू कर दीजिये। क्योंकि इससे आप हाइजिन भी रहेंगी और बिमारियों से दूर भी रहेंगी।

यह भी पढ़ें-

अनियमित पीरियड के लक्षण और उपचार

7 पीरियड बंद होने के लक्षण जिन्हें आपको इग्नोर नहीं करना चाहिए

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com