किचन एक ऐसी जगह है जहां से ही परिवार की सेहत तय होती है। किचन में बनने वाले खाने से लेकर वहां अपनाई जा रहा स्वच्छता का स्तर तय करता है कि आप कितने स्वस्थ रह सकते हैं। जिस तरह खाने में स्वाद मायने रखता है, उसी तरह इस स्वाद के पीछे का हाइजीन जरूरी है। अपने परिवार को स्वस्थ भोजन देने के लिए फूड सेफ्टी बहुत जरूरी है। भोजन किस तरीके से बनाया गया है, उसे कहां स्टोर किया है, यह सभी बातें भोजन को खराब और दूषित होना तय करती है। ऐसे दूषित भोजन को खाने से बीमारियां घेर सकती है और संक्रमण का खतरा फैल रखता है। बैक्टीरिया वाला भोजन तभी खाने में आता है जब फूड सेफ्टी के नियमों को नजर अंदाज किया जाता है। यहां जानिए 7 फूड सेफ्टी टिप्स जो परिवार की सेहत से समझौता नहीं करने देंगे।

हर बार हाथ धोए

सबसे पहला नियम तो यह है कि किचन में घुसने से पहले ही हाथ अच्छी तरह धोएं क्योंकि अगर ऐसा नहीं किया तो हाथों की गंदगी से भोजन दूषित होगा। उसमें भी बीच-बीच में खाना बनाते समय हाथ धोना जरूरी है। कई महिलाओं को लगता है कि वह तो हर बार हाथ धोती हैं लेकिन वह सही तरीके से धो रही है या नहीं इसका ध्यान नहीं रहता है। कम से कम 20 सेकंड हाथ धोने का नियम यहां भी लागू करें।

सही टेम्परेचर पर रखा हो भोजन

खाना बनने के बाद उसे सही टेम्परेचर में रखना महत्वपूर्ण है और यह भी फूड सेफ्टी के अंतर्गत आता है। भोजन या तो ठंडा या गर्म रखना चाहिए। 40 डिग्री और 140 डिग्री के बीच की रखे गए खाने में बैक्टीरिया सबसे आसानी से बढ़ते हैं। इसलिए किसी भी हालत में टेम्परेचर को इग्नोर न करें।

फ्रिज में रखना न भूलें

मौसम कोई भी हो बचे हुए खाने को फ्रिज में रखें। खाना बनने के बहुत समय बाद तक उसी फ्रिज में न रखना गलती है। रूम टेम्परेचर पर न छोड़ें। ऐसा न करने पर खाने में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं और बैक्टीरिया युक्त खाना खिलाएंगे तो फूड पॉइजनिंग का खतरा हो सकता है।

अलग-अलग हो कटिंग बोर्ड्स

किचन में वेज और नॉन वेज कटिंह बोर्ड्स अलग होने चाहिए और ऐसे होने चाहिए जिन्हें आसानी से साफ किया जा सके।

बीमारी में न बनाएं खाना

किसी भी तरह की बीमारी में किचन में जाना ठीक नहीं है। सर्दी-जुकाम से लेकर त्वचा पर कोई घाव या चोट हो उस स्थिति में खाना बनाना तो दूर सर्व भी न करें।

किचन स्टैंड को साफ रखें

कई महिलाओं को लगता है कि खाना बनाने का पूरा काम हो जाए तब वे किचन स्टैंड क्लीन करेंगी। लेकिन ऐसी सोच नहीं होना चाहिए। उपयोग के पहले और बाद में तो जरूर साफ करें।

फर्श या डायनिंग टेबल साफ करना न भूलें

भोजन करने के बाद डायनिंग टेबल साफ करने में आलस न करें। अगर संभव हो तो पहले भी साफ करें। फर्श पर बैठकर खा रहे हैं तो नीचे गिरे कण जरूर डिस्कार्ड करें।

यह भी पढ़ें:

इन 10 तरीकों से बनाएं अपने किचन को ज्यादा इको-फ्रेंडली

चावल बच जाएं तो इसमें लाइए थोड़ा-सा ट्विस्ट, पढ़िए 5 स्वादिष्ट रेसिपी