कहते हैं पहला सुख निरोगी काया और आज के समय में लोग हेल्दी रहने के लिए अपने खान-पान को लेकर अधिक सजग हो गए हैं। इतना ही नहीं, लोगों की इन्हीं सजगता को देखते हुए कई ब्रांड्स अपने कुछ फूड आइटम्स को हेल्थ के लिए अच्छा बताकर बेच रही हैं। हालांकि, उनकी इस बात में कितनी सच्चाई है, यह कोई नहीं जानता। ऐसे कई पॉपुलर फूड्स है, जिन्हें आम लोगों द्वारा काफी हेल्दी माना जाता है और इसलिए लोग इन्हें खाना पसंद करते हैं। हालांकि, यह उतने भी हेल्दी नहीं होते। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको ऐसे ही कुछ हेल्दी फूड्स के बारे में बता रहे हैं, जो वास्तव में आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा रहे हैं-

व्हीट ब्रेड

 

 

आमतौर पर, इन दिनों लोग व्हाइट ब्रेड की जगह ब्राउन ब्रेड या व्हीट ब्रेड का सेवन करने लगे हैं और उन्हें यह लगता है कि यह अधिक हेल्दी है। हालांकि, यह पूरी तरह सच नहीं है। अगर आपकी ब्रेड 100 प्रतिशत होल व्हीट नहीं है तो ऐसे में इसकी वजह से आपका शुगर स्पाइक हो सकता है और वह भी कोई पोषक तत्व प्राप्त किए बिना। इसलिए अगर आप ब्रेड खाना चाहती हैं तो 100 प्रतिशत होल व्हीट ब्रेड या मल्टीग्रेन ब्रेड का चयन करें। 

ड्राइड फ्रूट

 

 

ड्राइड फ्रूट को भी बेहद हेल्दी माना जाता है। यह सच है कि इसमें फाइबर है। लेकिन एक सच यह भी है कि इसे लंबे समय तक संरक्षित रखने के लिए इसमें चीनी और सल्फर का इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं, चूंकि फल सूख जाता है, इसलिए इसकी ताजा समकक्ष की तुलना में प्रति मात्रा कम से कम 3 गुना अधिक कैलोरी होती है। केले के चिप्स के एक बैग में केले की तुलना में तीन गुना अधिक कैलोरी और 20 प्रतिशत अधिक वसा होती है। इसलिए हमेशा ताजे फलों का सेवन करना अधिक अच्छा माना जाता है। यह आपको लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराएगा, और आपको वे सभी पोषक तत्व प्राप्त होंगे जो सुखाने की प्रक्रिया में नहीं निकाले गए थे।

फ्लेवर्ड सोया मिल्क

 

 

हां, सोया प्रोटीन और पोटेशियम का स्रोत हो सकता है। लेकिन वेनिला या चॉकलेट फ्लेवर पीने से प्रति कप 10 ग्राम चीनी और 50 कैलोरी अतिरिक्त मिलती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप रेग्युलर सोया मिल्क पर स्वैप करें। इसकी जगह साधारण दूध या बादाम दूध का सेवन भी किया जा सकता है। 

फैट फ्री फ्लेवर्ड योगर्ट

कुछ लोग फैट को सेहत के लिए अच्छा नहीं मानते और इसलिए फैट फ्री फूड को अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं। लेकिन फैट फ्री प्रॉडक्ट सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं होते। याद रखें कि वसा आपको मोटा नहीं बनाती, चीनी आपको मोटा बनाती है। अधिकांश फ्लेवर्ड योगर्ट 6 औंस में 15 ग्राम चीनी होती है। भले ही आपको उसमें से फलों की महक आए, लेकिन वे स्वस्थ नहीं हैं। इसलिए इसे ग्रीक योगर्ट ताजे कटे फलों के साथ स्वैप करें। यदि आप वह अतिरिक्त मिठास चाहते हैं, तो शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं।

ग्रेनोला बार

 

 

अक्सर आपको मार्केट में ग्रेनोला के बार्स मिलते होंगे, जिन्हें आप हेल्दी समझकर खाते भी होंगे। ग्रेनोला खुद में भले ही एक बेहतरीन सेरल्स हो, लेकिन जब इसे बार्स के रूप में पैक किया जाता है तो इसमें काफी मात्रा में चीनी शामिल की जाती है। यह चीनी इसके टेस्ट को भले ही बेहतरीन बनाए, लेकिन यह वास्तव में बेहद अनहेल्दी होते हैं और इसलिए इस तरह के बार का सेवन ना करने की सलाह दी जाती है।

डाइट कोक

 

 

 

कुछ लोग डाइट कोक को कैलोरी फ्री और फैट फ्री समझकर पीते हैं, लेकिन शायद आपको पता ना हो, लेकिन यह सेहत के लिए बेहद ही हानिकारक है। दरअसल, इसे बनाते समय आर्टिफिशियल शुगर और कार्बोनेटेड वाटर का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें इसमें कोई पोषक सामग्री नहीं है और शरीर में गंभीर निर्जलीकरण का कारण बन सकती है। इसे बनाते समय चीनी के बजाय, एएसपीआरटीम नामक एक कृत्रिम स्वीटनर इसमें शामिल किया जाता है जिसे शरीर में वसा कोशिकाओं के उत्पादन में वृद्धि करने के लिए जाना जाता है। इस प्रकार, जहां तक हो सके, इस तरह की ड्रिंक्स का सेवन करने से बचें।

यह भी पढ़ें- जेगिंग्स में स्टाइलिश दिखने के लिए कुछ इस तरह करें इसे पेयर

किचन संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही किचन से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com