हम सब इस बात को जानते हैं कि बदलाव जीवन का नियम है। जिसे किसी भी तरह से टाला नहीं जा सकता। इस बदलाव के साथ हमें खुद को ढालना ही होता है, जो आसान काम नहीं है। यही बात बढ़ती हुई उम्र के साथ और उससे जुड़ी डिजायर और परफोर्मेंस पर भी लागू होती है। जैसे जैसे हमारी बढ़ती है, वैसे वैसे बढ़ती हुई उम्र के साथ सेक्सुअल डिजायर में भी बदलाव आते हैं। एक उम्र के बाद ये स्थिति हर किसी के जीवन में आती है। जिसे हमें ना चाहते हुए भी अपनाना पड़ता है। ये डिजायर उम्र बढने के साथ घटती है। बहुत से लोग हैं जो इस ओर कोई ध्यान नहीं देते।उम्र बढ़ने के साथ स्त्री और पुरुष दोनों में शारीरिक तौर पर कई तरह के बदलाव होते हैं। जिससे हर चीज की अपेक्षा भी कम होने लगती है। आज इस ख़ास विषय पर आधारित हमारा ये लेख आपको बताएगा कि कैसे एक सेक्स ड्राइव साल दर साल अपने में बदलाव करता है। जो कभी कभी समस्या का कारण भी बन सकती है। चलिए जानते हैं सेक्स से जुड़े तथ्य जो अभी भी पूरी तरह नहीं मालूम

1. बीस साल का युवा– अगर हम बात किसी 20 साल के नौजवान युवा की बात करें तो इस उम्र में सेक्स ड्राइव काफी उत्तेजित होती हो। इस उम्र में अक्सर युवा सेक्स लाइफ के बारे में ही सोच सकता है। ऐसा सिर्फ अनुभवहीनता के कारण होता है। शोध के मुताबिक ये स्थिति मानसिक और शारीरिक हेल्थ की समस्या का कारण होती है। जिससे दिल तक की बिमारी हो सकती है।

2. बीस साल की युवती– अधिकतर इस उम्र की युवतियां अपने शारीरिक बदलाव का सामना कर रही होती हैं। इस उम्र में वो सेक्स करने के बारे में अपना मत रख सकती हैं। इस बात का स्पष्ट नहीं कि ऐसा क्यों है। शोध की आनें तो महिलाओं में इच्छा की वृद्धि हो सकती है।

3. 30 से 40 की उम्र के पुरुष– इस उम्र के पुरुषों में सेक्स ड्राइव जारी होती है। हालांकि 35 साल की उम्र तक आते-आते  टेस्टोस्टेरोन कम होने लगता है। वहीं कुछ पुरुषों में ये तेज भी हो सकता है।

4. 30 से 40 की उम्र की महिला– लाइफ का यह एक ऐसा समय होता है जब, महिलाओं मं सेक्स ड्राइव मजबूत होती है। शोध के मुताबिक 27 साल से  45 साल के बीच की महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा लगातार और बढ़ती है।

5. 50 साल के पुरुष– अगर उम्र के इस पड़ाव में आने के बाद भी आप शारीरिक और मानसिक तौर पर हेल्दी हैं तो आप सेक्स लाइफ को जारी रख सकते हैं। इस उम्र में भी सेक्स लाइफ सही रहती है तो जितनी भी स्वाथ्य समस्याएं हैं जो, उम्र के साथ समान्य होती जाती है

6. 50 साल की महिलाएं- इस उम्र में महिलाएं सेक्स को लेकर टेंशन फ्री हो जाती हैं । महिलाओं में पिरिड्स बंद होने के बाद महिलाओं में एस्ट्रोजन का स्तर गिरता जाता है। जिससे सेक्स की चाहत कम हो सकती है। इस विषय में अप्पने डॉक्टर से भी सलाह ले सकती हैं।

7. डॉक्टर की लें मदद– आप खुलकर अपने डॉक्टर से अपनी सेक्स ड्राइव के बारे में बात करें। क्योंकि ये आपकी शारीरिक समस्या हो सकती है। एक सही डॉक्टर सही इलाज से सेक्स ड्राइव और यौन उत्तेजना को बढ़ा सकता है।

8. खुलकर करें बात- आपको हमारी सलाह यही होगी कि आप अपने साथी से उनकी जरूरतों और इच्छाओं के बारे में बात करें। बदलते समय के साथ जैसे जैसे शरीर का विकास होता है। वैसे वैसे भावनाएं भी बदलती जाती हैं। आप अपने और अपने पार्टनर के शरीर और भावनाओं के बारे में ईमानदारी दिखाएं और उनका सम्मान करें। 

उम्र चाहे कोई भी हो, अपने पार्टनर के साथ बिताए हुए खास पल जीवन का सबसे बड़ा सुख होता है। बदलती उम्र के सरह सेक्स ड्राइव में बदलाव भी पूरी तरह प्राकृतिक होता है। अगर उम्र के दौरान आपको सेक्स को लकर परेशानी सताए तो समय पर किसी विशेषज्ञ से सलाह जरुर लें। ताकि सही समय में सही इलाज किया जा सके।

यह भी पढ़ें-

कामसूत्र यानी सेक्स में रोमांच

सिर्फ पांच मिनट में अपना खराब मूड अच्छा करने के लिए अपनाएं ये 7 टिप्स