googlenews
Fexting Problem: क्यों आपको टेक्स्ट मैसेज पर नहीं झगड़ना चाहिए?
Fexting Problem

Fexting Problem: रिश्ते में कभी प्यार भरा समय तो कभी लड़ाइयां चलती ही रहती हैं। लेकिन अब हम रिश्ते भी टेक्नोलॉजी के आधार पर ही निभा रहे हैं। अगर हमें अपना प्यार शो करना होता है तो भी हम मैसेज आदि के माध्यम से करते है और अगर हमें अपना गुस्सा या नफरत दिखानी होती है तो भी हम तकनीक का ही सहारा लेते हैं। लेकिन यह काफी बुरी बात है। अगर आपका कभी झगड़ा हो जाता है तो आपको टेक्स्ट मैसेज (fexting) पर नहीं झगड़ना चाहिए।

अगर लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशन है तो भी आपको टेक्स्ट के माध्यम से ही अपने सारे भावों को प्रकट नहीं करना चाहिए। लड़ाई झगड़े के समय आपको फेस टू फेस ही रहना चाहिए और यहां से जो नतीजे निकलेंगे वह ज्यादा बेहतर होंगे। टेक्स्ट मैसेज पर न लड़ने के काफी अलग अलग कारण हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं क्यों आपको टेक्स्ट मैसेज पर कभी लड़ना नहीं चाहिए।

टेक्स्ट में टोन का पता नहीं लग पाता है

Fexting Problem
Can’t detect tone in text

अगर आप किसी से टेक्स्ट मैसेज में बात कर रहे हैं तो आपको उनके लहजे और उनकी टोन का पता नहीं लग पाता है कि किस ढंग से वह मैसेज भेज रहे हों। हो सकता है वह किसी काम की वजह से फ्रस्ट्रेट हों और आपसे बात न कर पा रहे हों और आप इसका कुछ और ही मतलब निकाल जाएं। या हो सकता है वह आपसे सच में ही बात नहीं करना चाहते हों और केवल फॉर्मेलिटी के लिए ही मैसेज कर रहे हों और आप इसे प्यार समझ जाए। इसलिए अगर कोई आपसे ज्यादा प्रेम या फिर लड़ाई झगड़े के समय टेक्स्ट में बात करता है तो आपको कॉल करनी चाहिए या फेस टू फेस बात करनी चाहिए।

आप फेशियल एक्सप्रेशन नहीं देख सकते हैं

किसी बात को कोई व्यक्ति कितनी गंभीरता से या कितनी कैसुअलिटी के साथ कह रहा है इसका पता उसके फेशियल एक्सप्रेशन को देखते हुए लगाया जा सकता है। आप व्यक्ति की आंखों में देख कर बता सकते हैं कि वह सच बोल रहा है या झूठ, या फिर वह कितने गुस्से में है। लेकिन टेक्स्ट मैसेज के केस में आपको व्यक्ति के फेशियल एक्सप्रेशन ही नहीं दिखते हैं और यह पता नहीं लग पाता है कि वह किस मूड के साथ बातें कह रहा है। इसलिए फेशियल एक्सप्रेशन एक कन्वर्सेशन में महत्त्वपूर्ण किरदार निभाते हैं।

इससे कोई हल नहीं निकलता

अगर आप केवल टेक्स्ट मैसेज पर ही लड़ते रहेंगे तो सामने वाला व्यक्ति आपकी बुराई करता रहेगा और आप उसकी। इससे आप दोनों को ही और ज्यादा गुस्सा आने लगेगा और आप दोनों का कोई सॉल्यूशन नहीं निकलने वाला है। ज्यादा से ज्यादा आप एक दूसरे को ब्लॉक कर देंगे। लेकिन अगर आप सच में ही चीजों को सुलझाना चाहते हैं तो आपको एक दूसरे से मिलना चाहिए।
रिप्लाई आने में देर बन सकती है

निराशा का कारण

Fexting Problem
Cause of despair

अगर आप गुस्से में अपने पार्टनर को कई सारे मैसेज भेज रहे हैं लेकिन वह देख नहीं रहा है या फिर देख कर रिप्लाई नहीं कर रहा है तो आप काफी ज्यादा फ्रस्ट्रेट हो सकते हैं। इससे आपका गुस्सा और ज्यादा ही बढ़ सकता है और बात ज्यादा बिगड़ सकती है।

एक दूसरे को कैसे मनाएं

Fexting Problem
You can solve with little cute antics

आप छोटी छोटी क्यूट हरकतों से समाधान कर सकते हैं कई बार अगर आपका पार्टनर किसी मूड स्विंग या फिर ज्यादा छोटी बात को लेकर गुस्से में होता है तो आप उसे किस करके सारी बात सुलझा सकते हैं लेकिन टेक्सटिंग के समय आप ऐसा नहीं कर पाते हैं। इससे आपके पार्टनर को वह केयर और अटेंशन नहीं मिल पाती है जो उसे मिलनी चाहिए। तो बेहतर ऑप्शन यही है कि आप एक दूसरे से टेक्स्ट में लड़ने की बजाए मिलें और फेस टू फेस बात करें ताकि कोई समाधान निकल पाए।

Leave a comment