googlenews
relation

Busy Husband: आज बढ़ती हुई भागदौड़ के कारण सीमित आय में घर चलाना बहुत मुश्किल है। इसलिए अपनी आय में वृद्धि के उद्देश्य से पति अपने कार्य में ज्यादा व्यस्त रहते हैं। बहुत से पति तो पार्ट टाइम जॉब भी करते हैं। ताकि घर की सब जरूरतों को बखूबी निभा सके इसी वजह से वह काफी थक जाते हैं और अपने परिवार को समय नहीं दे पाते । लेकिन इस वजह से घर का वातावरण तनावपूर्ण रखना उचित नहीं। ऐसे में पत्नी की जिम्मेदारी बनती है कि वह पति की परेशानी को समझे। हालांकि आज के समय में 60 परसेंट पति पत्नी दोनों ही वर्किंग है। इसलिए घर की जिम्मेदारी दोनों के ही कंधों पर है और दोनों को ही एक दूसरे को समझना जरूरी है। लेकिन मैं बात कर रही हूं उन पत्नियों की जो घरेलू महिलाएं हैं। वह किस प्रकार अपने पति का सहयोग कर सकती हैं।

  1. सबसे पहले तो यदि पति अत्यधिक व्यस्त है तो उनके काम को समझें ना की बाधा डाले। यदि आप वास्तव में उनकी सहचरी बनना चाहती हैं तो उनके कार्य में मदद करें। आप अपने को अन्यत्र व्यस्त रखने का प्रयास करें ।जिससे आपके दिमाग में अपने पति के प्रति उल्टी-सीधी बातें घर ना करें।
  2. यदि आपके पति जरूरत से ज्यादा व्यस्त रहते हैं तो पत्नी होने के नाते आप उनकी मानसिक व शारीरिक थकान दूर करने के लिए उन्हें पौष्टिक आहार दें। क्योंकि अधिकतर पति काम की अधिकता के कारण इतने थक जाते हैं कि घर आते ही पलंग पकड़ लेते हैं। जबकि आप कुछ और चाहती हैं इसलिए पति को उचित आहार दें।
  3. यदि आपके पति की आय अधिक नहीं है और वह अपनी शक्ति एवं क्षमता से ज्यादा मेहनत करते हैं, तो आप उन्हें आर्थिक रूप से भी मदद कर सकती हैं। इसके लिए आप वर्क फ्रॉम होम, जैसा आपका इंटरेस्ट हो उसके अनुसार काम तलाशें। इस प्रकार आप बच्चों की देखभाल और घर की देखभाल के साथ भी कुछ आय का स्रोत बनेंगी।
  4. बहुत से पतियों की जॉब अक्सर घर से बाहर रहने की होती है। और उनको अफसर ट्रिप पर जाना पड़ता है। इस बात के लिए उनसे झगड़ने की बजाए उनकी परिस्थिति को समझें और यदि कोई खास ओकेजन हो तो उसके लिए पहले से ही अपने पति को याद दिला दें। ताकि वह उन दिनों पर ट्रिप पर ना जाएं। जैसे कि बच्चे का जन्मदिन या शादी की सालगिरह।कई बार ऐसा भी हो सकता है कि आपके पति चाहते हुए भी उस खास दिन घर पर ना रह पाए। ऐसे में मुंह फुलाने की जगह जब वह आपके साथ हों तब उस दिन को सेलिब्रेट करें।
  5. कुछ पतियों की नौकरी ऐसी होती है कि उन्हें बार-बार दौरे पर जाना पड़ता है। दौरे पर जाने से लाभ होता है किंतु कुछ पति पैसा कमाने के चक्कर में आए दिन बाहर ही रहना पसंद करते हैं। ऐसे में आप सतर्क जरूर रहे कि कहीं वह किसी अन्य कारण से या फिर आपकी ओर उदास होने के कारण तो जल्दी-जल्दी दौरे पर नहीं जा रहे। यदि आपको ऐसा कुछ महसूस होता है तो पति से बैठ कर बात करें और समस्याओं को सुलझाएं।
  6. दांपत्य जीवन में शारीरिक संबंधों का अपना अलग ही महत्व है। अगर इसे पति पत्नी के बीच आपसी संबंधों को सुदृढ़ करने का आधार कहा जाए तो गलत नहीं होगा। जो पति अधिकतर बाहर रहते हैं या जो पति देर से घर लौटते हैं और थकान के कारण आते ही सो जाते हैं। पत्नी से अधिक बातचीत नहीं करते। ऐसे पतियों के साथ पत्नियों को बुद्धिमानी से काम लेना चाहिए। आप अपने पति को मनचाही चीजें बनाकर पेश करें। उनके आने से पहले ही अपने आप को संवार लें। जिससे आते ही उनकी निगाह आप पर पड़े और वह सारी थकान भूल जाएं।
  7. यानी उचित यही है कि यदि आपके पति अपनी नौकरी या काम धंधे के कारण अत्यधिक व्यस्त रहते हैं तो आप को समय नहीं दे पा रहे। आप उन्हें गलत ना समझे। बल्कि उनकी मजबूरी को समझने का प्रयास करें। उनके साथ सामंजस्य रखें। जिससे आपका दांपत्य जीवन हर हाल में खुश रहे।

यह भी पढ़ें-

हैप्पी सेक्स लाइफ के लिए चरम सुख पाने के 11 तरीके 

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए साथी से बात करें