सिर्फ महिलाओं में ही नहीं बल्कि पुरुषों में भी कई तरह की सेक्स प्रॉब्लम पाई जाती हैं, जिसकी वजह से वह अकसर परेशान रहते हैं और हिचकिचाहट की वजह से उन समस्याओं को न तो किसी से कह पाते हैं और ना ही डाक्टर के पास जाते हैं जोकि सही नहीं है। सेक्सोलॉजिस्ट डॉक्टर बीर सिंह  कहते हैं कि पुरुष अगर अपनी प्रॉब्लम को लेकर डाक्टर के पास जाएं तो उसका पूरा इलाज संभव है। आइए आपको बताते हैं पुरुषों की कुछ कॉमन सेक्स प्रॉब्लम्स के बारे में-
 
1. इरेक्टाइल डिस्फंक्शन
कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो सहवास करने की इच्छा तो रखते हैं लेकिन उनका लिंग में जल्दी तनाव नहीं बनाता। तनाव आने पर भी अकसर ये जल्दी खत्म हो जाता है जिसकी वजह से पुरुष अपने पार्टनर को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाता। 
 
उपाय- जिन लोगों को ये समस्या हो, उन्हें अपना ब्लड शुगर चेक कराना चाहिए। डायबिटीज के मरीजों में सेक्सचक्र में कामेच्छा और चरम तो नॉर्मल ही बना रहता है पर प्राइवेट पार्ट में तनाव आने में दिक्कत हो सकती है। अगर शुगर के कंट्रोल होने के बाद भी तनाव में कमी बनी हुई है तो ऐसी अवस्था में वायग्रा की एक गोली लेना सही रहता है लेकिन इसे अपने डॉक्टर से पूछ कर ही लेना चाहिए। हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोग जैसी बीमारियों में भी यह हो सकता है इसलिए अपनी इन सभी बीमारियों को ठीक रखेंगे तो इस समस्या से भी छुटकारा पा लेंगे। अगर आपको लैपटॉप को अपने प्राइवेट पार्ट पर रखकर काम करने की आदत है, तो इसे तुरंत बदलें। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के रोगी को प्रतिदिन हल्का व्यायाम करना चाहिए, इससे यह समस्या कम होती है। साथ ही अगर आप बहुत अधिक तेल और मसाले युक्त भोजन करते हैं या फिर किसी भी तरह के नशे के शिकार हैं तो उससे बचना चाहिए, इससे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की प्रॉब्लम काफी हद तक ठीक हो सकती है।
 
2. टेस्टोस्टेरोन की कमी- टेस्टोस्टेरोन एक मेल हार्मोन होता है, जो पुरुष यौन क्षमता को बढ़ाता है। कई बार देखने में आता है कि पुरुष में सेक्स की चाहत कम होती है और इसकी एक बड़ी वजह सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन की कमी का होना है। पुरुषों में 40 की उम्र के पार होने पर रक्त में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा में कमी आ जाती है। हार्मोन में कमी उम्र के साथ जुड़ी समस्या है लेकिन कुछ लोग अपनी उम्र के शुरुआत में ही इससे परेशान हो जाते हैं। वैसे इस हार्मोन के कम होने के कई कारण हैं जैसे कि अत्यधिक मानसिक तनाव के कारण भी इस हार्मोन का स्तर गिरता है। कई बार आहार भी पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करते हैं, जैसे कि फास्ट फूड, तैलीय भोजन, शराब और प्रोसेस्ड फूड।
 
उपाय- इसकी दवाएं अलग होती हैं। टेस्ट करके हार्मोन के कारणों का पता किया जाता है। इसके बाद इंजेक्शन, दवाएं या सर्जरी आदि से इलाज किया जाता है। इसके अलावा ज़िक और मैग्नीशियम जैसे खनिज शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं अत: इन खाद्य पदार्थों का सेवन बहुत जरूरी है। कई बार वजन ज्यादा होने की वजह से भी यह समस्या हो जाती है इसलिए वजन नियंत्रित रखना जरूरी है, मीठा कम से कम खाएं, खूब पानी पीना भी इसमें फायदेमंद रहता है।
 
3. शीघ्रपतन की समस्या- यह पुरुषों में होने वाली सामान्य सेक्स समस्या है। जब किसी पुरुष में वीर्य पतन उसके इच्छा से पूर्व ही हो जाता है अथवा संसर्ग के समय वह बहुत जल्दी ही वीर्य स्खलित कर देता है, तो उसे शीघ्रपतन कहा जाता है। डाक्टरी भाषा में इंटरकोर्स शुरू होने से 60 सेकंड के भीतर ही यदि किसी पुरुष का वीर्य स्खलन हो जाए तो इसे शीघ्रपतन कहा जाता है। इस समस्या के कारण पुरुष संभोग के दौरान अपने साथी को संतुष्ट नहीं कर पाता है।
 
उपाय- सबसे पहले तो यह बात जान लें कि यह बीमारी लाइलाज नहीं है लेकिन इसका इलाज ना कराने जैसी लापरवाही भी ना बरते वरना प्रॉब्लम बढ़ती ही जाएगी। इस समस्या में अल्कोहल का सेवन बंद कर देना चाहिए। सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी ना करें। साथ ही इस समय मन में किसी तरह की कोई चिंता, तनाव और भय नहीं होना चाहिए। संभोग से पहले फोरप्ले में अधिक समय लगाएं। इस स्थिति में एस्परगस और दूध लाभदायक होता है। केसर भी इसका रामबाण इलाज है। इसके अलावा अदरक, शहद, जायफल, प्याज के बीज, तरबूज भी इसके लिए लाभकारी हैं। एक बार सेक्स करने में 400 से 500 कैलोरी की खपत होती है इसलिए सेक्स के दौरान बीच-बीच में जूस, दूध, ग्लूकोज आदि भी ले सकते है।
 
4. पेनिस का साइज- बहुत सारे पुरुष अपने लिंग के आकार को लेकर भी परेशान रहते हैं और हीन भावना का शिकार हो जाते हैं। यही वजह है कि वह सेक्स से घबराने लगते हैं और अपने भीतर मौजूद संभोग की इच्छाओं को दबाते हैं और इससे बचने की कोशिश करते हैं। यह समस्या मेडिकल से ज्यादा मेंटली है।
 
उपाय- सच्चाई यह है कि यह मेडिकली भी प्रमाणित हो चुका है कि सेक्स को एन्जॉय करने के लिए लिंग का साइज कोई मायने नहीं रखता। आपके लिंग का आकार बड़ा हो या छोटा आप अपने साथी को पूरी तरह संतुष्ट कर सकते हैं। तो अब आपको लिंग के आकार के बारे में चिंतित होने की जरूर नहीं है। अगर आप जंक फूड खानेे के शौकीन हैं तो इनसे बचें। इसके अलावा अगर आप शारीरिक मेहनत और एक्सरसाइज नहीं करते हैं तो धमनियों में कोलेस्ट्रोल बढऩे का खतरा भी कम रहता है, जिससे लिंग में ब्लड सर्कुलेशन कम होने लगता है, इसलिए हाई कैलोरी फूड से बचें।
खजूर कई तरह के स्वास्थ्यवर्धक गुणों से परिपूर्ण होता है। यह तासीर में गर्म होता है, खजूर खाकर शरीर को उर्जा मिलती है। साथ ही यह शरीर को मजबूत और गुप्त अंगों को कमजोर होने से रोकता है।