घुमक्कड़ी में थोड़ी भी रुचि रखने वाले लोगों को एक खास शहर जरूर ही आकर्षित करता होगा। ये शहर है भुवनेश्वर। ओडिसा की राजधानी भुवनेश्वर को मंदिरों का शहर कहा जाता है। यहां प्राचीन काल के मंदिरों के साथ संस्कृति के भी दर्शन हो जाते हैं।ये शहर आपको शांति और सुकून के साथ प्रकृति से भी रूबरू कराएगा। कुल मिलाकर ये शहर आपको सिर्फ खुशी देगा और यात्रा की संतुष्टि भी। इसके बाद भी अगर आप यहां सिर्फ 24 घंटे के लिए आ रही हैं तो आपको क्या-क्या देखना चाहिए,ये लिस्ट तैयार कर लीजिए। क्योंकि जब लिस्ट तैयार होगी तो एक दिन के कम समय में भी आप घूमने का ज्यादा से ज्यादा आनंद ले पाएंगी। एक दिन में भुवनेश्वर घूमने की प्लानिंग कैसे करेंगी?जवाब में हमारी लिस्ट तैयार है-

भुवनेश्वर की शान कोणार्क सन टेंपल-ये मंदिर भुवनेश्वर की शान है। इसको देखने के लिए पूरी दुनिया से लोग आते हैं। कहा जाता है सूरज की पहली किरण इस मंदिर के द्वार पर ही पड़ती है। इस मंदिर की कलाकृतियां और इतिहास आपका दिल जीत लेगा। ये एक ऐसी जगह है जहां कुछ देर की लिए ही सही पर आपको आना जरूर चाहिए। यहां आपको कोणार्क म्यूजियम भी देखने का मौका मिलेगा। साथ ही इस मंदिर के आस पास ही आपको कई बीच भी मिलेंगे।

गोवा वाली भीड़ नहीं है रामचंडी बीच में-

 

 

भुवनेश्वर का बीच रामचंदी आपको समुद्र वाला सुकून तो देगा ही आपको देश के बाकी पॉपुलर बीच वाली भीड़ भी यहां नहीं मिलेगी। ये बीच शहर से 26 किलोमीटर दूर है इस वजह से थोड़ा अलग-थलग है और लोग कम ही यहां आते-जाते हैं। शांति और सुकून के लिए इस बीच का रुख जरूर कीजिए क्योंकि ये जगह आपको सुकून का फुल डोज देगी, बात पक्की है। इस बीच का नाम कोणार्क के देवता रामचंडी के नाम पर रखा गया है। इस बीच की एक खासियत यहां होने वाला फेस्टिवल है जिसमें हिस्सा लेने ढेरों लोग आते हैं। ये फेस्टिवल सितंबर और अक्तूबर में होता है।

 हीरापुर का इतिहास-

 

 

हीरापुर में देवी शक्ति के 64 रूपों के दर्शन होते हैं। यहां के योगिनी टेंपल आकार आपको सच में बिलकुल अलग अनुभव होगा। आपको ग्रेनाइट के पत्थर पर बनी कई कलाकारी नजर आएंगी। यहां आने के लिए आपको ज्यादा सोचने की जरूरत भी नहीं है क्योंकि ये जगह शहर से सिर्फ 15 किलोमीटर दूर है। अक्सर लोग बाइक से ही यहां तक आ जाते हैं।

एप्लिक वर्क की खान, पिपली-

 

 

पिपली एक गांव है और ये गांव एप्लिक वर्क के लिए जाना जाता है। ये गांव भुवनेश्वर और पुरी के बीच है और यहां दुनिया के बेस्ट एप्लिक कारीगर रहते हैं। इस गांव में एप्लिक वर्क से कपड़े और सजावट के सामान के साथ और भी बहुत कुछ बनाया जाता है। भुवनेश्वर आएं तो यहां आना बिल्कुल न भूलें। ये जगह भुवनेश्वर से 31 किलोमीटर दूर है।

ट्रेवल संबंधीयहलेखआपकोकैसालगा?अपनीप्रतिक्रियाएंजरूरभेजें।प्रतिक्रियाओंकेसाथहीट्रेवल सेजुड़ेसुझाववलेखभीहमेंईमेल करें editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें- बॉलीवुड हसीनाओं के घर ऐसे कि नजर ना हटे