googlenews
हरविंदर कौर

लोगों को दो काम बहुत अच्छे से आते हैं-
पहला, बिना मांगे सलाह देना और
दूसरा, लोगों का मजाक उड़ाना।

लोग, अच्छे खासे इंसान को फालतू की सलाह दे देते हैं कि फलाना काम तुमसे नहीं होगा, वगैरह-वगैरह। फिर अगर वह उन्हें नजरअंदाज कर अपना काम करने की कोशिश करता है तो उसका मजाक उड़ाना शुरू कर देते हैं। आप ऐसी घटनाएं कहीं भी देख सकते हैं। मैरीकॉम और दंगल मूवीज़ याद है??? उसमें आपने देखा था कि कैसे लोग लड़कियों के बॉक्सिंग और कुश्ती सीखने पर उनका मजाक उड़ाते थे और उनके मां-बाप को लड़कियों को ऐसे खेलों से दूर रहने की सलाह देते थे। लेकिन न तो मैरीकॉम ने हार मानी और ना ही गीता और बबीता फोगाट ने।

इसलिए तो कहा जाता है कि जो हार नहीं मानते वह मिसाल बन जाते हैं जैसे अब हरविंदर कौर बन गई हैं। आज इस लेख में हम बात कर रहे हैं ऐसी लड़की की जिसका मजाक बाहरवालों ने तो उड़ाया ही साथ में घर वालों ने भी उड़ाया। फिर भी उसने हिम्मत नहीं हारी। इस लड़की का नाम हरविंदर कौर है। इन्होंने अपनी जिद और लगन से हर मजाक को नजरअंदाज किया और वकीन बनीं। लेकिन इन लाइनों में इनकी तारीफ लिखना जितना आसान है उससे लाख गुना ज्यादा मुश्किल रहा है इनका यहां पहुंचना। तो चलिए आज जानते हैं कि कौन है हरविंदर और कैसे इन्होंने समाज के टैबू और फब्तियों को पीछे छोड़ते हुए इतना बड़ा मुकाम हासिल किया।

हाइट है केवल 3 फीट 11 इंच

हरविंदर अपने हाइट के लिए प्रसिद्ध हैं। इनकी हाइट केवल 3 फीट 11 इंच है। इस हाइट के लिए इन्होंने लोगों के खूब ताने सुनी। लेकिन आज वह इन्हीं लोगों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट में लड़ाई लड़ती हैं।

Harvinder Kaur
हरविंदर कौर- भारत की सबसे छोटे कद की वकील, उड़ाते थे लोग मजाक फिर भी पहुंची कोर्ट 4

क्यों है सुर्खियों में जालंधर की हरविंदर कौर

सामान्य तौर पर लड़कियों की हाइट कम होती है तो लोग उन्हें डेढ़ फुटनी कहकर चिढ़ाते हैं। तो सोचिये केवल 3 फीट 11 इंच की हरविंदर का क्या हाल हुआ होगा। लेकिन अपनी काबलियत के बल पर हरविंदर आज वकील बन गई हैं और लोग उन्हें देश की सबसे छोटे कद की वकील के तौर पर जानते हैं। अपनी काबलियत के बल पर उन्होंने अपनी सो कॉल्ड कमजोरी (जो कि कमजोरी होती नहीं है, केवल लोगों का नजरिया होता है) को पीछे छोड़ते हुए एक वकील बन के साबित कर दिया कि सच्ची लगन से किसी भी मंजिल को आसानी से पाया जा सकता है।
हरविंदर जालंधर की रहने वाली हैं। इनको लोग प्यार से रूबी कहकर बुलाते हैं। आज ये जालंधर कोर्ट में एडवोकेट हैं। 24 साल की हरविंदर कौर भारत की सबसे छोटे कद की एडवोकेट हैं।

बनना चाहती थी एयर होस्टेस

हरविंदर कौर बचपन में एयर होस्टेस बनना चाहती थीं। लेकिन, यहां हाइट के कारण इन्हें अपने सपने को भूलना पड़ा। यह समय उनके लिए काफी मुश्किल भरा था। अब तो लोगों को उनके करियर और जिंदगी से ज्यादा उनकी शादी की चिंता होने लगी कि कैसे इतनी कम हाइट वाली लड़की की शादी होगी। कोई लड़का कैसे इसे पसंद करेंगे।
परिवार के लोगों ने कई डॉक्टरों को दिखाया। लेकिन, कोई फायदा नहीं हुआ। हरविंदर की हाइट नहीं बढ़ीं।

सुसाइड करने की भी सोची

लोगों के तानों और खुद के सपने को छोड़ने की वजह से हरविंदर कमजोर महसूस करने लगीं। उन्होंने अकेला रहना शुरू कर दिया और इस बीच सुसाइड करने के बारे में भी सोचा। वह कहती हैं कि “एक समय लोग उनका मजाक उड़ाते थे। इससे उन्हें सुसाइडल विचार भी आने लगे थे। मैंने खुद को कमरे में बंद करना शुरू कर दिया। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं और ये मेरे साथ ही क्यों हो रहा है। लेकिन मैंने एयर होस्टेस बनने का सपना छोड़ा जरूर था किंतु मैं अपनी पहचान बनाने के लिए काफी दृढ़ थी और ये रही मैं। देश की सबसे छोटे कद की वकील। (मुस्कुराते हुए)।”
तो हरविंदर ने अपनी दृढ़ संकल्प के बल पर यह मुकाम हासिल किया है।

Harvinder Kaur
Harwinder Kaur

मोटिवेशनल वीडियो बना सहारा

हरविंदर ने 12वीं पास करने के बाद दिनभर मोटिवेशनल वीडियो देखना शुरू किया और खुद को मोटिवेट किया। इसके बाद उन्होंने लॉ की पढ़ाई करने का मन बनाया। एलएलबी में एडमिशन लिया। अब लॉ की पढ़ाई कर एडवोकेट बनीं हैं।

जज बनना है सपना

अब हरविंदर का सपना जज बनने का है। इसके लिए वह दिन रात तैयारी कर रही हैं। वे कहीं बाहर जाती हैं तो लोग उन्हें बच्ची समझ लेते हैं। हरविंदर कहती हैं “मैं कहीं बाहर जाती हूं और लोग अगर मुझे वहां नहीं जानते हैं तो वे मुझे बच्ची समझ लेते हैं। एक बार कोर्ट रूम के रीडर ने कहा है कि बच्ची को वकील का ड्रेस पहनाकर क्यों लाए हैं। इसके बाद वकील साथियों को बताना पड़ा कि मैं एडवोकेट हूं।”
हरविंदर के पिता शमशेर सिंह फिल्लौर में ट्रैफिक पुलिस में एएसआई हैं। वहीं, माता सुखदीप कौर हाउस वाइफ हैं। हरविंदर ने पिछले साल एलएलबी की पढ़ाई की। अब वह बार काउंसिल ऑफ पंजाब एंड हरियाणा द्वारा एनरोलमेंट पा चुकी हैं। हरविंदर वर्तमान में क्रिमिनल केसेस लड़ रही हैं और जूडिशियल सर्विस की तैयारी भी कर रही हैं। उनका सपना जज जज बनकर अपने परिवार का नाम रोशन करना है।

सोशल मीडिया में 1 लाख से अधिक फॉलोअर

करियर के साथ हरविंदर युवाओं के लिए फैशन इंस्पिरेशन भी हैं। सोशल मीडिया पर इनके 1 लाख से अधिक फॉलोअर हैं। तो ये है छोटी सी हरविंदर की बड़ी सी कहानी। उम्मीद करते हैं कि इस कहानी ने आपको भी प्रेरित किया होगा।

Leave a comment