चाहे नवरात्र हों यां फिर कोई और त्योहार। पूजा में धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा अराधना अवश्य की जाती है। शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की खासतौर से पूजा की जाती है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए इस दिन विशेष तौर पर दूध से तैयार मिष्ठान, चांदी और सफेद फूल दान किए जाते है। माता लक्ष्मी अपार कृपा प्राप्त करने के लिए लोग सफेद के अलावा हल्के गुलाबी रंग के कपड़े भी पहनते है। दरअश्ल, गुलाबी रंग भी मां लक्ष्मी को बेहद प्रिय है। आइए जानते हैं, मां लक्ष्मी से जुड़ी खास बातें।  

 

शुक्रवार के दिन क्यों पहनने चाहिए गुलाबी वस्त्र

 

अगर बात पौराणिक कथाओं की करें, तो उनके हिसाब से धन की देवी मां लक्ष्मी को गुलाबी वस्त्र बेहद भाते हैं। ऐसा माना जाता है कि खासतौर से शुक्रवार के दिन गुलाबी वस्त्र धारण करने से आपको मां लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इसके अलावा अगर आप इस खास दिन गुलाबी रंग के वस्त्रों का दान करने है, तो आपके घर में सुख और समृद्धि बनी रहेगी। शुक्रवार के दिन गुलाबी कपड़े पहनने के पीछे एक और मान्यता है कि अगर आप इस दिन गुलाबी वस्त्र धारण करके धन संपदा से जुडे़ किसी विशेष कार्य के लिए जाते हैं, तो आपके लंबित कार्य आसानी से संपन्न हो जाते हैं। साथ ही अगर आप मां ल़क्ष्मी की कृपा पाना चाहते हैं तो नियमित पूजा अर्चना करने के अलावा मां को चढ़ाया गया इत्र इस्तेमाल करने से भी आप भाग्यशाली बन सकते हैं औश्र आपके रूके हुए कार्य खुद ब खुद होने लगेंगे। गुलाबी रंग अधिकतर लोगों को बेहद पसंद होता है। जो न सिर्फ स्त्री के व्यक्तित्व को निखारता है बल्कि उनमें आत्मविश्वास की ज्योत भ्ी प्रज्जवलित करता है। शुक्रवार के दिन खासतौर से श्री लक्ष्मीनारायण भगवान और मां लक्ष्मी को दूध और चावल से तैयार की गई खीर चढ़ाई जाती है और उनका आर्शीवाद प्राप्त किया जाता है। इसके अलावा अगर आप अपने वैवाहिक जीवन को लेकर संतुष्ट नहीं है और उलझनों में उलझी हैं, तो ऐसे में आप न सिर्फ शुक्रवार के दिन व्रत करें बल्कि गुलाबी वस्त्र भी धारण करें। यदि आप अच्छे वर की तलाश में हैं तब भी मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना आपको जीवन में सही मार्ग प्रशस्त करेंगी और अच्छा जीवनसाथी भी आपको प्राप्त होगा। 

 

कैसे करें मां लक्ष्मी की आराधना

 

मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना के लिए शुक्रवार का दिन बेहद शुभ है। अगर पौराणिक कथाओं की मानें तो इस खास दिन पर लक्ष्मी जी की भक्ति के साथ साथ भगवान विष्णु को भी नमन करना चाहिए। इसके अलावा सभी दुविधाओं को दूर कर अपनी मनोकामनाओं की प्राप्ति के लिए लक्ष्मी चालीसा का भी पाठ करना चाहिए। लक्ष्मी चालीसा को पढ़ने के बाद मां को खीर चढ़ाकर एसे गरीबों में बांट देना चाहिए।    पूजा भी करनी चाहिए। शुक्रवार के दिन लक्ष्मी चालीसा का श्रद्धापूर्वक पाठ करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। लक्ष्मी चालीसा का पाठ करने के बाद मखाने या चावल की केसरयुक्त खीर का लक्ष्मी मां को भोग लगाना चाहिए और प्रसाद को गरीबों में बांटनें से लक्ष्मी मां कभी अपने भक्त से रूष्ट नहीं होती।

 

 

 

 

धर्म -अध्यात्म सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com