बच्चों के एनर्जी ड्रिंक से जुड़ी पांच बातें जो जानना जरूरी है
बच्चों के एनर्जी ड्रिंक से जुड़ी पांच बातें जो जानना जरूरी है

बच्चों को एनर्जी ड्रिंक देना कितना सुरक्षित है और कितना नहीं, ये अहम सवाल है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि ये केफीन से बने होते हैं जो शरीर की उर्जा बढ़ाने के साथ मानसिक और शारीरिक स्तर भी सही रखते हैं। काफी युवा आजकल इसका सेवन भी कर रहे हैं लेकिन ये ड्रिंक्स बच्चों के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

आजकल मार्केट में बच्चों और युवाओं के लिए आने वाले एनर्जी ड्रिंक्स काफी कन्फयूजिंग होते हैं। इसलिए बच्चों के एनर्जी ड्रिंक्स से जुड़ी स भी जानकारी होनी जरूरी है। इस लेख में हम आपको बच्चों के एनर्जी ड्रिंक से जुड़ी जानकारी बताएंगे। साथ ही बच्चों के आहार को एनर्जी ड्रिंक्स में बदलने की ट्रिक भी बताएंगे और एनर्जी ड्रिंक और स्पोर्ट्स ड्रिंक के बीच में अंतर क्या है ये भी समझाएँगे।

जानिए एनर्जी और स्पोर्ट्स ड्रिंक में अंतर

एनर्जी और स्पोर्ट्स ड्रिंक में अंतर

बच्चों के लिए आने वाले स्पोर्ट्स ड्रिंक और एनर्जी ड्रिंक के बीच में अंतर समझना बेहद जरूरी है। स्पोर्ट्स ड्रिंक तेज गतिविधि के दौरान हाइड्रेशन के लिए होता है। वहीं एनर्जी ड्रिंक एथलेटिक प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिए होता है।

बच्चों के लिए एनर्जी ड्रिंक खराब क्यों?

एनर्जी ड्रिंक में कैफीन की अधिक मात्रा मिली होती है

विशेषज्ञों की मानें तो, बच्चों के एनर्जी ड्रिंक बिलकुल भी अच्छा विकल्प नहीं है। क्योंकि ये एक तरह का जंक फ़ूड है, जिसकी सुरक्षा की कोई भी गारंटी नहीं है, वहीं इसमें कैफीन कि अधिक मात्रा मिली होती है, जो लम्बे समय तक बच्चे की हेल्थ को प्रभावित कर सकती है। जिससे वो बीमार भी रहने लग सकते हैं।

हेल्थ पर कितना पड़ेगा असर

एनर्जी ड्रिंक दो तरह की होती हैं

देखा जाए तो बाजार में एनर्जी ड्रिंक दो तरह की होती हैं। लेकिन दोनों में मिलाये जाने वाले तत्व एक ही तरह के होते हैं। इनका आकार जरुर अलग होता है। सोडा भी दोनों में बराबर मात्रा में होता है।

  1. कैफीन के सेवन से बच्चों में चिंता और अनिद्रा की समस्या बढ़ने लगती है।
  2. बच्चों में तनाव और डिप्रेशन की समस्या होने लगती है।
  3. बच्चों का डाईजेशन काफी प्रभावित होता है, और उन्हें बेचैनी होने लगती है।
  4. मोटापे के साथ बच्चे में डायबटीज की समस्या होने लगती है।
  5. भूख में कमी, डीहाईड्रेशन की समस्या का होना, दांतों से जुडी समस्या।
  6. ब्लडप्रेशर कि समस्या के साथ हड्डियों को काफी नुकसान पहुंचता है।

एनर्जी ड्रिंक का ये विकल्प है बढ़िया

बच्चे को पीने के लिए नारियल पानी दें।

कहते हैं की बॉडी को हाइड्रेट रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। जिससे शरीर में पानी की कोई कमी नहीं रहेगी। एनर्जी ड्रिंक बस कुछ ही समय के लिए शरीर को ऊर्जा देता है। लेकिन प्राकृतिक तरीके से बनाई गयी ड्रिंक शरीर को चुस्त और तंदरुस्त रखती है। आप अपने बच्चे के आहार में कुछ होममेड ड्रिंक्स को शामिल करें जो हाइड्रेशन और एनर्जी से भरे होते हैं। उनके लिए आपके पास क्या कुछ विकल्प हैं, चलिए जान लेते हैं।

  1. बच्चे को पीने के लिए नारियल पानी दें।
  2. घर में उसे ठंडी और मीठी शिकंजी बनाकर दें।
  3. सब्जियों का रस बच्चे को पीने के लिए दें।
  4. बच्चे को दूध और फलों के रस पीने के लिए दें।
  5. छाछ भी बच्चे मजे से पीते हैं।

होम मेड ड्रिंक्स फायदेमंद

होम मेड ड्रिंक्स फायदेमंद

बाजार में मिलने वाले एनर्जी ड्रिंक के युवा आजकल काफी दीवाने हैं। ऐसे में बात जब बच्चों की आती है तो, उनकी हेल्थ से कोई भी समझौता करना बिलकुल भी ठीक नहीं है। इसलिए विशेषज्ञ भी बच्चों को एनर्जी ड्रिंक्स न देने की बात कहते हैं। आप चाहें तो उन्हें होममेड ड्रिंक्स दें। जिससे उनके शारीरिक और मानसिक विकास पर सकारात्मक प्रभाव पड़े।

Leave a comment