हजारों साल से हमारे पूर्वज आयुर्वेद पद्धति से इलाज कराते आ रहे हैं। आज समय बदल चुका है। हर मर्ज के इलाज के लिए पहले हम एलोपैथिक दवाइयों का रूख करते है। लेकिन आज भी कई समस्याएं हैं, जिनके इलाज के लिए लोग आयुर्वेद उपायों को ही पसंद करते हैं। ऐसे में अगर हम बढ़ रहे वजन को घटाने की बात करते हैं, तो आयुवेंद उसमें एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। दरअसल, आयुर्वेद एक ऐसा प्राचीन भारतीय वेलनेस सिस्टम है जो शरीर के वजन को कंट्रोल करने में मदद करता है। आयुर्वेदिक लाइफस्टाइल अपनाने से व्यक्ति न सिर्फ स्वस्थ रहता है बल्कि वजन भी कम होता है और शरीर अंदर से मजबूत बनता है। आइए जानते हैं वजन घटाने के लिए कौन सा आयुर्वेदिक लाइफस्टाइल अपनाएं

 

मौसमी फल और सब्जियां खाएं

मौसमी फल और सब्जियां खाएं जो वजन घटाने में मदद करती हैं। साथ ही इससे शरीर को एनर्जी भी मिलती है। फल और सब्जी कैलोरी में काफी कम होते हैं। लेकिन वो फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट में हाई होते हैं। ये किसी भी बीमारी के खतरे को कम करने में मदद करते हैं। शरीर को मौसम के मुताबिक फूड की जरूरत होती है। इसलिए विभिन्न मौसम के अनुसार मौसमी फलों और सब्जियों को अपने आहार का हिस्सा बनाना जरूरी है। आयुर्वेद का मानना है यदि आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो आपको कुछ समय के लिए नॉनवेज, हैवी फूड से दूर रहना होगा।

 

ताज़े भोजन का सेवन

आयुर्वेद में घर पर बने ताजे और स्वच्छ भोजन का बहुत महत्व है। बाजार के खाने को चटपटा बनाने के लिए कई तरह की चीजें मिलायी जाती हैं जो सेहत के लिए हानिकारक होती हैं। रोजाना समय पर घर का भोजन करने से शरीर स्वस्थ रहता है और वजन भी कंट्रोल होता है। अपनी खानपान की आदतों में सुधार करने और आयुर्वेदिक लाइफस्टाइल अपनाने से कम समय में ही शरीर का वजन कम हो जाता है।

 

आंवले का महत्व

आवंले में बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन से लड़ने की ताकत होती है। इसे खाने से हमारे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है, जिससे हम बीमरियों से दूर रहते हैं। यही नहीं आंवला शरीर में मौजूद टॉक्सिन यानी कि जहरीले पदार्थों को बाहर निकाल देता है। आंवला खाने से सर्दी.जुकाम, अल्सर और पेट के इंफेक्शन से मुक्ति मिलती है। आंवला मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाता है, जो मोटापा कम करने में मददगार साबित होता हैण्

 

वजन कम करने में मददगार जीरे का पानी 

हम में से ज्यादातर लोगों को वजन कम करने के लिए रोज सुबह उठकर जिम जाना किसी भारी.भरकम टास्क से कम नहीं लगता। बढ़ते वजन की वजह से आप अपने फेवरेट कपड़े भी नहीं पहन पाते हैं। न ही आपके पास सुबह की भागमभाग में जिम जाने का टाइम और न ही एक्सरसाइज करने की फुर्सत, ऐसे में जीरे का पानी वजन कम करने का सबसे कारगर उपाय है। जीरे का पानी कोई आम पानी नहीं बल्कि एक किस्म का जादू है। जीरे का पानी वजन तो कम करता ही है साथ ही यह पूरे स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी है। इस पानी को बनाना भी बेहद आसान है, एक ग्लास पानी में दो चम्मच जीरा डालकर उसे 10 मिनट तक उबाल लीजिए। इसके बाद आंच से उतारकर इसे ठंडा कर पी लीजिए। 

 

दालचीनी और शहद करेगा वजन कम 

दालचीनी को कई घरेलू नुस्खों में इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन दालचीनी और शहद के फायदों के बारे में जान कर आप इसके फैन हो जाएंगे। शहद और दालचीनी भारतीय घरों में मिलने वाले वह आहार हैं, जो सेहत के कई फायदों से भरे हैं। दिन में तीन बार गर्म पानी के साथ शहद और दालचीनी के सेवन से वजन कम होता है। सबसे पहले इस ड्रिंक को सुबह लें। दूसरी बाद नाश्ते के बाद और तीसरी बार रात को सोने से पहले इसे पीएं। इससे आपके शरीर से धीरे.धीरे फैट घटता जाता है। दालचीनी के कई फायदे होते हैं। इनके पेस्ट के नियमित सेवन से इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है। 

 

व्यायाम

फिट और तंदरुस्त बने रहने के लिए आपको रोजाना व्यायाम करना चाहिए। वजन कम करने के आयुर्वेदिक तरीके के अनुसार व्यायाम करने से पसीना निकलता है। आयुर्वेदिक चिकित्सकों का मानना है कि नियमित रूप से किसी योग या व्यायाम को 40 से 45 मिनिट तक करने की आवश्यकता होती है। ऐसा करना आपके शरीर में अतिरिक्त वसा को कम करने में सहायक होता है जिससे आप आसानी से अपना वजन कम कर सकते हैं। लेकिन व्यायाम और योग के साथ ही आपको आयुर्वेदिक और संतुलित आहार करना चाहिए।

 

खूब पानी पीयें

अगर आप आयुर्वेदिक तरीके से वजन कम करना चाहतें हैं तो खूब पानी पीयें। पानी हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक घटक है। लेकिन पानी पीने के गलत तरीके आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। भोजन करने के तुरंत बाद में या तुरंत पहले पानी पीना उचित नहीं है। जबकि पानी पीना समग्र स्वास्थ्य और वजन कम करने के लिए अच्छा होता है। भोजन के साथ पानी का सेवन करना पाचन में सहायक होता है। यही कारण है कि बहुत से लोग मोटे होते हैं क्योंकि उनका भोजन पर्याप्त मात्रा में टूटता नहीं है। जिससे शरीर में विषाक्तता उत्पन्न हो सकती है साथ ही यह हार्मोनल परिवर्तन का कारण बनता है। इसलिए आपको पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। लेकिन पानी भोजन के पहले या तुरंत बाद में पीने से बचें।

 

भरपूर नींद

वजन कम करने में नींद प्रमुख भूमिका निभाती है। अगर आप जल्दी से अपना वजन कम करना चाहती हैं तो आपको अच्छी और भरपूर नींद लेनी चाहिए। सुनिश्चित करें कि आप रोजाना कम से कम 8 घंटे नींद जरूर लें। 

 

दिन में 3 बार खाएं

वजन कम करने के लिए आपको डाइट की जरूरत नहीं है। आयुर्वेद के अनुसार, आपको दिन में 3 बार खाना खाना चाहिए। दिन में 3 बार खाने से बॉडी का मेटाबॉलिक रेट बढ़ाने में हेल्प मिलती है और इससे आपको वजन तेजी से कम करने में मदद मिलेगी।

 

त्रिफला 

पुराने समय से ही त्रिफला वजन कम करने लिए उपयोग लाया जाता रहा हैं। आंवलाए हरण और बहेड़ा तीनों को मिलाकर बनाए जाने वाले चूर्ण त्रिफला चूर्ण कहा जाता है। इसका सेवन शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। रात के खाने के 2 घंटे पहले या नाश्ते से आधे घंटे पहले गुनगुने पानी के साथ एक से आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण का सेवन जल्द ही पेट की जिद्दी वसा से छुटकारा दिला सकता है।

 

 

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

यह भी पढ़े

आखिर क्यों खड़े होकर दूध और बैठकर पानी पीना चाहिए