खाने में स्वाद तब तक नहीं आता, जब तक कि उसमें नमक का इस्तेमाल ना किया जाए। आप भले ही अपनी डिश में कितने भी मसाले शामिल कर लें, लेकिन अगर उसमें नमक नहीं है तो आप उसे नहीं खा सकती हैं। हालांकि, अक्सर महिलाओं को यह शिकायत होती है कि खाने में नमक का इस्तेमाल करते समय कभी वह कम हो जाता है या फिर अधिक हो जाता है। इस स्थिति में खाने का स्वाद भी बिगड़ जाता है और फिर आपको मन मारकर खाना खाना पड़ता है या फिर कभी-कभी तो आप उसे खा ही नहीं पाती। अगर आप भी अक्सर इसी समस्या से दो-चार होती हैं तो हो सकता है कि खाने में नमक का इस्तेमाल करते समय आप कुछ गलतियां करती हों। तो चलिए आज हम आपको उन्हीं मिसटेक्स के बारे में बता रहे हैं, जिससे आपको बचना चाहिए-

सही मात्रा में नमक ना डालना

हर डिश में नमक की अलग क्वांटिंटी की जरूरत होती है। इतना ही नहीं, जब एक ही डिश को दो अलग तरीकों से बनाया जाता है तो उसमें भी नमक की मात्रा बदल जाती है। उदाहरण के तौर पर, आप व्हाइट सॉस पास्ता और रेड सॉस पास्ता में एक समान नमक नहीं डाल सकतीं। व्हाइट सॉस पास्ता में आपको नमक कम डालना होगा, ताकि उसकी क्रीमीनेस का टेस्ट अधिक उभरकर आए। इस तरह डिश के टेस्ट को समझने के बाद भी नमक का इस्तेमाल करना चाहिए।

एक ही तरह के नमक का इस्तेमाल करना

आमतौर पर किचन में महिलाएं केवल टेबल सॉल्ट या काला नमक का ही इस्तेमाल करती हैं, हालांकि आपको यह समझना होगा कि नमक कई प्रकार के होते हैं, और उन सभी के अलग-अलग उपयोग होते हैं। जहां, टेबल नमक में बेहतरीन कण होते हैं, इसलिए कई व्यंजन में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, जब बेकिंग या मैरीनेटिंग की बात आती है, तो आपको कुछ कम रिफाइंड, जैसे कोषेर नमक का इस्तेमाल करना अधिक उचित माना जाता है। वहीं, एक रंगीन फिनिश के लिए, पिंक हिमालयन नमक चुनें, यह खनिजों की उपस्थिति से अपना गुलाबी रंग प्राप्त करता है।

सही समय पर नमक ना डालना

जब आप खाने में नमक का इस्तेमाल कर रही हों तो आपको यह समझना होगा कि आपको कब नमक डालना चाहिए और कब नहीं। कुछ डिशेज में शुरूआत में नमक ना डालने की सलाह दी जाती है। मसलन, अगर आप चाइनीज फूड में शुरूआत में ही नमक डाल देंगी तो बाद में सॉस आदि डालने के बाद नमक बहुत अधिक हो जाएगा, क्योंकि चाइनीज फूड में इस्तेमाल की जाने वाली सॉस में भी नमक होता है। वहीं, अगर आप नमक को एडजस्ट करने की कोशिश करेंगी तो फिर आपको सॉस का इस्तेमाल कम करना होगा, जिससे चाइनीज फूड का स्वाद आपको नहीं आएगा। ठीक इसी तरह, अगर आप कोई इंडियन डिश बना रही हैं तो मसालों को पकाने के लिए शुरूआत में नमक डालना सही रहता है।

नमक को सही तरह से स्टोर ना करना

हमेशा अपने नमक को इस्तेमाल करने के बाद ठंडी व सूखी जगह पर रखें, क्योंकि मुख्य लक्ष्य इसे हवा में नमी से बचाना है। इसकी रासायनिक संरचना के कारण, नमक के अणुओं में आयन, पानी के अणुओं को आकर्षित करते हैं। ऐसे में इसे सही तरह से स्टोर करना भी उतना ही जरूरी है।

खाने में ऊपर से नमक छिड़कना

यह एक ऐसी आदत है, जो खाने के साथ-साथ आपकी सेहत को भी नुकसान पहुंचाती है। कई बार ऐसा होता है कि जब हमें ऐसा लगता है कि खाने में नमक कम है तो हम तुरंत उसके ऊपर टेबल सॉल्ट छिड़क देते हैं। हालांकि, खाने में अनकुक्ड टेबल सॉल्ट स्प्रिंकल करने से कई तरह की प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। इतना ही नहीं, खाने में अधिक नमक का सेवन भी स्वास्थ्य के लिए समस्या खड़ी कर सकता है।

यह भी पढ़ें-जेगिंग्स में स्टाइलिश दिखने के लिए कुछ इस तरह करें इसे पेयर

किचन संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही किचन से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें –editor@grehlakshmi.com