googlenews
सूखा नाश्ता रेसिपी

स्टोर करके रखें इन 7 Dry snacks को

सूखा नाश्ता ट्रेवल में भी बड़ा काम आता है। ये 7 रेसिपी घर पर ज़रूर ट्राय करें।

Indian Dry Snacks: सूखा नाश्ता यानी ड्राई स्नैक्स कई तरह से ज़रूरी होता है। घर पर हों तो भी अगर कुछ खाने का मन हो तो झट से एयरटाइट कंटेनर से स्नैक्स निकाले और चाय के साथ खाना शुरू। ट्रेवल कर रहे हों तो भी सूखा नाश्ता ज़रूरी होता है ताकि कहीं भी भूख लगने पर उसका इस्तेमाल किया जा सके।

मेहमान कभी भी घर आ जाए तो उन्हें सर्व क्या करें, ये टेंशन नहीं रहती और बच्चे जिस घर में हों, वहां तो ड्राई स्नैक्स बहुत ज़रूरी हो जाते हैं। यहां अलग-अलग राज्यों के 7 ड्राई स्नैक्स की रेसिपी दी गई है ताकि एक जैसा सूखा नाश्ता कर आप बोर न हों।

टम टम

Tamtam
Tamtam

टम टम एक क्रंची गुजराती स्नैक्स है। यह डीप-फ्राइड स्नैक्स बेसन, उड़द दाल आटा और कुछ मसाले से मिलकर बनता है। इसे एयरटाइट कंटेनर में महीनों तक स्टोर किया जा सकता है।

सामग्री

बेसन – 2 कप

उड़द की दाल का आटा – 1/2 कप

हल्दी पाउडर – 1 टीस्पून

कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर – 3 टेबलस्पून

चीनी पाउडर – 3 टेबल स्पून

साइट्रिक एसिड + पानी – 1/2  टीस्पून

तेल – 3 टेबलस्पून

नमक स्वादानुसार

बेकिंग सोडा – 1 टीस्पून

तेल तलने के लिए

विधि

बेसन और उड़द की दाल को छान लें। उसमें हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, नमक, चीनी पाउडर, साइट्रिक एसिड और तेल डालें। अच्छी तरह से मिलाएं। आटे में सारे मसाले मिला लें।

अब पानी मिलाते हुए आटे को परांठे के आटे की तरह गूंध लें। आटा चिपचिपा हो जाएगा इसलिए आप अपने हाथों को ग्रीस कर सकते हैं। आटे को ढककर 15 मिनट के लिए रख दें।

अब 1/4 टीस्पून बेकिंग सोडा 1 टीस्पून पानी के साथ घोलें और गूंधे हुए आटे में डालें। आटे में थोड़ा-सा पानी डालकर आटे को हल्का-सा रंग बदलकर नरम होने तक गूंध लें।

एक पैन में तेल गर्म करें। अब सेव प्रेस मशीन में भरें। इसकी सहायता से मिश्रण को गर्म तेल के ऊपर डालें। टम टम को धीमी-धीमी मध्यम आंच पर तल लें। गुजराती ड्राई स्नैक्स टम टम को आप एयरटाइट कन्टेनर में भर कर रख सकते हैं।

गुड़ आटा पपड़ी

jaggery flour crust
jaggery flour crust

राजस्थानी गुड़, आटा और तिल से बनी पपड़ी सर्दियों में बड़े चाव से खाई जाती है। इसमें ड्रायफ्रूट्स भी डाले जाते हैं। राजस्थान में यह सूखा नाश्ता घर-घर में मिल जाता है और मेहमानों को भी सर्व किया जा सकता है।

सामग्री

आटा – 2 कटोरी

रवा – 1/4 कटोरी

गुड़ – 1 कटोरी

पानी – 1/2 कटोरी

काजू, किशमिश, बादाम, चिरौंजी कटे हुए और नारियल कसा हुआ – 1 कटोरी

सौंठ – 1/4 टीस्पून

इलायची पाउडर – 1/2 टीस्पून

सफेद तिल – ¼ टीस्पून

घी – 2 टीस्पून

विधि

गुड़ को एक बर्तन में पानी डाल कर उबाल लें। जब गुड घुल जाए तो उसमें 2 टीस्पून घी डाल कर गरम करें। ठंडा होने पर उसे छान लें और उसी घोल से आटा को गूंध लें।

आटा में ऊपर बताई गई सारी सामग्री मिला लें। फिर गुड़ के पानी से आटा को रोटी के आटा की तरह नरम गूंध लें।

इसे 30 मिनट के लिए कवर करके अलग रख दें। इसके बाद आटे को फिर से सही कर लें। अब लोई बनाने की बारी है। लोई बना कर बड़ी रोटी बेलें।

रोटी को छोटी कटोरी या ढक्कन से छोटी पुरी काट लें। फोर्क की मदद से पुरी में जगह-जगह छेद करें जिससे पुरी तलने पर फूलें नहीं।

कड़ाही में तेल गर्म करें। धीमी आंच पर पुरी को कुरकुरी होने तल लें। फ्राई की हुई गुड़ आटा पपड़ी को टिशू पेपर पर निकाल लें ताकि अतिरिक्त तेल निकल जाएं। इसे चाय के साथ सर्व किया जा सकता है। वहीं बच्चों को गुड़ आटा तिल की ये पपड़ी काफी पसंद आती है।

भाकर वडी

bhakar vadi
bhakar vadi

भाकर वड़ी सबसे लोकप्रिय महाराष्ट्रीयन स्नैक्स में से एक है जो कि एक परफेक्ट सूखा नाश्ता हो सकता है। यह एक ऐसा सूखा नाश्ता है, जिसमें अल्टरनेटिव लेयर के साथ सर्पिल आकार होता है।

सामग्री 

मैदा – 1 कप

बेसन – 2 टी स्पून

हल्दी पाउडर – 1 टी स्पून

जीरा – 1/2 टी स्पून

सौंफ – 1/2 टी स्पून

खड़ा धनिया – 1 टीस्पून

तिल – 2 टीस्पून

खसखस – 1 टीस्पून

लाल मिर्च पाउडर – 1 टीस्पून

इमली की चटनी – 1 कप

अमचूर पाउडर – 1/2 टीस्पून

चीनी – 1/2 टीस्पून

हींग – 1/4 टीस्पून

नारियल किसा हुआ – 1 टेबलस्पून

नमक स्वादानुसार

तेल आवश्यकतानुसार

विधि

एक बाउल में मैदा, बेसन, हल्दी पाउडर, हींग, नमक और तेल डालकर अच्छे से मिलाएं और थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर एक डो बनाकर 5-10 मिनट के लिए रखें।

मिक्सर के जार में नारियल, हल्दी पाउडर, जीरा, सोंफ, खड़ा धनिया, तिल्ली, खसखस, लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, शक्कर, हींग और नमक डालकर जार में पीसकर मिश्रण तैयार करें।

बेसन के डो में से बड़ी लोई बनाए और एक रोटी बनाएं और इमली की चटनी डालकर रोटी पर फैलाएं और तैयार मिश्रण डालकर इसी तरह से फैलाएं।

रोटी के किनारों पर पानी लगाकर एक टाइट रोल बनाएं। चाकू से काटकर हाथ से दबाकर भाकर वडी बनाकर तैयार करें।

एक पैन में तेल डालकर गैस को तेज आंच पर चालू करें। तेल गर्म हो जाने एक-एक करके भाकर वडी डालकर धीमी आंच पर तलकर निकालें। भाकर वडी 8-10 दिन के लिए बनाकर रख सकते हैं।

ठेकुआ

thekua
thekua

बिहार और झारखंड का सबसे लोकप्रिय मीठा और सूखा नाश्ता ठेकुआ है। यूं तो छठ पूजा के मौके पर इसे विशेष रूप से बनाते हैं लेकिन इसे सूखे नाश्ते के रूप में सालभर बनाया जाता है।

सामग्री

गेहूं का आटा – 2 कप

सूजी या रवा –  2 टेबलस्पून

सौंफ कुटी हुई – 1 टीस्पून

इलाइची पाउडर – 1/4 टीस्पून

नारियल सूखा और कसा हुआ – 3 टेबलस्पून

घी – 3 टेबलस्पून

चीनी – 1/2 कप

तेल तलने के लिए

विधि

सबसे आटा, सूजी, कुटी सौंफ, पिसी इलाइची, और किसे हुए नारियल को मिला लें। अब इसमें पिघला हुआ घी डालें। उसे अच्छी तरह से मिक्स कर लें।

अब 1/4 कप पानी में चीनी को घोलें। इस घोल को गर्म कर चीनी घोल सकते हैं। ध्यान रहे कि तब तक ही गर्म करना है जब तक कि चीनी घुल नहीं जाती। अब आंच बंद कर दें। अब इस घोल को बिलकुल ठंडा कर लें।

घोल के ठंडा हो जाने पर आटे के मिश्रण में थोड़ा-थोड़ा घोल डालकर सख्त डो बना लें। आटे को 15 मिनट ढककर रख दें।

अब तलने के लिए तेल गर्म करें। इसे घी में भी तल सकते हैं।

अब आटे को चार भाग में बांट लें और एक भाग को मठरी की तरह मोटा-मोटा बेल लें करीब।

इसे मनचाहे आकर में काट लें। हर टुकड़े को फोक या नाइफ़ की सहायता से गोद लें ताकि वह तलते समय फूले नहीं।

अब इन्हें मध्यम आंच पर तल लें। जब ये सुनहरे हो जाएं तो एक टिशू पेपर पर निकाल लें। स्वादिष्ट ठेकुआ तैयार है। अगर आप ठेकुआ तलना नहीं चाहते हैं, तो ओवन में भी बेक कर सकते हैं। इसे 180 डिग्री सेल्सियस पर 12 मिनट बेक कर सकते हैं।

राइस मुरुक्कू

rice murroco
rice murroco

राइस मुरुक्कू साउथ इंडियन स्नैक्स है जिसे चकली भी कहा जाता है। तमिलनाडु, केरल और आंध्रप्रदेश का यह लोकप्रिय नाश्ता है। यह चावल के आटे से बना क्रिस्पी स्नैक्स है जिसे आप किसी भी राज्य में रहकर बना सकते हैं और कहीं भी इसके स्वाद का आनंद ले सकते हैं।

सामग्री

चावल का आटा, बारीक – 2½ कप

बटर – 2 टेबलस्पून

हींग – एक चुटकी

तिल – 1 टीस्पून

कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर – 1/4 टीस्पून

नमक – 1/2 टीस्पून

चना दाल भुनी हुई – 1/2 कप

पानी आटा गूंधने के लिए

तेल तलने के लिए

विधि

एक बाउल में चावल का आटा लें। इसमें बटर, हिंग, तिल, मिर्च पाउडर और नमक डालें।

अब एक मिक्सर में भुनी हुई चना दाल लें। बिना पानी मिलाए बारीक पाउडर बना लें। इसे चावल के आटे वाले बाउल में मिला दें। धीरे-धीरे पानी डालते हुए नरम आटा गूंधे। यहां चकली मेकर का इस्तेमाल करेंगे। अब स्टार के मोल्ड को चकली मेकर पर लगाएं। चकली मेकर पर तेल लगाएं। इससे आटा मोल्ड पर चिपकता नहीं।

आटे से बेलनाकार बनाएं और आटे को चकली मेकर में डालें। ढक्कन बंद करके चकली बनाएं।

गीले कपड़े पर या बटर पेपर पर दबाकर छोटे स्पाइरल आकर के चकली बनाएं। कोनों को बंद करें ताकि तलते वक्त चकली टूट ना जाए।

एक बार में एक मुरुक्कू लें और उसे गरम तेल में डालें। मुरुक्कू को पलटकर दोनों तरफ से क्रिस्पी होने तक तलें। आप इसे 15 मिनट के लिए प्रीहीट ओवन में 180 सेल्सियस पर भी बेक कर सकते हैं।

पोहा चिवड़ा

poha chiwada
poha chiwada

मध्यप्रदेश हो या महाराष्ट्र पोहा चिवड़ा अमूमन हर जगह फेमस है। इसे दिवाली के त्योहार पर तो बनाते ही हैं, लेकिन सूखे नाश्ते के रूप में घर पर बनाकर कर रख लेते हैं, ताकि घर पर मेहमान आए तो कुछ सूखा नाश्ता सर्व करने के लिए रहे।

सामग्री

चिवड़ा – 200 ग्राम

तेल – 50 ग्राम

मूंगफली – 50 ग्राम

चना दाल – 3 टीस्पून

बादाम – 8-10

काजू –  6-8

नारियल पतला और लंबा कटा हुआ – 25 ग्राम

किशमिश – 10-12

करी पत्ता -10-15

हरी मिर्च – 4

तिल – 1/2 टीस्पून

हल्दी – 1/2 टीस्पून

नमक स्वादानुसार

विधि

सबसे पहले पोहा को छलनी से छान ले ताकि छोटे टुकड़े हो तो निकल जाए।

फिर उसे एक कड़ाही में डालें और पोहा को कुरकुरा होने तक भुने। ध्यान रहें कि चम्मच से चलाते रहें।

पोहा को निकालकर अलग रख दें और उसी कड़ाही में तेल डालें। उसमें चना दाल और मूंगफली को फ्राई कर लें। चना दाल और मूंगफली फ्राई होने के बाद किसी बर्तन में निकालकर अलग रख दें।

अब उसी कड़ाही में तेल डालें। इसमें काजू, बादाम को भी फ्राई करें और फ्राई होने के बाद निकाल लें। फिर नारियल और किशमिश डालकर उन्हें भी भुनकर निकाल लें।

अब तेल में करी पत्ता डालें। हरी मिर्च डालें। अब तिल भी डालकर थोड़ा भूनें। हल्दी डालें। भूनें हुए ड्रायफ्रूट्स डालकर मिलाएं।

अब पोहा चिवड़ा डालकर मिक्स करें और स्वादानुसार नमक मिलाएं। अब इसे फिर से अच्छे से मिलाएं। 2 मिनट तक ऐसे ही भूनें। पोहा चिवड़ा तैयार है। स्टोर करके एयरटाइट कंटेनर रखें और जब मन करें इसका स्वाद लें।

क्रिस्पी निमकी

crispy nimki
crispy nimki

क्रिस्पी निमकी लोकप्रिय बंगाली स्नैक्स है। क्रिस्पी निमकी कई परतों वाली है और इसका आकार त्रिकोण होता है। हालांकि इसे किसी और आकार में भी बना सकते हैं। बंगाली निमकी को एयरटाइट कंटेनर में रखकर काफी समय तक स्वाद लिया जा सकता है।

सामग्री

मैदा – 2 कप

जीरा – 1/2 टीस्पून

अजवाइन – 1/2 टी स्पून

नमक – 1/2 टी स्पून

घी – 2 टेबल स्पून

कलौंजी के बीज – 1/4 टीस्पून

पानी गूंधने के लिए

अन्य सामग्री

घी – 1/4 कप

मैदा – 1/4 कप

तेल तलने के लिए

विधि

एक बाउल में 2 कप मैदा लें। इसमें  जीरा, अजवाइन, कलौंजी के बीज और नमक डालें।

अब इसमें 2 टेबलस्पून घी डालें और अच्छे से मिलाएं। अब आवश्यकतानुसार पानी डालें और आटा गूंधें। इसे कम से कम 5 मिनट के लिए गूंधें।

एक बड़ी गेंद के आकार का आटा लें और मैदा के साथ डस्ट करें। बेलन की मदद से थोड़ा पतला रोल करें। अब रोल किया हुआ आटे पर घी से ब्रश करें। मैदा छिड़कें और समान रूप से फैलाएं।

इसे टाइट से रोल करना शुरू करें। यह निमकी में कई लेयर को बनाने में मदद करता है। अब 1 इंच के टुकड़े काटें और परतों की जांच करें।

मैदा के साथ थोड़ा डस्ट करके दबाएं। एक आयताकार या वर्ग आकार के लिए रोल करें। रोल किया आटा पर कुछ बूंद घी के साथ ब्रश करें। इसके अलावा, थोड़ा मैदा छिड़कें और समान रूप से फैलाएं। अब आधा फोल्ड करें। मैदा से डस्ट करें।

त्रिकोण आकार में फोल्ड करें और धीरे से दबाएं। बहुत ज्यादा न दबाएं, क्योंकि लेयर एक-दूसरे से चिपकता है।

फ्राइंग के दौरान पफिंग से रोकने के लिए एक फोर्क से छेद करें।

अब मध्यम गर्म तेल में डीप फ्राय करें। निमकी के गोल्डन और क्रिस्प होने तक फ्राइ करें। इसे पेपर टॉवल पर निकाल लें ताकि अतिरिक्त तेल निकल जाए क्योंकि निमकी की परतों के बीच तेल रहता है। आखिर में कम से कम 2 सप्ताह तक एक एयर टाइट कंटेनर में स्टोर करें और चाय के साथ बंगाली निमकी का स्वाद लें।

Leave a comment