बीते दिनों नार्कोटिक्स ब्यूरो ने अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को कोर्डेलिया क्रूज शिप ड्रग मामले में हिरासत में लिया था. आर्यन समेत इश्मीत सिंह चड्ढा, अरबाज मर्चेंट, मोहक जायसवाल, विक्रांत छोकर, मुनमुन धमेचा, नुपुर सतीजा और गोमित चौपड़ा को भी गिरफ्तार किया गया था. इस गिरफ्तारी और आर्यन खान के ड्रग से नाम जुड़ने के बाद से ही बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान और उनकी पत्नी गौरी खान की परवरिश पर भी सवाल उठने लगे हैं. कोई उनपर तंज कस रहा है तो किसी का कहना है कि मां-बाप खुद ऐसे हैं तो बच्चों को क्या अच्छी सीख देंगे. लेकिन, क्या सचमुच शाहरुख एक बुरे पिता हैं?

आर्यन ने किया हैरान करने वाला खुलासा

एनसीबी की पूछताछ के दौरान आर्यन खान ने कुछ ऐसा कहा जिससे सभी के जहन में अनेक सवाल उभरने लगे हैं. आर्यन ने खुलासा किया कि अगर वे अपने पिता शाहरुख से बात करना चाहते हैं तो उसके लिए आर्यन को उनकी असिस्टेंट से अपॉइंटमेंट लेनी पड़ती है. आर्यन को यह कहते भी सुना गया कि “मेरे पिता बहुत व्यस्त हैं.” जब आर्यन विदेश में पढ़ रहे थे तो शाहरुख से कम ही मिलते थे, और यहाँ मुंबई आकर भी उन्हें अपने पिता की व्यस्तता के चलते अपॉइंटमेंट लेकर मिलना पड़ता था. खैर, आर्यन की गिरफ्तारी के बाद शाहरुख आर्यन से मिलने पहुंचे थे जहां आर्यन उनके सामने रोने लगे थे.  

बेटे के लिए कहा कि ड्रग करे तो भी ठीक

शाहरुख और गौरी सालों पहले सिमी ग्रेवाल के शो पर पहुंचे थे. सिमी ने शाहरुख से कहा था कि वे जरूर अपने बेटे को बिगाड़ रहे होंगे और उन्होंने जवाब दिया था, “मैंने उसे कहा है कि जब वह तीन साल का हो जाये तो लड़कियों के पीछे जा सकता है, स्मोक करना चाहे, ड्रग्स लेना चाहे ले सकता है और सेक्स भी कर सकता है.” हालांकि ये मजाक में कहा गया था लेकिन अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है और साथ ही लोग शाहरुख की परवरिश पर सवाल कर रहे हैं.  

गौरी ने कहा था शाहरुख को बेस्ट पिता

गौरी खान और शाहरुख की प्रेम कहानी आज भी उतनी ही चर्चित है जितनी गुजरे समय में थी. बॉलीवुड की सबसे सक्सेसफुल शादियों में शाहरुख और गौरी को शामिल किया जाता है. एक इंटरव्यू में गौरी ने शाहरुख के बारे में बात करते हुए कहा था, “वह बेस्ट पति और पिता हैं जिनकी मैं उम्मीद कर सकती थी. मैं हमेशा ही कहती हूँ कि मैं बहुत भाग्यशाली हूँ कि मैं शाहरुख खान के साथ हूँ. मैं उस स्थान पर नहीं हूँ जहां उनके लिए शरमाऊं या प्रशंसा कर सकूँ- पूरी दुनिया ही ये कर रही है. मुझे उनके लिए अपना प्यार निजी रखना पसंद है, मन्नत की चारदीवारी में.”

यह भी पढ़ें- आर्यन ड्रग केस: समर्थन में आए ये सेलिब्रिटी

बेटा-बेटी के लिए समान नियम

शाहरुख ने फेमिना मैगजीन को साल 2017 में एक इंटरव्यू दिया था जिसमें उन्होंने बताया था, “मेरा मानना है कि एक आदमी को अपने घर में अपनी मां, बहन या किसी लड़की दोस्त के सामने शर्टलेस नहीं घूमना चाहिए. मैं आर्यन को हमेशा कहता रहता हूं कि टी-शर्ट पहने रखे. इसका स्तन होने न होने से कोई लेना देना नहीं है. जब तुम अपनी मां, बहन या किसी लड़की दोस्त को कपड़ों के बिना देखकर असहज महसूस करते हो तो तुम उनसे ये आशा क्यों करते हो कि तुम्हें शर्टलेस देखकर वे असहज न हों. ऐसा कोई काम मत करो जो एक लड़की न कर सके.” शाहरुख को अपने सभी बच्चों के साथ हमेशा समान ही देखा गया है और ये नियम भी इस बात की पुष्टि करता है कि वे अपने बच्चों से एक सा व्यवहार करते हैं.

अपने बच्चों को दोस्त मानते हैं शाहरुख  

शाहरुख ने एक इंटरव्यू के दौरान इस बात का जिक्र किया था कि वे अपने बच्चों के दोस्त हैं. उन्होंने कहा था, “मैं अपने बच्चों से बहुत प्यार करता हूँ और सिर्फ इसलिए नहीं कि वो मेरे बच्चे हैं बल्कि इसलिए भी कि मैंने उनसे दोस्ती निभाई है. जैसे-जैसे वे बड़े हो रहे हैं मुझे इस बात का एहसास हो रहा कि वे मेरे सबसे अच्छे दोस्त हैं. मुझे लगता है कि मेरी मानसिक उम्र 12-14 साल की है और इसलिए यह बहुत अच्छा है कि मेरे दो पक्के दोस्त हैं जिन्हें मैं कभी पा सकता था.”

बच्चों के करियर को किया सपोर्ट  

चाहे बेटी सुहाना खान का वोग के कवर पेज पर आना हो या बेटे आर्यन का फिल्ममेकिंग में दिलचस्पी दिखाना, शाहरुख ने हमेशा ही अपने बच्चों के करियर चुनाव का सम्मान किया है. ये बात तो किसी से छुपी हुई नहीं है कि वे शाहरुख ही थे जिनके कारण सुहाना को बिना किसी फिल्म और मॉडलिंग एक्सपीरियंस के या कहें जीवन में बिना कुछ बड़ा किए वोग जैसे नामी मैगजीन के कवर पर आने का मौका मिला था. वहीं, शाहरुख ने खुद इस बात का जिक्र किया था कि वे अक्सर आर्यन के साथ फिल्में देखते हुए फिल्ममेकिंग के विभिन्न आयामों पर चर्चा करते हैं.

बच्चों को डेट करने की है आजादी

शाहरुख और गौरी ने कभी अपने बच्चों को डेट करने से नहीं रोका है. अपने बेटे की गर्लफ्रेंड या बेटी सुहाना के बॉयफ्रेंड का जिक्र आने पर वे कभी असहज नजर नहीं आये हैं, बल्कि अक्सर मजाक करते दिखे हैं. हालांकि, अपनी बेटी सुहाना के विषय में वे थोड़े प्रोटेक्टिव हैं और कहते हैं कि बॉयफ्रेंड पहले ही समझ जाए कि वे उसे पसंद नहीं करते.

कौन-सा पहलू है सही?

शाहरुख और गौरी की परवरिश कितनी सही है और कितनी नहीं यह एक बड़ा प्रश्न है, और जिस तरह सिक्के के दो पहलू होते हैं उसी तरह इस प्रश्न के भी दोनों ही पहलू हैं. शाहरुख का अपने बच्चों पर ध्यान न देना और उन्हें पूरा वक्त न दे पाना एक वजह हो सकती है कि उन्हें अपने बेटे की नशे की आदतों के बारे में पता नहीं चला. वैसे भी बच्चों का दोस्त होना भर ही काफी नहीं है, बच्चों को कई बार दोस्त की नहीं पिता की जरुरत होती है.

Leave a comment