googlenews
bollywood - 'ओ माय गॉड' की फिलॉसफी फॉलो करती हूं

Bollywood-Follow the philosophy of ‘oh my god’

ब्रेक का कारण?
मैंने कोई जानबूझ कर ब्रेक नहीं लिया था। मेरे लिए किसी भी काम में सेटिस्फेक्शन बहुत जरूरी है, जब तक काम रुचिकर न हो उसे करना बेकार है। इस बीच बहुत सारे डायरेक्टर्स आए, लेकिन मुझे स्क्रिप्ट पसंद नहीं आई और यह ब्रेक हो गया।

आपकी लाइफ की फिलॉसफी?
मैं बहुत ही साधारण सी लड़की हूं। मुझे मोहन सर की ‘ओ माय गॉड की फिलॉसफी बहुत पसंद आई। कहीं न कहीं वही फिलॉसफी मैं अपनी लाइफ में फॉलो करती हूं। मैं बहुत ही पॉजिटिव सोच की हूं। किसी चीज को अपने ऊपर हावी नहीं होने देती हूं।

परिवार के साथ संबंध?
अपने पेरेंट्स की अकेली लड़की हूं। हम तीन ही का पूरा परिवार है। मेरी दुनिया मेरे मम्मी-पापा हैं। दोनों के साथ बेहद क्लोज हूं। शुरू में मेरे पापा मुझे प्रोफेशनली हैल्प कर रहे थे।

आपके को-स्टार्स अभिषेक बच्चन और ऋषि कपूर…?
जैसा कि सबको पता है अभिषेक बहुत शरारती हैं। सेट पर काफी प्रैन्क्स हंसी-मजाक करते हैं। ‘बोल बच्चन फिल्म के दौरान मैं उन्हें भाईजान कहने लगती थी और आज भी यही संबोधन इस्तेमाल करती हूं।
ऋषि कपूर मेरे चिन्टू अंकल हैं। मैं उन्हें टेडी बियर कहती हूं। उनके साथ मेरी यह दूसरी फिल्म है। अंकल काफी स्ट्रेट फॉरवर्ड और ब्लंट हैं और उनकी यही खासियत मुझे पसंद है।

बेस्ट क्रिटिक और फैन?
मेरे बेस्ट क्रिटिक और फैन मेरे मम्मी-पापा हैं। वह कभी भी मेरी जबरदस्ती तारीफ नहीं करते, हां गलतियां जरूर जल्दी से बता देते हैं। ‘आल इज वेलमेरी 25वीं फिल्म है और इसके लिए वह बेहद खुश हैं।