कोरोना के इस दौर में हर किसी को बस एक उम्मीद की ही तलाश है। जापान की कलाकार शिहारू शियोता ने जर्मनी के शहर बर्लिन में यह उम्मीद की प्रदर्शनी लगाई है। शियोता ने दुनियाभर के लोगों से अपनी कहानियां साझां करने और भविष्य को लेकर उम्मीदों का जिक्र करने का आग्रह किया था। उन्हें 10 हजार से ज्यादा लोगों ने यह पत्र भेजे हैं। उन्होंने इन पत्रों को लाल रंग के धागों में पिरोकर यह खूबसूरत कृति तैयार की है। शियोता की यह कृति आनलाईन एग्जी़बिशन में प्रदर्शित की गई है।