googlenews

महिला दिवस के अवसर पर डी रिकॉर्ड्स ने गर्व के साथ एक सिंगल टाइटल “लोका समस्ता सुखिनो भवंतु” की घोषणा की। यह संस्कृत श्लोक एक सर्व-समावेशी और एक सर्वव्यापी छंद है, जिसका अर्थ है -सभी प्राणियों (पुरुष, महिला, बच्चे, जानवर, सभी) हर जगह खुश और आजाद रहें। “ यह गीत एक मंत्र है, जिसे तरन मेहंदी ने‌ राग बैरागी और राग भैरव में गाया और कंपोज किया है। गाने के संगीत निर्माता सिंगापुर से संगीत सीखने वाले और मुंबई- दिल्ली में रह रहे संगीत निर्माता लियो साउंड है। गिटार, तिब्बतियन बाउल और घंटियाँ प्रकृति की ध्वनियाँ एक बेहतरीन और ध्यान लगाने योग्य आभा पैदा करती हैं। तरन मेहन्दी द्वारा बौद्ध लोटस सूत्र नम म्योहो रेंगे क्यो  गीत के वोकल डिजाइन की पृष्ठभूमि देता है। तरन मेहंदी ने वीडियो निर्देशक के रूप में डेब्यू किया।

उन्होंने वीडियो में 7 से 70 वर्ष की आयु के 13 पात्रों को कास्ट किया है, यह सभी लोग इस वीडियो से अपना डेब्यू कर रहे हैं। प्रत्येक व्यक्ति ने इस वीडियो में अपने जीवन की स्थितियों को  चित्रित किया है, गर्व, क्रोध और उन स्थितियों को महसूस किया है, जो हम सभी ने अपने जीवन में देखी हैं, जैसे रीति रिवाज, संकट, भय आदि जिससे हमें समाज में गुजरना पड़ता है। लेकिन सच्ची आजादी तब होती है जब हम खुद को सशक्त बनाते हैं, खुशी से निर्णय लेने के लिए खुद को तैयार करते हैं। बूढ़ी औरत विवेक को दर्शाती है।

लोका समस्ता सुखिनो भवंतु से बिखरेंगी खुशियां 5

सुधार तब होता है जब हम अपने आप को भीतरी और बाहरी रूप से स्वीकार करते हैं। बैकग्राउंड में किया गया मंत्र जाप ब्रह्मांड के रहस्यवादी नियम का पालन करने की लगातार याद दिलाए जाने की भावना को स्पष्ट करता है। यह अच्छी भावनाओं को संगीत में पिरोता है जो खुशी और स्वतंत्रता की ओर ले जाता है। हमारे जीवन में उदासी, दुख आदि से हमें यह पता चलता है कि हम किन भावनाओं को बो रहे हैं। यह भीतर देखने और ध्यान केंद्रित करने के अवसर है।

लोका समस्ता सुखिनो भवंतु से बिखरेंगी खुशियां 6

यह गीत आप में बसने लगता है दूसरी और तीसरी बार सुनने के बाद भी जब आप संगीत को बंद करते हैं तब भी इसके मंत्र आपके कानों में गूंजते रहते हैं। तरन मेहंदी, ऊर्जा और विचारों की पावर हाउस, डी रिकॉर्ड के संस्थापक और सीईओ ने गुड़िया रानी म्यूजिक वीडियो का निर्देशन किया था। डब्ल्यूएचओ के मानसिक प्रबंधन वीडियो के लिए गीत कंपोज किए हैं। इसके अलावा उन्होंने दिलेर मेहंदी, मीका सिंह, ग़ज़ल उस्ताद हुसैन बुख़्श, इम्तियाज़ अली रियाज़ अली जैसे स्टार कलाकारों के एल्बम को रिलीज और प्रोमोट किया है। वह हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत में विशारद डिग्री रखती है।

यह भी पढ़ें –दहेज – गृहलक्ष्मी लघुकथा