पीएच लेवल बैलेंस करने के प्रयास करने से पहले जरूरी है कि पीएच लेवल है क्या ये जान लिया जाए। दरअसल हमारी त्वचा तब ही हेल्थी मानी जाती है जब इसका पीएच लेवल बिलकुल संतुलित हो। इसके बिगड़ने पर त्वचा से जुड़ी कई परेशानियां घर करने लगती हैं। जैसे झाइयां, रिंकल, मुहांसे त्वचा के साथी बन जाएंगे। फिर शुरू होंगी आपकी दिक्कतें। ये तो आप जानती ही होंगी कि त्वचा पर जरा सी परेशानी कैसे आपका मूड और लुक दोनों खराब कर देती है। इसलिए जरूरी है कि त्वचा के पीएच लेवल का ध्यान रखा जाए –

कितना हो पीएच लेवल

स्किन का पीएच लेवल निश्चित है। पीएच लेवल 4.8 से 6 के बीच होना चाहिए। इससे कम या ज्यादा होने की स्थिति में त्वचा को बड़ा नुकसान हो सकता है। अगर पीएच लेवल ज्याचदा है, तो स्किदन पर मुंहासे, ब्रेकआउट, और कालापन होने लगेगा।

कैसे नुकसान करता है पीएच लेवल

पीएच अगर संतुलित न हो तो ये स्किन में अम्लता या क्षारीयता को बढ़ा देता है, जिससे त्वचा में कील-मुंहासे, दाग-धब्बे आदि हो जाते है। इसलिए कुछ भी करके पीएच लेवल को बैलेंस रखना जरूरी हो जाता है। 

लिक्विड हो बैलेंस

पीएच बैलेंस बनाए रखने के लिए जरूरी है कि शरीर में पानी का बैलेंस भी बना रहे। इसके लिए डाइट में नियम से लिक्विड शामिल करना जरूरी है। कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी का सेवन रोज करें ही करें। इसके अलावा गर्मी के समय में छाछ, जूस और नींबू पानी भी पिया जा सकता है। 

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर वैसे तो पेट के लिए भी अच्छा होता है लेकिन ये त्वचा को भी खास फायदा देता है। मगर इसे आप सीधे पर पर त्वचा पर नहीं लगाया जा सकता है। बल्कि इसके लिए आपको विनेगर को पानी में मिलाना होगा। चार कप पानी में आधा कप विनेगर मिलकर इससे बढ़िया फेस टोनर बन जाएगा। 

सूरज के किरणों से दूरी

सूरज की किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचाती है। ये तो आप जानती ही हैं लेकिन यही किरणें त्वचा का पीएच लेवल भी बिगाड़ सकती हैं। इसलिए बहुत जरूरी है सूरज की किरणों से दूरी बनाकर रखी जाए। कोशिश करें कि रोज सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाएं। 

एंटीऑक्सीडेंट आहार करेगा मदद

त्वचा का पीएच लेवल बराबर रखना है तो आपको अपने आहार में एंटीऑक्सीडेंट आहार को शामिल करना पड़ेगा। इसके लिए आपके खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां, फल आदि जरूर होनी चाहिए।