googlenews
कंडोम चार अलग अलग साइज़ में मिलते हैं।
कंडोम चार अलग अलग साइज़ में मिलते हैं।

क्या आप सेक्स के समय कंडोम का प्रयोग करते हैं? हो सकता है यह सवाल आपके लिए बहुत ही अप्रत्याशित सा हो। लेकिन यदि आप सेक्सुअली ऐक्टिव हैं तो आपके लिए कंडोम इस्तेमाल इस्तेमाल करना बेहद ज़रूरी है। इससे न सिर्फ़ अनचाही प्रेगनेंसी का ख़तरा टलता है बल्कि सेक्सुअली ट्रान्समिटेड डिजीज यानी STD का ख़तरा भी नहीं रहता। ऐसे में सेक्स के दौरान प्रोटेकशन का सबसे आसान और सुविधाजनक तरीक़ा है इनका इस्तेमाल।

कंडोम क्या होता है या इसे किस तरह से प्रयोग किया जाता है? यह तो एक सेक्सुअली एक्टिव व्यक्ति अच्छी तरीके से जानता है। अच्छी और आनंददायक सेक्स लाइफ़ के लिए,और असहजता से बचने के लिए, सही साइज़ का कंडोम इस्तेमाल करना ज़रूरी होता है। यहां प्रश्न उठता है कि क्या आप सही साइज़ का इस्तेमाल कर रहे हैं।

पूरी संभावना है कि आप यह नहीं जानते होंगे कि कंडोम भी 4 साइज में आते हैं। आपको बता दें कि बाजार में हर तरह का चाहे वह सस्ता हो या महंगा कंडोम उपलब्ध है । लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि आप अगर सही साइज का प्रयोग करेंगे तो आप जिस प्लेजर को तलाश रहे हैं वह भी आपको ठीक प्रकार से मिल सकता है।

अलग अलग साइज़ के कंडोम उपलब्ध हैं मार्केट में

condom sizes
अलग अलग साइज़

चौंकिए मत! चार अलग अलग साइज़ में मिलते हैं। जिन्हें व्यक्ति की ज़रूरत के हिसाब से सेट किया जाता है। मगर इस बात से अनजान लोग जीवन भर एक ही साइज़ के कंडोम इस्तेमाल करते हैं। नतीजा कभी साइज़ बड़ा होने के कारण फ़िट नहीं बैठता और, छोटा होने से उतर जाता है। जिससे आपके पार्टनर को अनचाही प्रेग्नन्सी का ख़ास सामना करना पड़ सकता है।

इनका प्रयोग क्यों है फायदेमंद

benefits of condom
सेक्सुअल ट्रांसमिटेड बीमारी से बचने के लिए .
  • किसी भी प्रकार की सेक्सुअल ट्रांसमिटेड बीमारी से बचने के लिए
  • सुरक्षित सेक्स के लिए
  • शीघ्रपतन से बचने के लिए
  • ज्यादा लंबे सेक्स टाइम के लिए
  • भरपूर मजा लेने के लिए

बड़ा, छोटा, मध्यम व रेगुलर यानी (स्मॉल,मीडीयम,लोंग,और रेगुलर)। ये चारों साइज़, पेनिस की लम्बाई और चौड़ाई के हिसाब से व किसे कितनी फ़िटिंग वाला कंडोम चाहिए, उसके अनुसार चुने जाते हैं।

कैसे करें चुनाव

condom calculator
पेनिस का साइज़ मापना
  • विशेषज्ञों के अनुसार इनका सही चुनाव करने के लिए पेनिस का साइज़ मापना ही सबसे आसान और सुरक्षित तरीक़ा है। पेनिस का साइज़ मापने के लिए मेजरमेंट टेप का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • लेकिन मापते टाइम यह भी जरूरी है कि आपकी पेनिस पूरी तरह से इरेक्ट हो। फिर आगे से (फ़्रंट) से पूरे पीछे तक का नाप लें ताकि ये पूरे पेनिस को कवर करने लायक हो।
  • अगर नहीं ले पा रहे माप तो किसी डॉक्टर या सेक्स एक्सपर्ट से ही अपने लिए सही साइज़ चुनने में मदद लें। इसमें हिचकिचाहट वाली कोई बात नहीं।
  • यदि आप एक्सपर्ट की राय नहीं लेना चाहते तो आप अपनी समझ के अनुसार इनका प्रयोग करें।
  • फ़िट न होने पर अलग साइज़ का कंडोम ख़रीदें।

बाजार में मौजूद इनके प्रकार

फ्लेवर्ड कंडोम के साथ लें सेक्स का मजा

flavoured condoms
फ्लेवर्ड कंडोम

मार्केट में बहुत से फ्लेवर्ड कंडोम उपलब्ध हैं जैसे चॉकलेट, एप्पल, स्ट्रौबरी, रोज आदि। वह बात अलग है कि यह ओरल सेक्स के लिए बना है । पर अधिकतर लोग इसे सेक्स के समय ही प्रयोग करना चाहते हैं।

रेगुलर व पुराना कंडोम

regular condoms
रेगुलर व पुराना कंडोम

यह कोई नया प्रयोग नहीं है। काफी समय से बाजार में उपलब्ध है। जिन लोगों को आजकल के नए कंडोम समझ में नहीं आते वह आज भी इस पुराने को ही प्रयोग करना चाहते हैं।

डॉटेड कंडोम देता है एक्स्ट्रा प्लेजर

dotted condoms
डॉटेड कंडोम देता है एक्स्ट्रा प्लेजर

आजकल सबसे ज्यादा चलन में है यह डॉटेड कंडोम। नई पीढ़ी तो खासकर इसी को प्रयोग करना पसंद करती है। यह दो तरह के आते हैं डॉटेड और एक्स्ट्रा डॉटेड। हालांकि दोनों का मकसद एक ही है यानी सेक्स। लेकिन जिन लोगों को अपना सेक्स टाइम बढ़ाना है वह इसे एक्स्ट्रा डॉटेड से पूरा करते हैं। एक्स्ट्रा डॉटेड से सेक्स का प्लेजर दुगना हो जाता है।

मोटी परत वाला कंडोम

thick condom
मोटी परत वाला कंडोम

ऐसा नहीं है कि इस की परत काफी मोटी होती है। लेकिन अन्य के मुकाबले थोड़ा मोटा होता है यह । जिन लोगों को जल्दी पतन हो जाता है उनके लिए यह काफी उपयोगी है।

लेटेक्स फैलने वाला कंडोम

latex condom
लेटेक्स फैलने वाला कंडोम

जिन लोगों को थोड़े बड़े साइज का चाहिए वह इस कंडोम का प्रयोग कर सकते हैं। क्योंकि यह आसानी से फैलता है और फटता भी नहीं। पूरे पेनिस को भी कवर कर लेता है सिलिकौन,पौलिथेरेन, लैम्बस्क़िन आदि लेटेस्ट इसके टाइप हैं। इसमें से आपको कौन सा स्क़िन टाइप सूट करेगा यह केवल ट्राई करने पर ही पता चलेगा।

सुरक्षित सेक्स संबंध क्यों जरूरी है यह तो आप जानते ही हैं। बस जरूरी है जानना कि आप कंडोम का साइज़ कौन सा प्रयोग कर रहे हैं। उम्मीद है हमारा लेख आपके लिए फायदेमंद होगा।

Leave a comment