जब आप किसी नई जॉब के लिए जाते हैं तो कुछ ऐसी बातें होती हैं जिन्हें अपने जहन में रखना जरूरी है। पहली बात तो यह कि आप अपने काम के प्रति कितने ईमानदार हैं और आप समय को लेकर कितने पंक्चुअल हैं। इन सब के पहले जरूरी है कि आपका व्यवहार कैसा है। कभी-कभी तो ऐसा होता है कि जो बात आपको अपने बॉस से नहीं कहनी चाहिए वो आप उनसे कहते हो। जिससे आपकी छवि प्रभावित होती है। आपका इरिटेट होकर कहना या जवाब देना दोनों ही आप पर भारी पड़ सकता है।

बॉस से कभी न कहें ये बातें

वो कौन-सी बातें हैं जो आपको अपने बॉस से कभी नहीं कहनी चाहिए। चलिए जानते हैं-

• हम ये काम नहीं कर सकते /  ये नहीं हो सकता

• अपनी गलती को स्वीकारें 

• हमसे कब कहा गया था 

• यह मेरी समस्या नहीं है 

• अभी मेरे पास समय नहीं है

• बिना बताए ऑफिस से न जाएं

• अकारण डेस्क के चक्कर न लगाएं

• लगातार ऑफिस लेट पहुंचना

• अपने बॉस न करें दोस्त जैसा बिहैव

• वेतन वृद्धि की मांग

• बॉस पर न डालें डोरे

1.हम ये काम नहीं कर सकते /  ये नहीं हो सकता– अगर आपके पास बहुत सारा काम पड़ा है और आपके बॉस आपको और काम दे देते हैं तो आप कभी ये न कहें कि ये काम आप नहीं कर सकते हैं या ये नहीं हो सकता है, क्योंकि इससे आप अपने बॉस की रडार पर आ सकते हैं। आप उनसे पूछ लीजिए कि पहले कौन सा काम हम आपको करके दे दें। 

बॉस से कभी न कहें ये बातें

2.अपनी गलती को स्वीकारें– आपने ऑफिसेज में देखा होगा कि एक कर्मचारी अपनी गलती  को छिपाने के लिए दूसरे कर्मचारी पर उसकी ,गलती थोप देता है और वह बच जाता है। ऐसा आप बिल्कुल भी न करें क्योंकि आप एक या दो बार तो बच सकते हैं लेकिन हर बार नहीं। इसलिए अपनी गलती को स्वीकार करने की आदत डाल लीजिए, मैनर्स भी यही हैं।

3.हमसे कब कहा गया था– आपको कोई काम बताए उससे पहले ही आप उस काम को करके संबंधित व्यक्ति को सौंप दें। इससे आपकी इमेज अच्छी बनेगी। अगर आपने ये कह दिया कि ये काम हमसे कब कहा गया तो इससे आपकी छवि पर गलत प्रभाव पड़ेगा।

4.यह मेरी समस्या नहीं है– पदोन्नति होने के बाद किसी भी कर्मचारी का काम उसके पोस्ट के मुताबिक बढ़ जाता है। ऐसे में वह सीनियर व्यक्ति आपसे कोई सहायता मांगता है तो आप उससे ये कभी न कहें कि ये मेरा काम नहीं है या ये मेरी समस्या नहीं है।

5.अभी मेरे पास समय नहीं है– जब भी आपका बॉस आपसे कोई काम कहे तो उससे पलटकर आप यह न कहें कि अभी आपके पास समय नहीं है। आप अपने बॉस को कारण बता दें कि सर अभी मेरे पास कुछ जरूरी काम है मैं उसको करके आपका काम कर दूंगा।

बॉस से कभी न कहें ये बातें

6.बिना बताए ऑफिस से न जाएं– काम फिनिश होने के बाद आप अपने किसी सीनियर जिनके अंडर में आप हैं उन्हें एक बार इन्फॉर्म जरूर करें कि सर अब मेरा काम खत्म हो गया है और मेरी शिफ्ट अब पूरी हो चुकी है अत: अब हम जा रहे हैं। जिससे उनकी नॉलेज में रहेगा कि आप ऑफिस में प्रजेंट नहीं हैं। 

7.अकारण डेस्क के चक्कर न लगाएं– जब आपका काम खत्म हो जाता है या आप काम से थोड़ा ऊब जाते हैं तो अपनी डेस्क से उठकर आप सामने वाले की डेस्क में खड़े हो जाते हैं या फिर चक्कर लगाने लगते हैं, ऐसा करने से आप अपने बॉस की नजर में आ जाते हैं और तब बॉस को ये लगने लगता है कि आप काम के प्रति बड़े ही लापरवाह हैं। काम खत्म हो जाए आप अपनी डेस्क में ही बैठे रहिए।

8.लगातार ऑफिस लेट पहुंचना– कभी-कभी आप ऑफिस लेट पहुंचते हैं तो आपके बॉस आपसे कुछ नहीं कहते हैं, लेकिन यही आपकी आदत बन जाए तो आपकी लापरवाहीझलकने लगती है। तब यह शो होता है कि आप अपने काम को कितना प्रिफर करते हो। 

9.अपने बॉस न करें दोस्त जैसा बिहैव– आप जिस ऑफिस में काम कर रहे हो उस ऑफिस का बॉस आपका जिगरी दोस्त है तो आप ऑफिस के अंदर उनसे दोस्त जैसा बिहैव न करें क्योंकि दोस्ती में आप क्या बोल जा रहे हो यह आप तब नहीं समझते हैं। बॉस की प्रेस्टिज का भी सवाल होता है। साथ ही अपने बॉस के साथ बीते दिन की पार्टी का जिक्र ऑफिस में न करें।

बॉस से कभी न कहें ये बातें

10.वेतन वृद्धि की मांग– आपका काम बढ़ा दिया जाता है तो आप तुरंत अपने बॉस से वेतन में वृद्धि की मांग करने लगते हैं। तरह-तरह के बहाने भी आपको याद आने लगते हैं जैसे कि किराया बहुत लगता है, मकान मालिक ने किराया बढ़ा दिया, दूर से आते हैं। और भी कई तरह की समस्याएं आप अपने बॉस से बताने लगते हैं। ऐसा बिल्कुल भी न करें। बॉस आपके काम को देखकर आपकी सैलरी बढ़ाते हैं न कि आपकी समस्या को देखकर।

11.बॉस पर न डालें डोरे– आपने ज्यादातर युवाओं को देखा होगा कि वह जिस ऑफिस में काम कर रहे होते हैं उसी ऑफिस के बॉस पर डोरे डालने शुरू कर देते हैं। ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे बॉस और इंम्लॉय के बीच की रेखा टूट जाती है। साथ ही अन्य कर्मचारी भी आपकी उतनी इज्जत नहीं करते हैं जितनी पहले कर रहे होते हैं।  हालांकि कुछ केस में तो दोनों में सामंजस्यता भी बनी रहती है और घर भी बसा लेते हैं।

आप भी अगर नए किसी ऑफिस में जॉब तलाश रहे हैं तो इन बातों का विशेषतौर पर ध्यान दें। नहीं तो आप अपनी खामियों के खुद जिम्मेदार होंगे।

यह भी पढ़ें-

जब कुछ समझ में ना आए तो क्या करें

जब रिश्ते आपस में होने लगे खट्टे