googlenews
Forgiveness in Relationships: जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना
Forgiveness in Relationships

Forgiveness in Relationships : मायरा 34 साल की है और अपने जीवन में बेहद खुश और संतुष्ट भी। उसका जीवन ऑफिस और घर के बीच सही चल रहा था लेकिन उस एक दिन ने उसके जीवन में तूफान ला दिया। वह ऑफिस से निकल ही रही थी कि तभी उसने अपने सबसे अच्छे सहकर्मी जो उसका दोस्त भी था, को उसके बारे में गलत बोलते सुना। मायरा को ऐसा महसूस हुआ मानो उसके पैरों तले जमीन ही खिसक गई। जिससे वह अपने जीवन की सारी बातें शेयर करती थी, वह किसी और से उसकी बुराई कर रहा था। बड़ी मुश्किल से उसने अपने लड़खड़ाते कदमों को संभला और घर जाने के लिए रिक्शा लिया। रास्ते भर वह अपने दोस्त के बारे में सोचती रही। उसने तय कर लिया था कि वह अगले दिन उससे बात करके सब कुछ साफ करने की कोशिश करेगी। घर पहुंचकर उसने सीधे बेडरूम की राह पकड़ी और आंखें बंद करके लेट गई। उसकी सासू मां ने जब उससे पूछने की कोशिश की तो उसने कह दिया कि उसे नींद आ रही है। लेकिन नींद तो उसकी आंखों से कोसों दूर थी। उसका सिर फट रहा था तो वह चाय बनाने उठी। पैर कमरे के बाहर जाते ही उसे सासूमां की आवाज सुनाई दी, जो कह रही थी कि महारानी को बड़ी नींद आ रही है। यह वही मम्मी जी थी, जो सबके सामने उसकी तारीफों के पुल बांधते नहीं थकती थी। मायरा को कुछ भी समझ नहीं आया। उसने तुरंत मम्मी जी से बात साफ करना चाहा और अपनी गलतियां पूछीं तो वह सकते में आ गर्इं। उन्होंने माफी मांगी लेकिन मायरा टूट चुकी थी। अगले दिन उसके दोस्त ने भी उससे माफी मांगी लेकिन मायरा को समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करे। घर और ऑफिस दोनों जगह से वह टूट चुकी थी।

आप जिसे प्यार और जिस पर विश्वास करते हैं, उससे जब आपको धोखा मिलता है तो इससे बड़ा दुख कुछ और नहीं हो सकता। धोखाधड़ी कई तरह से सामने आता है, बेईमानी, बेवफाई, अविश्वास रोक- टोक आदि। ये सारे अहसास हमें नैतिक उल्लंघन लगते हैं, जो हमारी आत्मा को चीर कर रख देते हैं आौर मानसिक अवसाद का कारण बनते हैं। रिश्ते बेहद नाजुक और उलझे होते हैं और परिस्थिति पर निर्भर करते हुए हमेशा रिश्ते को खत्म नहीं करते हैं। कुछ लोगों के लिए धोखाधड़ी के बाद रिश्ता अधिक मजबूत हो जाता है। जब रिश्ते को आगे बढ़ाते रहने की इच्छा होती है तो सामने वाले को माफी देने के बारे में सोचा जाता है। माफ कर देना मामले को सुलझाने के लिए जरूरी है लेकिन यह रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी नहीं है। एक रिश्ते की मरम्मत हो सकती है या नहीं, यह इस बार पर निर्भर करता है कि विश्वास को बनाए रखा जा सकता है या नहीं।

खुद को करें माफ

Forgiveness in Relationships: जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना
forgive yourself

माफ करने की प्रक्रिया में सबसे जरूरी है कि आप पहले स्वयं को माफ करें। किसी भी परिस्थिति को समझने के दौरान हम चीजों को समझना चाहते हैं। हम अक्सर खुद को दोष देने लगते हैं। हम सोचते हैं कि यदि मैं अच्छी इंसान होती तो शायद यह मेरे साथ नहीं होता। हमें लगता है कि हमें कमी का पता चल जाता तो हम इसे होने से पहले ही ठीक कर लेते। खुद को माफ कर देने के लिए खुद पर दया करनी होगी। अपनी कमियों के बावजूद यह सीखकर हम खुद के साथ बेहतर व्यवहार करेंगे। हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि दूसरे व्यक्ति का व्यवहार जिस तरह का है या था, यह उसका चयन था और इससे यह पता चलता है कि वह कैसा है, हम कैसे हैं, यह नहीं।

दूसरे को करें माफ

Forgiveness in Relationships: जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना
forgive others

दोबारा विश्वास प्राप्त करने के लिए पहले खुद के भावनात्मक स्वास्थ्य का कंट्रोल आपके हाथ में होना चाहिए। इसके लिए आपको उसी परिस्थिति में शांति ढूंढनी होगी। कई लोग माफी के लिए संघर्ष करते हैं क्योंकि वे अन्य व्यक्ति को उसके खराब व्यवहार के लिए भूलना ही नहीं चाहते। यह समझना बहुत जरूरी है कि माफ कर देना न केवल दूसरे व्यक्ति के लिए बल्कि आपकी अपनी भावनात्मक मुक्ति के लिए महत्वपूर्ण है। पुराने दिनों और पुरानी चीजों के लिए माफ करना सीखना और शांति महसूस करना एवं करवाना आपके लिए तब आसान हो सकता है, जब उन विशेष मौकों के बारें में सोचना छोड़ देंगी, जो हुर्इं और दूसरे व्यक्ति क पक्ष से चीजों को देखेंगी। दूसरे के नजरों से चीजों को देखने से आपको स्थिति को समझने में आसानी होगी और आप इसे निजी तौर पर नहीं लेंगी।

स्व पर विश्वास

Forgiveness in Relationships: जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना
self confidence

दूसरे पर विश्वास करना तब तक कठिन है, जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते हैं। डर तब ज्यादा मन में बैठ जाता है, जब व्यक्ति यह सोचता है कि जिसने धोखा दिया है, उसके दोबारा धोखा देने से वह पूरी तरह से टूट जाएंगे। इस टूटन के अहसास से हम भावनात्मक तौर पर लगभग अधमरे हो चुके होते हैं, फिर से धोखा खाने की शर्मिन्दगी और भय हमारे आत्म सम्मान पर कहर ढाता है। यह डर इतना खराब और जानलेवा है कि इससे किसी भी तरह से पीछा छुड़ाने की आवश्यकता है। यहीं पर आपको काम करने की जरूरत है। इस पर ध्यान देने की बजाय आप क्यों ठीक नहीं हो सकते, इस पर ध्यान दें कि आपको ठीक रहना है और सामने वाले पर भरोसा करना है। आप यह सोचें कि इस समय आपको कहां से मजबूती मिलेगी। कई लोग यह भी सोचते हैं कि दोबारा माफ कर देने से वे कमजोर कहलाएंगे। सामने वाला उन्हें फॉर ग्रांटेड ले लेगा। यह फॉर ग्रांटेड वाला अहसास आपको अंदर से कमजोर बना देने के लिए काफी है। लेकिन यह रवैया बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

दूसरे पर विश्वास

Forgiveness in Relationships: जरूरी है इस तरह से रिश्ते में माफ करना और आगे बढ़ना
trust in another

सामने वाले पर विश्वास करने की सचाई यह है कि आप सामने वाले को लेकर यह निश्चित रहें कि कहीं भी कोई निश्चिंतता नहीं है। विश्वासघात के बाद आप स्थिति का आकलन कर सकते हैं और  भविष्य में उसके व्यवहार की संभावना के बारे में मूल्यांकन भी। यह सोचें कि क्या सामने वाला इमानदारी से माफी मांग रहा है और रिश्ते को एक अन्य मौका देने का इच्छुक है? क्या वह अपने जीवन के दूसरे पक्षों में ईमानदार है? क्या किसी परिस्थितिवश उसने बेईमानी की या उसके व्यवहार में भी बेईमानी है? क्या उसने पहले भी आपका विश्वास तोड़ा है? सबसे बड़ी बात, आपके रिश्ते में बुरे का पलड़ा भारी है अच्छे का? यदि आपके इन सवालों का जवाब ज्यादा अच्छे में हैं तो अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप सामने वाले को उसकी गलतियों के साथ स्वीकार करते हैं और अपने रिश्ते के लिए फिर से उसके साथ रिश्ते को निभाना चाहते हैं। सिर्फ समय ही बता सकता है कि विश्वास करना सही है या नहीं। हालांकि, डर या गुस्से से खुद को रोकना आपको भावनात्मक तौर पर किसी से जुड़ने से रोकता है। इस तरह से आपका रिश्ता हेल्दी तौर पर आगे बढ़ने से रुकता है। रिश्ते हमारे जीवन के लिए सांसों की तरह हैं। बिना मुश्किल समय के, हम हमारे अच्छे दिनों का लुत्फ कैसे उठा सकते हैं। एक टूटने वाला रिश्ता आपको एक व्यक्ति के तौर पर विकसित होने में मदद करता है और एक रिश्ते को गहरा अर्थ भी मिलता है।

ये भी पढ़ें –

आसान हो सकता है फ़ीडबैक लेना, ऐसे करें कोशिश 

इन तरीकों से डील करें अपने नॉन-रोमांटिक हसबैंड के साथ 

रिलेशनशिप टिप्स कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। रिलेशनशिप से जुड़े टिप्स आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com