googlenews
सेक्स से भागे नहीं, ढूंढ़े समाधान: Relationship Solutions
Relationship Solutions

Relationship Solutions: सेक्स एक थेरेपी की तरह काम करता है, खासतौर से उन लोगों पर जिन्हें तनाव की समस्या है। मगर कुछ महिलाएं सेक्स के दौरान होने वाले खिंचाव से परेशान होकर इसके प्रति अरुचि दिखाने लगती हैं। यदि इस हिचक से छुटकारा पाना चाहती हैं तो इस लेख को अवश्य पढ़ें।

सेक्स पति-पत्नी के बीच प्यार का ही एक हिस्सा है। सेक्स सचमुच आनंददायक होता है। सेक्स के तमाम शारीरिक और मानसिक लाभ हैं। इससे तनाव तो दूर होता ही है, साथ ही मूड भी अच्छा रहता है। परंतु कभी सेक्स मजा के बजाय सजा लगने लगता है, खास कर महिलाओं को। इसका मुख्य कारण सेक्स के दौरान या बाद में होने वाला दर्द या खिंचाव होता है। एक सर्वे के अनुसार लगभग 75 प्रतिशत महिलाओं में दर्द और खिंचाव के कारण सेक्स के प्रति अरुचि हो जाती है। उन्हें सेक्स से डर लगने लगता है और सेक्स के लिए पार्टनर को मना भी कर देती हैं। सेक्स के दौरान या बाद में कोमल अंगों में होने वाले खिंचाव या दर्द के अनेक कारण हैं। इन कारणों को जान कर उन्हें दूर करने की कोशिश की जाए तो सेक्स की सजा को मजा में बदला जा सकता है।

वजाइनल इन्फेक्शन

वजाइनल इन्फेक्शन बहुत ही कॉमन समस्या है। इसमें यीस्ट इन्फेक्शन का भी समावेश होता है। किसी न किसी प्रकार का वजाइनल इन्फेक्शन महिलाओं को उनकी जिंदगी में होता रहता है। जिसमें ह्वाइट डिस्चार्ज का भी समावेश होता है। सामान्य रूप से वैक्टेरियल, यीस्ट अथवा यौन संचारित इन्फेक्शन से सेक्स के दौरान दर्द या खिंचाव हो सकता है। सामान्य रूप से इसका मुख्य लक्षण तरल का वजाइना में से डिस्चार्ज होना है।

गर्भाशय की समस्या

Relationship Solutions
Pregnancy Problem

गर्भाशय की समस्याओं में फाइब्राइड का समावेश होता है, जो डीप सेक्स के कारण दर्द का कारण बन सकता है। ऐसा ही कुछ ग्रीवा (ष्द्गह्म्1द्ब3) का भी है। डीप और अधिक पेनीट्रेशन के कारण ग्रीवा की समस्या या दर्द हो सकता है।

वेजिनिस्मस

वेजिनिस्मस एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें योनि की मांसपेशियों में खिंचाव होता है। ऐसा होने के पीछे का मुख्य कारण चोट होता है। इससे जब सेक्स किया जाता है तो वेजिनिस्मस के कारण दर्द हो सकता है। अनेक तरह की थेरेपी ले कर इसे दूर किया जा सकता है।

एंडोमेट्रियोसिस

सेक्स के दौरान या बाद में खिंचाव होने के अनेक कारणों में से एक कारण एंडोमेट्रियोसिस भी है। वास्तव में यह वह स्थिति है, जब एंडोमेट्रियोसिस गर्भाशय के बाहर विकसित होता है। एंडोमेट्रियोसिस गर्भाशय का टिश्यू होता है। जिन महिलाओं को यह समस्या होती है, वे मासिक धर्म में भी इस समस्या का अनुभव करती हैं और सेक्स में भी।

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन 

सेक्सुअली ट्रांसमिशन इन्फेक्शन को संक्षेप में एसटीआई के रूप में जाना जाता है। इस इन्फेक्शन में गुप्तांगों में, मस्सा, दाद, चोट अथवा अन्य बीमारियां भी हो सकती हैं, जो बाद में दर्द की वजह बनती हैं।

पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज

Relationship Solutions
Pelvic Inflammatory Disease

इस समस्या में अंदर के टिश्यूज बहुत ही बुरी तरह फूल जाते हैं और सेक्स के दौरान दबाव के कारण बहुत तेज दर्द का अनुभव कराते हैं।

पार्टनर की सेक्सुअल समस्या

अगर पार्टनर को किसी तरह की सेक्सुअल समस्या होती है तो आपको सेक्स को ले कर चिंता हो सकती है। अगर पार्टनर इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की दवाएं ले रहा होता है तो उसे ऑर्गेज्म में देर लग सकती है। इससे सेक्स तकलीफ भरा हो सकता है। कभी पार्टनर के साथ कोई समस्या हो या तनाव हो तो सेक्स के दौरान या बाद में दर्द या खिंचाव हो सकता है।

दर्द या खिंचाव दूर करने के उपाय 

लुब्रिकंट्स का उपयोग: अगर सेक्स के दौरान वजाइना में जलन या दर्द हो रहा है तो पानी में घुल जाने वाले लुब्रिकंट्स का प्रयोग कर सकती हैं। सिलिकॉन वाला लुब्रिकंट्स भी एक अच्छा विकल्प है, परंतु कंडोम के साथ पेट्रोलियम जेली, बेबी ऑयल आदि का प्रयोग न करें।
सेक्स का उचित समय: सेक्स के दौरान और बाद में होने वाला दर्द या खिंचाव दूर करने के लिए सेक्स के लिए उचित समय तय करें। सेक्स के लिए ऐसा समय पसंद करें, जब आप और आपका पार्टनर थका और तनाव में न हो। इसी के साथ पार्टनर के साथ बातें करें कि आपको कहां खिंचाव और दर्द होता है। इसी के साथ आपको जो शारीरिक गतिविधियां आनंद देती हों, उसके बारे में बताएं।

अंडाशय की समस्या

Relationship Solutions
Ovarian problems

इस समस्या में ओवेरियन सिस्ट का समावेश होता है, जो सेक्स के दौरान अथवा बाद में दर्द और खिंचाव का कारण बनता है।

चिंता या तनाव

अगर आपके दिमाग में किसी तरह का डर, चिंता, शर्म-संकोच या अन्य कोई मुश्किल हो तो आपको सेक्स के दौरान या बाद में दर्द हो सकता है। जब आपका मन शांत न हो तो इसका परिणाम दर्द या खिंचाव हो सकता है। इसके साथ तनाव या थकान सेक्स की इच्छा पर अपना प्रभाव डाल सकता है।

डाक्टर की सलाह लें

Relationship Solutions
Such a problem can also occur in the event of stress, anxiety or depression

तनाव, चिंता या अवसाद की स्थिति में भी ऐसी समस्या हो सकती है। अगर आप किसी तरह की दवा ले रही हैं तो इस समस्या का शिकार बन सकती हैं। दवा तो अचानक बंद नहीं की जा सकती, इसलिए डाक्टर की सलाह अवश्य लें।

अन्य उपाय 

  • सेक्स के पहले कुछ बातों का अनुसरण करें, जैसे कि ब्लेडर को खाली करें, गुनगुने पानी से स्नान करें और सेक्स के पहले पेनकिलर दवा डाक्टर की सलाह के अनुसार ले सकती हैं।
  • सेक्स के दौरान या बाद में होने वाले दर्द या खिंचाव से छुटकारा पाने के लिए कपड़े में बर्फ अथवा फोजन जेल पैक ले कर उसे वजाइना पर रखें।
  • अगर सेक्स के दौरान या बाद में आपको किसी तरह की समस्या होती है और इस समस्या की वजह से आप सेक्स की अवहेलना कर रही हैं, सेक्स करने की इच्छा नहीं हो रही है तो डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। क्योंकि डॉक्टर आपकी शारीरिक जांच करके आपकी समस्या का सही इलाज करेगा। जिससे आप इस समस्या को दूर कर के सेक्स का भरपूर आनंद ले सकेंगी।

Leave a comment