googlenews
फिक्शन

एक बार मैं अपने मायके गई हुई थी, उसी समय मेरी दीदी और उनके दोनों बच्चे भी वहां आए हुए थे। घर पर जब सब इकट्ठे होते तो बहुत खाते-पीते और मस्ती करते। एक दिन गली में पापड़ वाला आवाज देते हुए निकला, हम सभी को पापड़ खाना बहुत पसंद था। जैसे ही हमने पापड़ वाले की आवाज सुनी तो बच्चे सहित बड़े भी पापड़ खाने के लिए मचलने लगे। मैंने पापड़ खरीदने के लिए दरवाजा खोल कर देखा तो पापड़ वाला बहुत दूर जा चुका था। मैं पैसे लेकर पापड़ खरीदने के लिए पापड़ वाले के पीछे भागी। आखिरकार पापड़ वाले के पास जा कर मैंने 5-6 पापड़ खरीदे और तेज-तेज भागते हुए घर वापस आने लगी। मुझे खुशी हो रही थी कि मैंने पापड़ खरीद लिए। मैंने खुशी-खुशी दरवाजा खुलवाया और हाथ ऊपर करके सभी को पापड़ दिखाने लगी। सभी घरवाले मुझे देखकर जोर-जोर से हंसने लगे और कहने लगे कि पापड़ कहां है? मैंने देखा कि पापड़ तो टूट कर रास्ते में ही गिर गए थे। मेरे हाथ में पापड़ के कुछ टुकड़े रह गए थे। यह देखकर मैं शर्म से लाल हो गई।

ये भी पढ़ें-

घूंघट में लड़का देखकर भागने लगे

मूंगफली खानी आती है क्या?

मुझे पता नहीं था कि तुम इसके हो

आप हमें फेसबुकट्विटरगूगल प्लस और यू ट्यूब चैनल पर भी फॉलो कर सकते हैं।