अर्थराइटिस में दौड़ने से हो सकती हैं कई समस्‍याएं, जानें क्‍या करें और क्‍या न करें: Running with Arthritis
Running with Arthritis Credit: Istock

Running with Arthritis: वजन कम करने और फिट रहने के लिए तेज चलना या दौड़ना एक बेहतरीन एक्‍सरसाइज होती है। ये एक कार्डियो एक्‍सरसाइज है जो आपकी ओवरऑल बॉडी पर काम करती है। लेकिन जरूरी नहीं कि ये एक्‍सरसाइज हर किसी पर समान रूप से काम करे। अर्थराइटिस और हड्डी से संबंधित समस्‍याओं में ये एक्‍सरसाइज हानिकारक हो सकती है। कई बार दौड़ने से मांसपेशियों में सूजन आ सकती है या क्रेक भी पड़ सकते हैं। हालांकि अर्थराइटिस में भी दौड़ा जा सकता है लेकिन कुछ सावधानियों को अपनाना आवश्‍यक है अन्‍यथा दर्द और सूजन में इजाफा हो सकता है। यदि आप भी अर्थराइटिस के साथ दौड़ना चाहते हैं तो इन चीजों का ध्‍यान रखना होगा।

अर्थराइटिस के दौरान क्‍या करें

Running with Arthritis
what to do during arthritis

अर्थराइटिस एक गंभीर समस्‍या है जिसमें मांसपेशियों में दर्द, सूजन और जलन का अनुभव होता है। अर्थराइटिस के कई प्रकार हैं जैसे गाउट, रुमेटीइड अर्थराइटिस, फाइब्रोमायल्गिया और ऑस्टियोअर्थराइटिस। अर्थराइटिस के दौरान पैरों को एक्टिव रखना उतना ही जरूरी है जितना की आराम देना। लेकिन जरूरत से ज्‍यादा आराम पैरों की मांसपेशियों को खराब और जकड़न पैदा कर सकता है। पैरों को एक्टिव रखने के लिए दौड़ना एक बेहतरीन विकल्‍प हो सकता है लेकिन कुछ बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है।

धीरे शुरुआत करें

अर्थराइटिस होने पर किसी भी एक्‍सरसाइज को करने की जल्‍दबाजी न करें। धीरे-धीरे दौड़ने की शुरुआत करें। शुरुआत में 5 मिनट के लिए दौड़े फिर धीरे-धीरे इस अवधि में इजाफा करें। इससे जोड़ों पर अधिक दबाव नहीं पड़ेगा।

एक्टिव वियर का चुनाव

अर्थराइटिस में हमेशा सॉफ्ट और गद्देदार जूतों का चुनाव करना चाहि‍ए। खासकर दौड़ने के लिए आरामदायक जूतों का चयन करना लाभदायक होता है। इसके अलावा आप नी कैप का इस्‍तेमाल करें ताकि दौड़ते समय घुटने पर अधिक तनाव या खिंचाव न पड़े।

यह भी देखे-इन फलों को खाने से कोसो दूर रहती है डाइबिटीज, डाइट में करें शामिल: Diabetes Control Fruits

दर्द को नजरअंदाज न करें

अर्थराइटिस में घुटनों या पैरों में दर्द होना सामान्‍य है लेकिन दौड़ते वक्‍त होने वाले दर्द को नजरअंदाज न करें। कई बार दौड़ने से पैरों की मांसपेशियों को नुकसान हो सकता है इसलिए दर्द होने पर तुरंत दौड़ना बंद कर दें।

पैरों को दें आराम

माना कि अर्थरा‍इटिस में पैरों को एक्टिव रखना जरूरी है लेकिन मांसपेशियों और हड्ड‍ियों को आराम देना भी उतना ही जरूरी है। अर्थराइटिस बढ़ने से पैरों में सूजन और दर्द की समस्‍या उत्‍पन्‍न हो जाती है, ऐसी स्थिति में मांसपेशियों को आराम देने से फायदा होता है।

अर्थराइटिस में क्‍या न करें

अर्थराइटिस में दौड़ने से समस्‍याएं
what not to do in arthritis

अर्थराइटिस में दौड़ने से कई लाभ होते हैं लेकिन इस दौरान कुछ चीजों से परहेज करना भी जरूरी है। अन्‍यथा पैरों को नुकसान पहुंच सकता है।

हार्ड सरफेस से बचें

दौड़ने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करना चाहिए जो आरामदायक हो। हार्ड सरफेस का चुनाव करने से बचें ताकि जोड़ों पर अधिक तनाव न पड़े। दौड़ने के लिए घास, ट्रैक और मडी एरिया का चुनाव करें।

अधिक तनाव से बचें

अर्थराइटिस में पैरों पर अधिक दबाव न डालें। ज्‍यादा मेहनत करने और दर्द में जोर लगाने से बचें। दर्द के दौरान एक्‍सरसाइज करने से मांसपेशियों में अधिक सूजन आ सकती है।

रिकवरी का मौका दें

दौड़ने के बाद मांसपेशियों को रिकवरी करने का मौका दें। दौड़ते वक्‍त भी कुछ देर के लिए बीच में रुकें फिर दौड़ें। लगातार दौड़ने से पैरों में दर्द और सूजन हो सकती है। दौड़ने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह जरूर ले लें।