पिछले कुछ दशकों में हमारी स्किन के लिए हानिकारक चीजों में हम केवल सूर्य की यूवी किरणों को ही मानते थे क्योंकि उससे हमें एजिंग साइंस के साथ साथ स्किन कैंसर का भी डर रहता था लेकिन आज के समय में केवल सूर्य की किरणे ही नहीं बल्कि ब्लू लाइट जो हमें डिजिटल यंत्रों द्वारा मिलती है, से भी खतरा है। यह हमारी स्किन की बहुत अधिक नुकसान पहुंचा सकती है और आपको इसके नुकसानों के बारे में जानना बहुत आवश्यक होता है क्योंकि आजकल हर कोई डिजिटल उपकरण जैसे फोन, टीवी और कंप्यूटर आदि का आदी हो गया है। तो आइए जानते हैं क्या होती है ब्लू लाइट?

ब्लू लाइट एक विजिबल लाइट स्प्रेक्ट्रम का भाग होती है जो सूर्य में तो होती ही है, साथ में आजकल के डिजिटल उपकरणों द्वारा भी निकलती है। इस पीढ़ी के लोग पिछली पीढ़ी से अधिक ब्लू लाइट के शिकार बन रहे हैं क्योंकि इलेक्ट्रॉनिक चीजों जैसे फोन और टीवी आदि का प्रयोग अब अधिक हो रहा है। लॉकडाउन के कारण इन चीजों के प्रयोग में और अधिक इजाफा हुआ है क्योंकि अब पढ़ाई, बिजनेस और हर काम ही ऑनलाइन हो गया है। इसलिए हर समय जूम मीटिंग व अन्य ऐप्स के प्रयोग के कारण हमारा अधिकतर दिन फोन या लैपटॉप के आगे ही बीतता है।

इलेक्ट्रॉनिक चीजों द्वारा मिलने वाली ब्लू लाइट सूर्य द्वारा मिलने वाली ब्लू लाइट का एक बहुत ही छोटा भाग होती है लेकिन समस्या यह है कि हम आजकल इन चीजों का प्रयोग बहुत अधिक कर रहे हैं और यह यंत्र हमारे चेहरे के भी काफी नजदीक होते हैं। इसलिए अगर आपका स्क्रीन टाइम बढ़ गया है तो आपको अपनी हैल्थ पर उसके पड़ने वाले प्रभावों के बारे में भी ध्यान रखना चाहिए।

ब्लू लाइट मानव की सेहत को किस प्रकार प्रभावित कर सकती है?

साइंटिस्ट के मुताबिक ब्लू लाइट, चाहे वह डिजिटल उपकरणों की हो या सूर्य की, आखों पर बहुत अधिक जोर डालती है। हाई एनर्जी ब्लू लाइट जिसकी वेव लेंथ 415 से 455 नैनो मीटर के बीच होती है, वह आंखों के कॉर्निया से होकर रेटीना तक जाती है और इस कारण कुछ बीमारियां जैसे आंखों का ड्राई हो जाना , मोतियाबिंद आदि होने के चांस बढ़ जाते हैं।

हम कैसे जान सकते है कि ब्लू लाइट ने हमारी स्किन हेल्थ को खराब किया है?

कुछ स्किन में आने वाले बदलाव जैसे पिगमेंटेशन, सूजन होना, जल्दी ही आंखों पर झुर्रियां आना, स्किन का लाल हो जाना यह सब ब्लू लाइट के कुछ लक्षण होते हैं। लेकिन इसके साथ ही कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है की ब्लू लाइट से स्किन को हानि पहुंचती है। केवल यह संदेह जताया जाता है कि ब्लू लाइट से आपको पिगमेंटेशन और ऊपर लिखित लक्षण देखने को मिल सकते हैं।

अपनी स्किन को ब्लू लाइट से होने वाले डैमेज से किस प्रकार बचाएं?

ब्लू लाइट से खुद को बचाने का सबसे बेस्ट तरीका होता है कि आपको अपना स्क्रीन टाइम कम कर देना चाहिए। या फिर आपको कुछ ऐसे यंत्रों में इन्वेस्ट करना चाहिए जिसमें स्क्रीन प्रोटेक्टर हो या जो ब्लू लाइट को डिम या बहुत कम कर सके। अपनी स्क्रीन की ब्राइटनेस को जितना हो सके उतना कम ही रखें। अगर आप किसी कॉल को सुन रहे हैं तो उस समय हेडफोन पहनें ताकि फोन आपके मुंह पर टच न हो सके। आपको अपने चेहरे पर कम से कम 30 एसपीएफ वाला सन स्क्रीन तो हमेशा ही लगा कर रखना चाहिए।

अगर आपका फोन पर होने वाला काम अधिक होता है तो कुछ बातों का ध्यान रखें जैसे अपनी स्क्रीन की ब्राइटनेस कम रखें, सन स्क्रीन का प्रयोग करें और ब्लू लाइट कम करने वाले यंत्रों का प्रयोग करें। इसके साथ ही अगर आपको कुछ ब्लू लाइट के लक्षण दिख रहे हैं तो उन्हें ठीक करने के लिए अपनी स्किन केयर में कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स को शामिल करें जिनमें विटामिन सी होता है जैसे सीरम। इससे आपकी स्किन काफी हद तक रिपेयर होगी और आपको अच्छा भी महसूस होगा। बीच बीच में ब्लू लाइट से ब्रेक लेते रहें।

यह भी पढ़ें-

त्वचा पर लाल चकत्ते होने के क्या हैं कारण, जानिए

ग्लोइंग स्किन के लिए फूड