googlenews
knitting
tips for knitting

Tips For Knitting:

किन सलाइयों का इस्तेमाल करें

बुनाई करते समय आधी बुनी सलाई कभी न छोड़े, यदि कभी जरूरी काम से उठना पड़े तो जब दुबारा बुनना शुरू करें पहले फं. खोल लें और नए सिरे से नई सलाई बुने अन्यथा आधी बुनी सलाई फिर बनने से छेद हो जाता है।
खाली सलाई को हमेशा उन के गोले में ही फसाएं बुने हुए स्वेटर में फंसाने से छेद हो जाते हैं।

बुनाई हमेशा सही रोशनी में ही करें। कम रोशनी में बुनाई करने से आंखों पर जोर पड़ता है। बुनते समय इस प्रकार बैठे कि प्रकाश पीछे से आएं।

बार्डर के फं. हमेशा कसे हुए ही डालने चाहिए, ताकि बार्डर ढीला न हो जाए। बार्डर के फं. हमेशा दोहरी उन से डालें क्योंकि नीचे का भाग ही सर्वाधिक खिंचाव वाला है और यही से स्वेटर के फं. सबसे पहले टूटते हैं।

बार्डर ने फं. हमेशा कसे कसे व एक ही हाथ द्वारा बुने जाएं। बार्डर जितना कसा हुआ होगा उतना ही स्वेटर में सफाई दिखा देगी।

डिजाइन हमेशा बार्डर से 1 या 2 नं. मोटी सलाई से ही डालें, इससे बुनाई में सुधार आएगा।

सलाइयों का प्रयोग

1. सलाइयां हमेशा अच्छी किस्म की खरीदें। सबसे अच्छी किस्म की पोनी की सलाइयां मिलती है।

2. हमेशा मुलायम नोक वाली उन खरीदें। छोटी सलाइयां स्वेटर और लंबी सलाइयां शाल या स्टाल के लिए प्रयोग करें।
3. गला बनाने के लिए दोनों तरफ से नोंक वाली सलाइयां ही खरीदें।
4. कंधे के फं. पीछे के फंदे उतारने के लिए पि. का प्रयोग खरीदें।
5. घटिया क्वालिटी की सलाइयों से स्वेटर बुनते समय उनका काला रंग स्वेटर पर लग जाता है जो जल्दी नहीं उतरता।
6. सलाई अच्छी कंपनी की लें। अच्छी सलाइयों से बुनाई साफ-सुथरी होती है और ऊन सलाई पर फंसती नहीं है क्योंकि यह चिकनी होती है।
7. सलाइयों की नोक पर 1-1 सें. मी. तक नेचुरल कलर की नेलपाॅलिश लगा लें, इनसे सलाई उंगलियों में नहीं चुभती।
8. गले का बार्डर 10 नं. की सलाई से बना कर 12 नं. की सलाई से बंद करें इससे गले में सफाई आएगी।