पूरा देश शोक की लहर उस वक्त दौड़ पड़ी जब खबर आई कि बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता और हमारे ट्रेजडी किंग अब हमारे बीच नहीं रहे। हिंदी सिनेमा के महानतम अभिनेता दिलीप कुमार का 98 साल की उम्र निधन हो गया है। इस बात का पता चलते है हर एक इंसान की आँख नम हो गई वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित राजनीति, सिनेमा जगत के दिग्‍गज उन्‍हें याद कर श्रद्धांजलि दी। उस दिन बॉलीवुड की दुनियां से चमकता तारा चला गया था। आपको बता दें कि दिलीप कुमार अपनी फ‍िल्‍मों के साथ हमेशा मशहूर अदाकारा मधुबाला के साथ रिलेशन को लेकर चर्चा में रहे है।

वहीं जब बॉलीवुड की प्रेम कहानियों की बात होती है तो सबसे पहले मधुबाला और दिलीप कुमार का नाम जरूर लिया जाता है। दोनों एक दूसरे से बेइंतहा प्यार करते थे लेकिन बावजूद इसके दोनों का प्यार मुकम्मल नहीं हो पाया। वहीं आज की इस पोस्ट के जरिए हम आपको मधुबाला और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी के बारे में बताएंगे। आज हम बात करेंगे की दोनों कैसे मिले थे और दोनों का प्यार क्यों एक अंजाम तक नहीं पहुंच पाया। बोलते है न “जो प्यार सच्चा होता है अक्सर वो पूरा नहीं होता” यह लाइन दिलीप और मधुबाला की लव स्टोरी को बयां करती है।

 

कुछ इस तरह हुई थी मुलाकात

अदाकारा मधुबाला और ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार पहली बार साल 1951 में ‘तराना’ की सेट पर मिले थे। आपने मधुबाला की खूबसूरती के किस्से तो सुने ही होंगे, मधुबाला बहुत खूबसूरत थीं। मधुबाला पर डायरेक्टर से लेकर एक्टर्स सभी अपना दिल हार चुके थे। लेकिन मधुबाला अपना दिल दिलीप कुमार को दे बैठी थी। बता दें कि, जब मधुबाला और दिलीप कुमार मिले तो दोनों के बीच एक रिश्‍ता बन गया और फिट यही से शुरू हुई दोनों की प्रेम कहानी। दोनों ने अपने बॉलीवुड के लम्बे सफर में कई सारी फिल्म्स एक साथ की है। दोनों की जोड़ी भी सभी को बहुत पसंद थी।

 

शादी का दिया प्रस्ताव

आपको बता दें कि, दिलीप-मधुबाला करीब 9 साल तक एक साथ थे दोनों ने एक दूसरे के साथ काफी लम्बा सफर तय किया था। वहीं साल 1956 में “ढाका की मलमल” फिल्म की शूटिंग के दौरान दिलीप कुमार ने मधुबाला के सामने शादी का प्रस्ताव रखा। दिलीप साहब ने उनसे कहा था कि, “चलो मेरे घर में आज ही शादी कर लेते हैं। घर में काजी इंतजार कर रहे हैं।” दिलीप कुमार की ये बात सुनकर मधुबाला रोने लगी। इसके बाद दिलीप कुमार ने कहा कि अगर तुमने मेरी बात नहीं मानी तो मैं कभी तुम्हारे पास लौटकर नहीं आऊंगा।

 

ऑटोबायोग्राफी का बड़ा खुलासा

गौरतलब है कि, दिलीप कुमार और मधुबाला दोनों एक दूसरे से बेइंतेहा प्यार करते थे और इस प्यार को मुकाम भी देना चाहते थे। वहीं दिलीप साहब शादी तो करना चाहते थे लेकिन उन्‍होंने मधुबाला के सामने एक शर्त रख दी। दरअसल दिलीप कुमार ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में खुलासा करते हुए बताया कि उनकी जब मधुबाला के पिता से बातचीत हुई थी तो उन्होंने कहा कि मैं अपनी तरीके से फिल्में चुनता हूं। ये बात मधुबाला के पिता को पसंद नहीं आई, उन्हें दिलीप कुमार जिद्दी और अड़ियल लगे थे। उन्होंने मधुबाला के आगे शर्त रखते हुए कहा कि मैं तुमसे अभी शादी कर सकता हूं लेकिन तुम कभी अपने पिता से नहीं मिलोगी। मधुबाला कुछ नहीं बोलीं और चुपचाप वहां खड़ी रहीं। कोई जवाब ना मिलने पर थोड़ी देर में दिलीप कुमार वहां से चले गए।

 

दोनों की आखिरी मुलाकात

दोनों की इस मुलाकात के बाद दिलीप कुमार ने अभिनेत्री सायरा बानो से शादी कर ली। वहीं दूसरी ओर मधुबाला ने किशोर कुमार से शादी कर ली। और यही से दोनों के रास्ते अलग-अलग हो गए। इसके बाद जब दिलीप कुमार ने बीमार मधुबाला को देखा तो वह काफी दुखी हुए थे। वहीं मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो  उस दिन मधुबाला के चेहरे पर एक फीकी सी मुस्कान थी। मधुबाला ने दिलीप की आंखों में देखते हुए कहा कि, ‘मैं बहुत खुश हूं कि हमारे शहजादे को उनकी शहजादी मिल गई।’ तो बस कुछ इस तरह अधूरी रह गई मधुबाला-दिलीप की कहानी। लेकिन आज भी दोनों का नाम बॉलीवुड के सबसे बेस्ट कपल के तौर पर लिया जाता है।

 

यह भी पढ़े। 
मिक्सर ग्राइंडर के साथ होती है ये 5 समस्याएं, जानिए क्या है समाधान
बॉलीवुड से जुड़े हमारे लेख आपको कैसे लगे? अगर आपको किसी सेलिब्रिटी के बारे में जानना हैं या हमारे कोई लेख आपको पसंद आया हो तो आप अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेेजें।  हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com