हर मौसम के अपने फायदे नुकसान होते हैं, जो हमारी त्वचा पर गहरे असर डालते हैं। इसलिए जरूरी हो जाता है कि मौसम के अनुसार हम अपनी त्वचा का ध्यान रखें। अब देखिए ना सर्दी की ठंडक पीक पर हैं इसलिए इस मौसम में त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है। इस मौसम में की गई जरा सी अनदेखी से आप अपनी सुंदर त्वचा को खो सकते हैं। क्योंकि सर्द हवाएं त्वचा को कई प्रकार से नुकसान पहुंचाती हैं। ब्यूटी व कॉस्मेटॉलोजिस्ट एक्पर्ट अवलीन खोखर बता रही हैं कुछ ऐसे टिप्स, जिसको आजमाकर आप सर्दी की सर्द हवाओं में भी पाएंगे दमकती त्वचा।

किसी विशेषज्ञ से सलाह लें 

अगर आप अपने घर के पास किसी दुकान से त्वचा के लिए कुछ खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको वहां कोई एक व्यक्ति नहीं मिलेगा, जो आपकी त्वचा के अनुसार सही सलाह दे सके। किसी ब्यूटीशियन या डर्मेटोलॉजिस्ट के पास जाकर सलाह लें। ऐसे विशेषज्ञ आपकी त्वचा को देखकर, आपके रोज के रेजिमेन में कमियां निकालकर आपको अच्छी और सही सलाह देंगे और आपको सही उत्पाद भी लिखकर देंगे। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आपको बहुत महंगे उत्पाद खरीदने पड़ेंगे। एक्सपर्ट कहते हैं कि ‘सस्ते उत्पाद भी महंगे उत्पादों जैसा असर करते हैं, जो अधिक पैसा आप महंगेे उत्पादों पर देते हैं वो अक्सर उनकी पैकिंग और मार्केटिंग के लिए होता है। सबसे जरूरी चीज ये होती है कि वही उत्पाद आपकी त्वचा पर असर करे।Ó 

त्वचा को अधिक नमी दें 

हो सकता है की आपको कोई ऐसा मॉइश्चराइजर मिला हो जो सर्दियों में आपकी त्वचा के लिए बहुत अच्छा हो, लेकिन जैसे-जैसे मौसम बदलता है आपको उसी प्रकार अपनी त्वचा का रेजिमेन भी बदलना चाहिये। कोई ऐसा मॉइश्चराइजर ढूंढे, जो तेल से बना हो ना की पानी से, तेल वाला मॉइश्चराइजर त्वचा पर एक सुरक्षा की परत चढ़ा देता है, जिससे त्वचा में नमी अधिक समय तक बंधी रहती है। अगर आप तेल चुन रहे हैं तो तेल को भी बहुत सावधानी से चुने क्योंकि हर तेल त्वचा के लिए उचित नहीं होता। आप नॉनक्लोग्गिंग तेल जैसे- एवोकैडो तेल, खनिज तेल, हल्के पीले रंग का तेल, या बादाम का तेल चुन सकते हैं। सीया या बटर ऑयल कभी ना चुने क्योंकि यह त्वचा में पोर्स को बन्द कर देता है। वेजिटेबल शॉर्टेनिंग का भी इस्तेमाल ना करें। यह त्वचा के ऊपर जमकर पोर्स को बन्द कर देता है। 

सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें 

सनस्क्रीन का इस्तेमाल आप केवल गर्मियों में ही नहीं बल्कि सर्दियों के मौसम में भी कर सकते हैं। सर्दियों की धूप और हवा में ठंडक त्वचा के लिए हानिकारक हो सकती है। घर से बाहर निकलने से 30 मिनट पहले अपने चेहरे और हाथों पर सनस्क्रीन लगाएं। अगर आपको लम्बे समय तक बाहर रहना है तो कुछ समय बाद दोबारा सनस्क्रीन लगाएं। 

अपने हाथों को नमी दें 

आपके शरीर में हाथों की त्वचा सबसे पतली होती है और इनमें सबसे कम ऑयल ग्लांड्स होते हैं। इसका मतलब यह है की अपने हाथों में नमी रखना सबसे मुश्किल होता है और खासकर सर्दियों के मौसम में। इससे आपकी त्वचा में खुजली होने लगती है और दरारें भी पड़ने लगती हैं। जब भी आप बाहर निकलें तो हाथों में दस्ताने पहने। अगर आप गर्म ऊन वाले दस्ताने पहनना चाहते हैं तो उनके नीचे रूई के पतले से दस्ताने पहन लें, इससे आपको ऊन से जलन महसूस नहीं होगी। 

गीले दस्ताने और जुराब ना पहनें 

भूलकर भी गीले दस्ताने और जुराब ना पहनें इससे त्वचा में जलन, खुजली पैदा हो जाती हैं, सिर्फ इतना ही नहीं त्वचा पर दरारें, घाव और एक्जिमा भी बढ़ जाता है। 

ह्यूमिडिफायर लगाएं

सेंट्रल हीटिंग सिस्टम से पूरा दिन आपके घर और ऑफिस में गर्म हवा वातावरण में रहती है, ह्यूमिडिफायर लगाने से हवा में नमी की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे त्वचा रूखी नहीं पड़ती। इसलिए घर में काफी सारे छोटे-छोटे हुमिफायर लगाएं, इससे हवा में नमी अच्छे से फैल जाएगी। 

त्वचा को हाइड्रेटेड रखें 

आपने यह बहुत बार सुना होगा की पानी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है। पानी त्वचा को लम्बे समय तक जवां रखता है। यह बात एकदम सच नहीं है। पानी आपके पूरे शरीर के लिए लाभदायक होता है। जिन लोगों की त्वचा एकदम डिहाइड्रेटेड होती है उन्हें फ्लूइड्स से फायदा मिलता है। पर जिन लोगों की त्वचा सामान्य होती है उनकी त्वचा पर कभी पानी का असर नहीं दिखेगा। 

अपने पैरों को ग्रीस्ड रखें 

गर्मियों के मौसम में हल्की क्रीमज व लोशन आपके पैरों को बहुत खूबसूरत बना देते हैं लेकिन सर्दियों के मौसम में आपको इससे अधिक स्ट्रांग उत्पाद का इस्तेमाल करना पड़ता है। ऐसे उत्पाद ढूंढे जिनमें पेट्रोलियम जेली या ग्लिसरीन हो। कुछ एक्सफोलिएंट्स का इस्तेमाल करें जिससे डेड सेल खत्म हो सके। इससे मॉइश्चराइजर का असर त्वचा में जल्दी और अंदर तक होगा। 

स्ट्रांग पील्स का इस्तेमाल ना करें 

अगर आपके चेहरे की त्वचा बहुत रूखी है तो उस पर बहुत अधिक स्ट्रांग पील्स, मास्क्स या अल्कोहल बेस्ड टोनर्स या एस्ट्रीजेंट्स का इस्तेमाल ना करें। इसकी जगह आप क्लींजिंग मिल्क या किसी माइल्ड से क्लीनर का इस्तेमाल कर सकते हैं जिनमें अल्कोहल ना हो या कोई ऐसा मास्क भी लगा सकते हैं, जिससे डीप हाइड्रेशन हो। किसी भी क्ले बेस्ड मास्क का इस्तेमाल ना करें, यह त्वचा में से मॉइश्चर को खींच लेती हैं। 

त्वचा के लिए घरेलू उपचार 

जैसे-जैसे सर्दियां नजदीक आ रही है वैसे-वैसे आपकी त्वचा को अधिक देखभाल की आवश्यकता है। इन सभी घरेलू नुस्खों से आप अपनी त्वचा को इस सर्दी के मौसम में चमकदार और सुंदर बना सकते हैं।

पपीते का फेस पैक 

एक कच्चा पपीता लें और उसे मैश किये केलों के साथ मिला लें। उसमें 2 बड़े चम्मच शहद के डालें और अच्छे से मिला लें। इस पेस्ट को अपने पूरे शरीर और चेहरे पर लगा लें। पपीते में बहुत से एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं और केले में विटामिन की मात्रा होती है जो एक एंटी एजिंग एजेंट की तरह काम करता है। शहद हमारी त्वचा के लिए प्राकृतिक मॉइश्चर होता है। यह पैक त्वचा को जीवित करता है और उसे पहले से फर्म भी करता है। 

दूध और बादाम का पैक 

1 बड़ा चमच बादाम के पाउडर को 2 बड़े चम्मच दूध में मिला लें। इसका पेस्ट बनाकर अपने चेहरे पर लगाकर 10 मिनट के लिए छोड़ दें। हल्के से मसाज करके इसे पानी से धो दें। बादाम में बहुत अधिक मात्रा में विटामिन ई होता है और दूध हमारी त्वचा के लिए प्राकृतिक मॉइश्चराइजर होता है। इस पैक से त्वचा में रूखापन कम होगा और आपको पहले से अधिक अपनी त्वचा कोमल महसूस होगी। 

दही और छाछ का पैक 

सामान्य मात्रा में दही और छाछ लें। अच्छे से मिलाकर इसे अपने शरीर पर लगाएं और 20 मिनट के लिए छोड़ दें और पानी से धो लें। दही में जिंक और अन्य जरूरी एन्जाइम्स होते हैं और छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जिसमें हल्की पीलिंग प्रॉपर्टी होती है। इन सभी तत्त्वों के कारण इस पैक से त्वचा चमकदार हो जाती है और रूखापन भी कम हो जाता है। 

ग्लिसरीन 

ग्लिसरीन बहुत आसानी से मिल जाता है और यह त्वचा में रूखेपन से बहुत आराम देता है। यह एक प्राकृतिक मॉइश्चराइजर होता है और उसे कोमल बनाता है। यह त्वचा की देखभाल का सबसे अच्छा घरेलू नुस्खा है। 

बहुत अधिक गर्म पानी से न नहाएं

सर्दियों के मौसम में गर्म पानी में नहाना बहुत अच्छा लगता है। पर इसी गर्म पानी का प्रभाव त्वचा में लिप्पीड बैरियर को तोड़ देता है और त्वचा में से नमी कम होने लगती है। आप हल्के गर्म पानी से कम से कम समय के लिए नहा सकते हैं। हल्के गर्म पानी में ओटमील और बेकिंग सोडा मिलाकर नहाने से त्वचा पर जलन कम हो जाती है। इसके अलावा आप समय-समय पर मॉइश्चराइजर भी लगा सकते हैं। अगर यह सब चीजे काम नहींकरती तो किसी डर्मेटोलॉजिस्ट से सलाह लें। हो सकता है आपको किसी दूसरे उत्पाद की आवश्यकता हो या आपकी त्वचा में कोई और समस्या हो। 

पेट्रोलियम जैली 

यह भी बहुत आसानी से मिल जाती और और बहुत सस्ती भी होती है। इसका इस्तेमाल आप सूखी त्वचा, फटे होठ और फटी एड़ियों पर कर सकते हैं। पेट्रोलियम में मॉइश्चराइजिंग तत्त्व होते हैं जिससे यह सभी समस्याएं ठीक हो सकती हैं। 

नारियल का तेल 

नारियल का तेल त्वचा को कोमल बनाता है और प्राकृतिक रूप से उसे मॉइश्चर भी देता है। इसमें बहुत अधिक मात्रा में फैटी एसिड्स होते हैं जिससे त्वचा में से मॉइश्चर नहीं उड़ता। सर्दियों में सोने से पहले नारियल का तेल लगाएं, यह त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है।

ऑलिव ऑयल और अंडे का पैक 

2 अंडों के पीले हिस्से में 2 बून्द के करीब ऑलिव ऑयल मिला लें। दोनों को मिलाकर एक मिश्रण बना लें और इसे अपने चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट तक चेहरे पर रखने के बाद पानी से इसे धो दें। ऑलिव ऑयल में प्राकृतिक एंटी ऑक्सीडेंट्स विटामिन ई और के होता है और अंडा त्वचा को अंदर से नरिश करता है। सर्दियों में इस पैक को हफ्ते में दो बार लगाने से आपको बहुत चमकदार त्वचा मिल पायेगी। 

एवोकैडो और शहद का मास्क 

आधे एवोकैडो को मैश करके उसमें 2 बड़े चम्मच शहद के मिलाएं। 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें और फिर पानी से धो दें। एवोकैडो और शहद दोनों ही ह्यूमेक्टेन्ट्स होते हैं जो सर्दियों में त्वचा के रूखेपन की समस्या को कम करता है। 

नींबू और शहद का मिश्रण 

2 बड़े चम्मच शहद में आधा नींबू का रस मिला लें। अच्छे से मिलाकर इसे अपने चेहरे पर रूई से लगाएं। नींबू में विटामिन सी होता और शहद में एंटी इंफ्लेमेटरी टीवी होते हैं  जो सर्दियों में त्वचा में जलन से आराम देती है। 

सूरजमुखी का तेल 

सूरजमुखी का तेल सर्दियों में त्वचा के लिए अच्छा होता है। इसके तेल में भी फैटी एसिड्स और विटामिन्स होते हैं। यह त्वचा को जवां और हाइड्रेटेड रखता है।

यह भी पढ़ें –मन और तन कीजिए स्वस्थ साउंड हीलिंग थेरेपी से