googlenews
कंडीशनर

 

बालों को सुखाने व स्टाइलिश लुक के लिए अधिकतर महिलाएं हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करती हैं। पर वह भूल जाती हैं कि हेयर ड्रायर  के इस्तेमाल से पहले उसकी सही जानकारी होना भी जरूरी है, नहीं तो बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। मेकअप एक्सपर्ट आशमीन मुंजाल कहती हैं। कि हेयर ड्रायर का इस्तेमाल जहां गीले बालों को सुखाने व सैटिंग के लिए किया जाता है, वहीं ऐसे में बालों के सही विकास के लिए हेयर स्पा, तेल और हीट प्रोटेक्शन सीरम का इस्तेमाल भी जरूरी हो जाता है।

क्या है हेयर ड्रायर

हेयर ड्रायर एक इलेक्ट्रानिक मशीन है, जिसके द्वारा गीले बालों को ठंडी और गर्म हवा से सुखाया जाता है। हेयर ड्रायर बालों के पानी को अवशोषित करके उसे सुखा देता है। इससे कम समय में आपको गीले बालों से राहत मिलती है। 

कंडीशनर
हेयर ड्रायर से पाएं खूबसूरत बाल 4

मेकअप एक्सपर्टका मानना है कि रूख, सूखे, दोमुंहे और बेजान बालों की समस्या को दूर करने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है।

हेयर ड्रायर का इस्तेमाल कैसे किया जाता है?

बालों को सीरम, कंडीशनर और माॅयश्चराइजर करने के बाद गर्म सीरम दिया जाना चाहिए या फिर बालों को गर्मटाॅवल से बांध देना चाहिए। शैंपू करने के तुरंत बाद बालों को हाॅट ड्रायर  नहीं करना चाहिए। पहले 5-7 मिनट तक ठंडे ड्रायर से बालों को सुखाया जाना चाहिए। उसके बाद रोलर से बालों के अलग-अलग सेक्शन बनाकर उन्हें गर्म ड्रायर से ड्राई किया जाना चाहिए।

कंडीशनर
हेयर ड्रायर से पाएं खूबसूरत बाल 5

 

बालों की बनावट के अनुरूप ड्रायर 
आमतौर पर बालों की लंबाई और उनकी प्रकृति को देखते हुए हेयर ड्रायर  का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे-

नार्मल बालः  अन्य बालों की अपेक्षा नार्मल बालों पर ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं होती। शैंपू और कंडीशनर किए बालों पर ड्रायर की शेप घुमावदार यानी ड्रायर  को अंदर की तरफ और बाहर की तरफ किया जाता है।

रूखे और बेजान बालः  ऐसे बाल जो बहुत ज्यादा रूखे और बेजान हैं उनके लिए ड्रायर के प्रयोग में बेहद सावधानी की जरूरत होती है। ड्रायर के गलत इस्तेमाल से बाल और ज्यादा रूखे हो सकते हैं। बालों को धोने के बाद हीट प्रोटेक्शन सीरम लगाना चाहिए। ड्रायर की शेप ऊपर से नीचे की तरफ होनी चाहिए।

सिल्की बालः सिल्की बालों पर ड्रायर का इस्तेमाल अपेक्षाकृत सुविधाजनक होता है। मोटे गोल ब्रश की सहायता से ड्रायर को नीचे से ऊपर की तरफ करना चाहिए, जिससे बालों में फुलावट आ जाए और वो घने दिखाई दें।

कर्ली बालः कर्ली बालों पर ड्रायर  का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। ड्रायर  को ऊपर से नीचे की ओर करना चाहिए, जिससे बालों के क्यूटिकल बंद हो जाएं और बालों में चमक आ जाए।

हेयर ड्रायर से लाभ
हेयर ड्रायर के सही इस्तेमाल से आपके बालों पर सकारात्मक असर दिखाई देता है। जैसे-

  • टूटे-फूटे, दोमुहें बालों से छुटकारा मिलता है।
  • बालों में सही रक्त संचार होता है।
  • बालों में चमक आती है।
  • बालों की आम समस्या डैंड्रफ से भी छुटकारा मिलता है।

सावधानियाॅं
हेयर ड्रायर के इस्तेमाल से पहले कुछ सावधानियां बरतनी जरूरी है, नहीं तो बाल अच्छे होने की अपेक्षा खराब हो सकते हैं। जैसे-

  • हेयर ड्रायर  किसी प्रशिक्षित व्यक्ति से करवाना चाहिए।
  • बाल साफ और कंडीशनर और माॅयश्चराइज किए हों।
  • किसी भी तरह की स्किन एलर्जी हो तो हेयर हो तो हेयर ड्रायर  करवाने से पहले एक्सपर्ट को अवश्य बताएं।
  • हेयर ड्रायर  को घर पर न करें। सही जानकारी के अभाव में बाल खराब भी हो सकते हैं।
  • हेयर ड्रायर  से पहले हेयर स्पा भी करें।
  • हमेशा साफ ब्रश इस्तेमाल करें।
  • ड्रायर  की सही सेटिंग लो, मीडियम और हाईपर फिक्स करके करें।

दुष्प्रभाव

  • हेयर ड्रायर के सही इस्तेमाल न करने से हल्के-फुल्के दुष्प्रभाव देखनेको मिलते हैं। बाल रूखे हो जातेहैं।
  • बालों की जड़े कमजोर हो जाती हैं वो टूटने लगते हैं।
  • ड्रायर  को सही दूरी पर रखकर नहीं करने से स्किन जल भी सकती है।
  • सिर की सही सफाई न होने से उस पर पपड़ी जम जाती है और फंगस की समस्या हो जाती है।
  • साफ कंघा न करने से रूसी की समस्या हो जाती है।

समय और लागत
बालों की लंबाई और प्रकृति को देखकर समय और पैसा लगता है। आमतौर पर हेयर ड्रायर में पंद्रह मिनट से लेकर 45 मिनट तक का समय लग जाता है। खर्च 200 से 500 रूपये के बीच में आता है।