शादी के बाद लम्बे समय तक सेक्स सम्बंध उबाऊ होने के बजाय बेहतर होने चाहिए,क्योंकि अब तक आप  अपने जीवन साथ की पसंद,नापसंद,आदतों और वरीयताओं को अच्छी तरह जानने लगते हैं,बशर्ते आप रोज़मर्रा के कारक जैसे काम,बच्चे,वित्त और अन्य मुद्दे सेक्स टु डू लिस्ट में न रखें. सैक्सुअली हेल्दी होना और हेलदी सेक्स लाइफ़ होना दोनों अलग अलग बातें हैं.प्रस्तुत हैं कुछ सुझाव-

१-सम्वादहीनता से बचें-संचार वैवाहिक रिश्ते में एक स्वस्थ और सक्रिय सेक्स जीवन की कुंजी है,इसलिए,अपने जीवन साथी के साथ,सतही तौर पर बातचीत के बजाय,अंतरंगता स्थापित करने के लिए गहराई में जाने की कोशिश करें.

२-इच्छाओं और अपेक्षाओं को साझा करें-अपने अंतरंग क्षणो को ,अपने साथी के प्रति आलोचनात्मक रवैया रखने के बजाय अपनी अपेक्षाओं और इच्छाओं को साझा करने में व्यतीत करें.ग़लत या अनमनी अपेक्षाएँ आपके वैवाहिक जीवन को नुक़सान पहुँचा सकती है.यदि आपकी अपेक्षाएँ आपके साथी से पूरी नहीं हो रहीं हैं,तो इस बात को चतुराई और सम्वेदनशीलता  से अपने जीवनसाथी के समक्ष प्रस्तुत करें.

३-शारिरिक आकर्षण बनाए रखें-विवाह नया हो या पुराना अपनी साजसज्जा और रख रखाव के प्रति सजग रहें.नियमित तौर पर फ़ेशीयल,डाई,पेडिक्युर,मैनिक्यूर करवाते रहें,इससे आप सुंदर तो दिखेंगी ही,आत्मविश्वास से भी भरपूर दिखाई देंगी.

४-मोटापा न बढ़ने दें-बहुत से लोगों की सेक्स लाइफ़ ४० की उम्र के बाद इसलिए ख़राब होनी शुरू हो जाती है क्योंकि उनका अपने वज़न पर नियंत्रण नहीं रहता,अच्छे ख़ानपान के साथ अपने वज़न पर भी ध्यान दें.

५-भावनात्मक जुड़ाव है ज़रूरी-जब आपमें भावनात्मक जुड़ाव होगा तभी आप एक दूसरे की सहूलियत का ध्यान रखेंगे.सेक्स के दौरान भी आपसी बातचीत इसमें अहम् रोल अदा करती है.

६-धूम्रपान को कहें न-तम्बाकू नसों को प्रभावित करता है और उत्तेजना में कमी ला सकता है.अच्छे यौन जीवन के लिए स्मोकिंग की आदत को विदा कहें.

७-अल्कोहल भी करता है प्रभावित-ये एक मिथ है कि नशा करने या शराब पीने के बाद यौन जीवन का आनंद लिया जा सकता है जबकि,अल्कोहल पीने से दिमाग़ पर आपका नियंत्रण कम हो जाता है,और सेक्स जीवन भरपूर नहीं जिया जा सकता,.

यह भी पढ़ें  

  1. अपने डेली वाॅक को कसरत या ध्यान में कैसे बदलें

  2. बाजुओं को मजबूत बनाने वाले योगासन

  3. सिंपल सा थैंक्यू, जो बच्चों को जरूर सिखाना चाहिए

  4. 7 बॉडी स्क्रब ट्यूटोरियल ,जो आपकी त्वचा को  बेबी सॉफ्ट  बना देंगे

  5. सही समय पर निदान के साथ ब्रेन ट्यूमर का सफल इलाज संभव